इन चीजों की वजह से नहीं बनता आपका मूड, कही आप भी तो नहीं करते यूज

अपनी पर्सनल स्पेस व पर्सनल मूवमेंट को भूलते जा रहे है। उन पलों में लोगों को आनंद का अनुभव अब कम होने लगा है। खासकर पुरूषों पर बढ़ते काम के दबाव जिम्मेदारियों ने सेक्स लाइफ को बर्बाद कर दिया और इसमें बहुत हद तक आपके लाइफस्टाइल ने भी असर डाला है।

जयपुर:आजकल की बिजी लाइफ की वजह से ज्यादातर लोग अपनी पर्सनल स्पेस व पर्सनल मूवमेंट को भूलते जा रहे है। उन पलों में लोगों को आनंद का अनुभव अब कम होने लगा है। खासकर पुरूषों पर बढ़ते काम के दबाव जिम्मेदारियों ने सेक्स लाइफ को बर्बाद कर दिया और इसमें बहुत हद तक आपके लाइफस्टाइल ने भी असर डाला है।

*जीवन में अधिक पैसा व कामयाबी पाने की चाहत में पुरुष तनाव, थकान और नींद की कमी सेक्स से समझौता कर लेते है। रोमांटिक पलों का आनंद लेने की वजह भी समयाभाव और नींद की कमी को मानने लगते हैं। लेकिन किसी भी तरह की लाइफ में सेक्स के लिए मूड न होने की वजह  उपरोक्त कारण नहीं है। हार्मोन टेस्टोस्टेरोन और एस्ट्रोजन पुरुषों और महिलाओं के शरीर में भूमिका निभाते हैं। इन हार्मोन का असंतुलन सेक्स लाइफ को कम करता है। लेकिन डेली की लाइफ में कुछ चीजें है जिनका इस्तेमाल रोमांटिक पलों के आनंद को कम करता है। जैसें…..

यह पढ़ें….खुलेआम संबंध पर खुलासा! डरने के बावजूद ज़्यादातर महिला-पुरुष करते हैं ऐसा

*आज कल चाहे घर में खाना हो या बाहर कोल्ड ड्रिंक के बगैर पूरा नहीं होता है । अगर आपके साथ भी कुछ ऐसा है तो आज से कोल्ड ड्रिंक पीना बंद कर दें। ये सेरोटोनिन स्वास्थ्य और मूड दोनों को अच्छा रखता है। कोल्ड ड्रिंक से सेरोटोनिन कम होता है।  बॉडी में सेरोटोनिन कम होने से सेक्स की इच्छा नहीं रहती है।

*आजकल के लाइफस्टाइल में अल्कोहल हर पार्टी की जान बन गया है।लेकिन इससे लिवर खराब होता है। लिवर से मेटाबॉलिज्म हॉर्मोन निकलता है। लिवर खराब होने से एंड्रोजन हार्मोन एस्ट्रोजोन में बदल जाता है जिसके चलते सेक्स लाइफ खराब होती है।

*कुकीज या बिस्किट या कोई भी प्रोसेस्ड फूड  शरीर पर बुरा प्रभाव डालते हैं। प्रोसेस्ड फूड बनाने की जो प्रक्रिया होती है उसमें सारे जरूरी पोषक तत्व खत्म हो जाते हैं। अत: रोमांटिक लाइफ के लिए प्रोसेस्ड फूड बचना होगा।
क्योंकि विशेषज्ञों के मुताबिक इसका असर ऑर्गेज्म पर भी पड़ता है।

यह पढ़ें..चाणक्य नीति: जिन पुरुषों में होती है ऐसी बात, वो प्रेम में नहीं होते असफल

*शुगर केवल चाय में कम करने से कोई फायदा नहीं है। चीनी तो लगभग खाने की हर चीज में शामिल होती है।  बढ़ा हुआ ब्लड शुगर उस जीन को बुरी तरह प्रभावित कर सकती है जो सेक्स हार्मोन को कंट्रोल करती है।

* प्लास्टिक हमारे सेहत  के लिए नुकसान पहुंचाती है। ज्यादातर प्लास्टिक के फूड कंटेनर और बॉटल्स में बिस्फेनॉल ए पाया जाता है। ये ऐसा केमिकल है जो पुरुषों और महिलाओं दोनों की फर्टिलिटी पर नेगेटिव प्रभाव डालता है.

*चुकंदर खाने में स्वादिष्ट और पौष्टिक होता है। ये शरीर में स्वस्थ एस्ट्रोजन के स्तर को बढ़ाता है। शरीर में टेस्टोस्टेरोन का स्तर कम नहीं है तो इसे खाना सही है लेकिन अगर हार्मोनल असंतुलन है, तो इसे बहुत अधिक खाने से बचें।

*कैन फूड में सोडियम की मात्रा अधिक होती है। ये ब्लडप्रेशर बढ़ाता है और जननांगों सहित शरीर के कुछ हिस्सों में ब्लड सर्कुलेशन को कम करता है।

*बहुत से लोगों के दिन की शुरुआत कॉफी से होती हैं। बिना कॉफी पिए वो खुद को एक्टिव नहीं पाते है। लेकिन अगर कॉफी पीने के बाद चिड़चिड़े या तनावग्रस्त हो जाते हैं तो कैफीन का गलत प्रभाव हो रहा है जिसका असर पर्सनल लाइफ पर पड़ता हैं।

 

यह पढ़ें..OMG: इस वजह से शादी छोड़कर ऐसे रहना पसंद करती है लड़कियां

*डिप्रेशन या हार्मोनल असंतुलन की कोई दवा लेते हैं तो इसका असर भी सेक्स लाइफ पर पड़ता है। ये शरीर में सेरोटोनिन और डोपामाइन हार्मोन बनने से रोकते हैं।  इस तरह इन चीजों के इस्तेमाल पर रोक लगा लें। फिर देखें कैसे जीवन खुशनुमा और रोमांटिक होता है। अगर इसके बाद भी भी परेशानी हो तो डॉक्टर के पास जाएं।