Top

चाइनीज लड़कियों के दीवाने भारतीय, कर रहे शादियां, जानें आती हैं क्या समस्याएं

भारतीय युवकों से चाइनीज लड़कियों का शादी करना पिछले कुछ सालों में बढ़ा है। शुरू में चाइना द्वारा इन शादियों का विरोध किया जाता था।

Aradhya Tripathi

Aradhya TripathiBy Aradhya Tripathi

Published on 15 May 2020 7:57 AM GMT

चाइनीज लड़कियों के दीवाने भारतीय, कर रहे शादियां, जानें आती हैं क्या समस्याएं
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

शादी एक पवित्र बंधन हैं। शादी को सात जन्मों का बंधन माना जाता है। आमतौर पर लोगों को मानना होता है कि उनके बेटे या बेटी शादी उनके आस-पास के ही क्षेत्र में ही हो। अब भारतीय युवक विदेश में भी शादियां कर रहे हैं। लेकिन पिछले कुछ सालों में तो अब भारतीय युवक उस चाइना की लड़कियों से भी शादी कर रहे हैं जिसकी वस्तुओं के इस्तेमाल तक को भारत में उपयोग करने को मन किया जाता है। लेकिन अब ये शादियां बढ़ रहीं हैं। ऐसा इस लिए हुआ कि पिछले कुछ सालों में चीन में पढ़ाई या नौकरी करने गए भारतीय युवकों ने चाइनीज लड़कियों से शादी की।

शादी के बाद भी चाइनीज लडकियां नहीं छोड़तीं अपना देश

भारतीय युवकों से चाइनीज लड़कियों का शादी करना पिछले कुछ सालों में बढ़ा है। शुरू में चाइना द्वारा इन शादियों का विरोध किया जाता था। लेकिन अब चाइना भी ऐसी शादियों के लिए रजा मंद है। हालांकि इन शादियों में कुछ ऐसी शर्तें होती हैं जिनका पालन करना भारतीय लड़कों के लिए मुश्किल होता है। जैसे कि चीनी लड़कियां शादी बाद भारत नहीं आना चाहती हैं। यानी कि शादी के बाद भारतीय लड़कों को चीन में ही रुकना पड़ता है। ऐसी ही कई शादियाँ हैं जो इन शर्तों पर हुई हैं। ऐसी ही एक शादी है जिसको अब 10 साल हो चुके हैं। और सफल है। ये शादी है चीनी लड़की झेंग मोमो और भारतीय युवक राजशेखर सिंह की। इन दोनों के बीच प्यार की शुरुआत तब हुई जब राज शेखर पढाई के लिए चाइना गए। पढ़ाई के दौरान राजशेखर और मोमो के एक-दूसरे से प्यार हो गया।

ये भी पढ़ें- साइकिल बनी भगवान: दुख और आँखों में आँसू, चल पड़े सफर पर

जिसके बाद दोनों ने संयुक्त रूप से विवाह का फैसला लिया। अब इन दोनों की शादी को 10 साल बीत चुके हैं। अधिकतर चीनी लड़कियों की तरह मोमो की भी येही शर्त थी कि वो शादी के बाद चीन में ही रहेंगी। अक्सर चीनी लड़कियों से शादी के बाद यही समस्या आती है। ऐसे में लड़कों को चाइना में भी रुकना पड़ता है। जबकि शादी के बाद भी भारतीय लड़कों को चीन की नागरिकता नहीं मिलती। उन्हें सिर्फ एक परमिट मिलता है। इस परमिट को हर साल रिन्यू लाराना होता है। ऐसा ही कुछ हुआ मोमो और राजशेखर की शादी में। दोनों ने शादी के कुछ साल तो चीन में काटे लेकिन उसके बाद ये दोनों चीन को छोड़ कर अमेरिका चले गए।

शादियाँ बढ़ने के पीछे ये है वजह

ये भी पढ़ें- US के लैब में चीन के 40 चोर! चुराने में लगे कोरोना वैक्सीन से जुड़ी ये चीजें, हाई अलर्ट

भारतीय लड़कों को चीनी लडकियां क्यों पसंद आती हैं। इसके पीछे एक ख़ास वजह ये है कि चीनी लडकियां काफी पढ़ी लिखी होती हैं। और विचारों में काफी हद तक ओपन होती हैं। और चीनी लड़कियों से शादी करने पर भारतीय लड़कों को चीन जैसे शहर में एक आरामदायक जिंदगी जीने का अवसर मिल जाता है। पिछले उछ सालों में ये इजाफा इस लिए भी हुआ है क्योंकि चीन के मेडिकल और इंजीनिरिंग कॉलेजों में भारतीय छात्र ज्यादा जाना पसंद करते हैं। और चीन में भारतीय छात्रों की बढ़ने इ वजह और देशों के मुकाबले में चीन में हाई एजुकेशन कम खर्चे पर प्राप्त होती है। और पढ़ते पढ़ते ही चीनी लड़कियों को भारतीय लड़के अपना दिल दे बैठते हैं। अब चूँकि चीन और भारत की संस्कृति में काफी अंतर है।

ये भी पढ़ें- कोरोना से जंग में भारत की मदद को आगे आया World Bank, दिए इतने बिलियन डाॅलर

ऐसे में चीन में भारतीय संस्कृति और परंपरा की शादी व्याह में काफी दिक्कतें आती हैं। ऐसे में भारतीय लड़के अपने परिवार और रिश्तेदारों के सहित पंडित विवाह कराने के लिए पंडित जी को भी भारत से बुला लेते हैं। फ़िलहाल कुछ सालों में ऐसी शादियों की संख्या बढ़ी है। ऐसे में दिक्कतें तब आती हैं जब युवक अपने स्वदेश लौटना चाहता है। ऐसे में कई बार देखा गया है कि लोग अमेरिका और यूरोप जैसी कंट्रीज में चले जाते हैं। फिलहाल शादी की संख्या में बढ़ोत्तरी के साथ पिछले कुछ सालों में चीनी दम्पतियों में तलाक के मामले भी बढ़े हैं। ऐसे में एक अनुमान है कि चाइना में भार के लगभग 48 हजार लोग रहते हैं।

Aradhya Tripathi

Aradhya Tripathi

Next Story