Top

तिरंगे का अपमान बर्दाश्त नहीं, महबूबा के बयान से आहत होकर 3 नेताओं ने छोड़ी PDP

बता दें कि बीते दिनों जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा था हम अनुच्छेद 370 वापस लेकर रहेंगे। जब तक ऐसा नहीं हो जाता, वो कोई भी चुनाव नहीं लड़ेंगी। महबूबा मुफ्ती ने यह भी कहा कि मैं जम्मू-कश्मीर के अलावा दूसरा कोई झंडा हाथ में नहीं लूंगी।

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 26 Oct 2020 12:37 PM GMT

तिरंगे का अपमान बर्दाश्त नहीं, महबूबा के बयान से आहत होकर 3 नेताओं ने छोड़ी PDP
X
दरअसल शुक्रवार को महबूबा जब अपने घर से कहीं जाने के लिए निकल रहीं थी तो उनकी सुरक्षा में तैनात जवानों ने उन्हें बाहर जाने की परमिशन नहीं दी।
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

जम्मू: आखिरकार जम्मू कश्मीर की पूर्व सीएम और पीडीपी की प्रमुख महबूबा मुफ़्ती को तिरंगे का अपमान करना भारी पड़ गया। महबूबा के बयान से खफा जम्मू क्षेत्र के तीन नेताओं ने पीडीपी से इस्तीफा दे दिया।

पार्टी छोड़ने से पहले उन्होंने महबूबा के बयान पर अपनी नाराजगी प्रकट की। पीडीपी छोड़ने वाले नेताओं में जम्मू क्षेत्र के नेता वेद महाजन, टीएस बाजवा और हुसैन अली वफा शामिल हैं।

उधर मामला गरमाता देख अब नेशनल कॉन्फ्रेंस ने भी महबूबा मुफ्ती के बयान से किनारा कर लिया है। ऐसा लग रहा है जैसे उन्हें भी इस बात का डर सता रहा है कि कही ऐसा न हो कि महबूबा मुफ़्ती के बयानों का समर्थन करने पर उनकी पार्टी में भी फूट पड़ जाये। इससे खफा होकर उनके पार्टी के कुछ नेता भी उनका साथ छोड़ दें।

Jammu kashmir gupkar declaration meeting farooq-abdullah mehbooba mufti join जम्मू कश्मीर के पूर्व सीएम फारूक अब्दुल्ला, उमर अब्दुल्ला और महबूबा मुफ़्ती की फोटो(सोशल मीडिया)

ये भी देखें: नेहा कक्कड़ के बाद अब आदित्य की शादी, डेट हुई फिक्स, यहां लेंगे 7 फेरे…

नेशनल कॉन्फ्रेंस ने विवाद से बनाई दूरी

विवाद को बढ़ता देख अब नेशनल कॉन्फ्रेंस ने महबूबा के बयान की निंदा करते हुए किनारा कर लिया है। पार्टी की तरफ से सीनियर नेता देवेंद्र सिंह राणा का कहना है कि पार्टी नेताओं के लिए राष्ट्र की एकता और संप्रभुता सर्वोपरि है। हम राष्ट्र की संप्रभुता और एकता से समझौता नहीं करेंगे।

जम्मू क्षेत्र के नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता देवेंद्र राणा ने फारूक अब्दुल्ला और उमर अब्दुल्ला के साथ बैठक में महबूबा मुफ्ती के बयान पर चिंता व्यक्त की। उन्होंने कहा कि फारूक अब्दुल्ला और उमर अब्दुल्ला ने उन्हें भरोसा दिलाया है की गुपकार का कोई नेता ऐसा कोई बयान नहीं देगा जिससे राष्ट्र के हित को नुक्सान पहुंचे।

ये भी देखें: इलाज का नया तरीका: अब कोरोना का ऐसे होगा ट्रीटमेंट, लिया गया बड़ा फैसला

Mehbooba Mufti जम्मू कश्मीर की पूर्व सीएम महबूबा मुफ़्ती की फोटो(सोशल मीडिया)

महबूबा मुफ्ती ने क्या कहा था ?

बता दें कि बीते दिनों जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा था हम अनुच्छेद 370 वापस लेकर रहेंगे। जब तक ऐसा नहीं हो जाता, वो कोई भी चुनाव नहीं लड़ेंगी। महबूबा मुफ्ती ने यह भी कहा कि मैं जम्मू-कश्मीर के अलावा दूसरा कोई झंडा हाथ में नहीं लूंगी।

ये भी देखें: मिथुन के बेटे पर FIR: पहले किया रेप, फिर कराया अबॉर्शन…

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें – Newstrack App

Newstrack

Newstrack

Next Story