Top

विकास दुबे की फिल्मी कहानी, हिला देंगे फरीदाबाद-उज्जैन सफर के अनसुलझे राज

लेकिन सवाल ये है कि फरीदाबाद में एक दुकान से जो सीसीटीवी फुटेज सामने आई थी। जिसमें विकास दुबे की तरह दिख रहा शख्स ऑटो पकड़ता दिख रहा था। क्या वह विकास दुबे था। अगर वह विकास दुबे था तो इतनी जल्दी उज्जैन कैसे पहुंच गया।

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 9 July 2020 8:27 AM GMT

विकास दुबे की फिल्मी कहानी, हिला देंगे फरीदाबाद-उज्जैन सफर के अनसुलझे राज
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊः विकास दुबे की उज्जैन में गिरफ्तारी के बाद उसे लाने के लिए यूपी की पुलिस टीम उज्जैन के लिए विशेष विमान से रवाना हो गई है। अभी तक यह साफ नहीं हो पाया है कि विकास दुबे को ट्रांजिट रिमांड पर प्लेन से वापस लाया जाएगा या सड़क मार्ग से। लेकिन लाख टके का सवाल अभी बाकी है कि जो विकास दुबे बुधवार को फरीदाबाद में था वह 14 घंटे में उज्जैन से कैसे पहुंच गया। क्या विकास दुबे की फरीदाबाद और एनसीआर में देखे जाने की बात योजनाबद्ध तरीके से फैलाई गई थी। कहा तो यह भी जा रहा है कि विकास दुबे दो दिन से उज्जैन में था।

फिलहाल इस सवाल का जवाब किसी के पास नहीं है। फरीदाबाद और उज्जैन के बीच की दूरी करीब 773 किलोमीटर है। इस बीच उत्तर प्रदेश के अपर मुख्य सचिव अवनीश अवस्थी ने इस बात की पुष्टि की है कि चौबेपुर के विकरू गांव में आठ पुलिसकर्मियों को मौत के घाट उतारने वाला मास्टरमाइंड विकास दुबे मध्यप्रदेश के उज्जैन में महाकाल मंदिर से गिरफ्तार किया गया है।

इसे भी पढ़ें आठ पुलिस वालों की हत्या से लेकर विकास दुबे की गिरफ्तारी तक, जानें पूरा घटनाक्रम

सवाल ये भी है कि मंदिर में खुद अपनी पहचान बताकर पुलिस के आने का आराम से इंतजार करने वाले विकास दुबे का ये सरेंडर था या पुलिस की बहादुरी। जबकि इस दौरान एक भी गोली नहीं चली। जबकि वह खुद ही मै विकास दुबे हूं कानपुर वाला कहकर चिल्ला रहा था और साथ ही यह भी कहता जा रहा था कि पुलिस ने हमें गिरफ्तार किया है।

नरोत्तम मिश्र का रोल?

सवाल ये भी है कि मध्य प्रदेश के मंत्री नरोत्तम मिश्र का विकास दुबे से क्या कोई कनेक्शन था। क्योंकि यूपी के चुनाव के दौरान नरोत्तम मिश्र कांग्रेस के कानपुर प्रभारी थे। फिलहाल सारे सवालों के जवाब अनुत्तरित हैं। जबकि कहा ये जा रहा है कि विकास दुबे को गुप्त स्थान पर ले जाकर पूछताछ की जा रही है। शाम चार बजे उसे कोर्ट में पेश किया जाएगा।

गौरतलब है कि मीडिया ने जब नरोत्तम मिश्र से सवाल किये तो उनका छूटते ही कहना था कि मंदिर को बीच में मत लाएं। उज्जैन से गिरफ्तार हुआ है विकास दुबे। अब इंटेलीजेंस रिपोर्ट की बात बाद में।

इसे भी पढ़ें मौते से बचने के लिए महाकाल की शरण में पहुंचा था विकास दुबे, जानें मंदिर का इतिहास

लेकिन सवाल ये है कि फरीदाबाद में एक दुकान से जो सीसीटीवी फुटेज सामने आई थी। जिसमें विकास दुबे की तरह दिख रहा शख्स ऑटो पकड़ता दिख रहा था। क्या वह विकास दुबे था। अगर वह विकास दुबे था तो इतनी जल्दी उज्जैन कैसे पहुंच गया।

Newstrack

Newstrack

Next Story