Top

यूपी उपचुनाव: सक्रिय हुई कांग्रेस में गुटबाजी, ब्राह्मण और क्षत्रीय चेहरों पर बहस शुरू

उपचुनाव आते ही कांग्रेस पार्टी की गुटबाजी एक बार फिर से सामने आ गई है। इस गुटबाजी का फायदा उठाने में बीजेपी नहीं चूकती है। ये भी अटकले लगाई जा रही है कि बीजेपी गोविंद नगर विधानसभा सीट से क्षत्रीय कैंडिडेट को मैदान में उतारेगी।

Manali Rastogi

Manali RastogiBy Manali Rastogi

Published on 30 Aug 2019 6:26 AM GMT

यूपी उपचुनाव: सक्रिय हुई कांग्रेस में गुटबाजी, ब्राह्मण और क्षत्रीय चेहरों पर बहस शुरू
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

कानपुर: गोविंद नगर विधानसभा उपचुनाव की हलचल तेज हो गई हैं। पिछले चुनावों की तरह इस चुनाव में भी कांग्रेस पार्टी की गुटबाजी उभर कर सामने आई है। गुटबाजी का आलम ये है कि पार्टी दो हिस्सों में बट गई है। दरअसल, पार्टी का एक बड़ा हिस्सा चाहता है कि गोविंद नगर विधानसभा से ब्राह्मण चहरे को उतारा जाए। वहीं, पार्टी का दूसरा गुट क्षत्रीय कैंडिडेट को उतारने पर अड़ा हुआ है।

यह भी पढ़ें: केले की बिक्री पर लखनऊ स्टेशन पर इसलिए लगा था बैन, विरोध के बाद हटाया प्रतिबंध

गोविंद नगर विधानसभा सीट ब्राह्मण बाहुल क्षेत्र है और इस पर उपचुनाव होना है। गोविंद नगर विधानसभा सीट से छात्र नेता विकास अवस्थी टिकट के लिए दावेदारी कर रहे। इस युवा नेता के साथ कानपुर का पूरा छात्रसंघ एक जुट हो गया है।

दो हिस्सों में हो गई कांग्रेस

इसके साथ ही दो हिस्सों में बंटी कांग्रेस पार्टी का एक बड़ा हिस्सा विकास अवस्थी के समर्थन में खड़ा है। पार्टी के बड़े नेता कांग्रेस हाईकमान से विकास अवस्थी को प्रत्याशी बनाए जाने की मांग कर रहे है। प्रभावशाली चेहरा होने के साथ ही उनके साथ बहुत बड़ी युवाओं की टीम है।

यह भी पढ़ें: केले की बिक्री पर लखनऊ स्टेशन पर इसलिए लगा था बैन, विरोध के बाद हटाया प्रतिबंध

दूसरी तरफ गोविंद नगर सीट से एनएसयूआई की राष्ट्रीय महासचिव करिश्मा ठाकुर टिकट की मांग कर रही है। छात्रसंघ की राजनीति करने वाली करिश्मा ठाकुर को पार्टी के वरिष्ठ और युवा नेता चुनाव लड़ाना चाहते है। कांग्रेस के अंदर इन दिनो ब्राह्मण बनाम क्षत्रीय की पॉलिटिक्स चल रही है।

करिश्मा का कानपुर में प्रभाव नहीं

काग्रेंस के बड़े नेताओ का कहना है कि करिश्मा ठाकुर ने दिल्ली में छात्र राजनीति की है। उनका कानपुर में इतना प्रभाव नहीं है। अगर हमें गोविंद नगर विधानसभा सीट जीतनी है तों लोकल का प्रभावशाली प्रत्याशी उतारना पड़ेगा। गोविंद नगर विधानसभा सीट से पूर्व विधायक अजय कपूर ने चुनाव लड़ने का मन नहीं बना रहे है।

यह भी पढ़ें: चिदंबरम पर खुलासा! खतरनाक जेल से बचने के मांगी CBI रिमांड

कानपुर की कांग्रेस कमेटी पूर्व केंद्रीय कोयलामंत्री और पूर्व विधायक अजय कपूर के बीच बंटी है। कांग्रेस पार्टी को आपसी फूट की वजह से 2012 के विधानसभा चुनाव , 2014 के लोकसभा चुनाव, 2017 के विधानसभा चुनाव, निकाय चुनाव और 2019 के लोकसभा चुनाव में बड़ा नुकसान उठाना पड़ा है।

यह भी पढ़ें: हार्दिक पंड्या की दुल्हनियां बनेंगी ये मोहतरमा, इनसे हुआ था ब्रेकप

उपचुनाव आते ही कांग्रेस पार्टी की गुटबाजी एक बार फिर से सामने आ गई है। इस गुटबाजी का फायदा उठाने में बीजेपी नहीं चूकती है। ये भी अटकले लगाई जा रही है कि बीजेपी गोविंद नगर विधानसभा सीट से क्षत्रीय कैंडिडेट को मैदान में उतारेगी।

Manali Rastogi

Manali Rastogi

Next Story