Top

PM मोदी बने योद्धा: कोरोना को हराने के लिए ऐसे कर रहें काम

इस वक्त पूरा देश कोरोना वायरस की चपेट में है। वहीं इस कोरोना से लड़ने के लिए और इसे फैलने से रोकने के लिए देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनकी एक्सपर्ट्स की एक बड़ी टीम लगातार काम कर रही है।

Shreya

ShreyaBy Shreya

Published on 3 April 2020 7:21 AM GMT

PM मोदी बने योद्धा: कोरोना को हराने के लिए ऐसे कर रहें काम
X
PM मोदी बने योद्धा: कोरोना को हराने के लिए ऐसे कर रहें काम
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ: इस वक्त पूरा देश कोरोना वायरस की चपेट में है। वहीं इस कोरोना से लड़ने के लिए और इसे फैलने से रोकने के लिए देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनकी एक्सपर्ट्स की एक बड़ी टीम लगातार काम कर रही है। ये टीम कोरोना के खिलाफ चल रही हर गतिविधियों पर अपनी नजर बनाए हुए है। PM मोदी ने कोरोना को फैलने से रोकने के लिए देश को 21 दिनों तक लॉकडाउन रखा है। पीएम मोदी ने ये फैसला अपनी टीम में शामिल विशेषज्ञों की राय पर ही लिया था। बता दें कि पीएम मोदी कोरोना से देश को जीताने के लिए रोजाना 17 से 18 घंटे काम कर रहे हैं।

सुबह 3 बजे जागकर कर रहे मॉनिटरिंग

PMO से जुड़े सूत्रों का कहना है कि PM मोदी रोज सुबह 3 बजे तक जागकर सभी चीजों की मॉनिटरिंग कर रहे हैं। उनकी बैठकें देर रात तक चलती रहती हैं। इन बैठकों में प्रधानमंत्री मोदी उच्चस्तरीय समूहों की ओर से कोरोना को फैलने से रोकने के लिए उठाए जाने वाले कदमों की समीक्षा करते हैं। इसके अलावा PM मोदी सात लोक कल्याण मार्ग स्थित अपने कैंप कार्यालय से लगातार वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग, प्रमुख कैबिनेट मंत्रियों से परामर्श करने के साथ-साथ एक्सपर्ट्स की 11 कोर टीमों के साथ काम कर रहे हैं। ये सभी टीमें लगातार 24 घंटे मिशन मोड पर अपना-अपना काम कर रही हैं।

यह भी पढ़ें: लोगों पर थूक रहा था कोरोना संक्रमित, अब पाया गया मृत

विशेषज्ञों से लगातार संपर्क

इसके अलावा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी विशेषज्ञों की टीम के साथ लगातार संपर्क में बने रहते हैं। इनमें डॉक्टर, जैव वैज्ञानिक, महामारी विशेषज्ञ और अर्थशास्त्री शामिल हैं। ये सभी एक्सपर्ट्स अलग-अलग समूहों में काम कर रहे हैं। सूत्रों के मुताबिक, प्रधानमंत्री इस वक्त सबसे ज्यादा फोकस इमर्जेंसी मेडिकल मैनेजमेंट प्लान पर कर रहे हैं। नीति आयोग के सदस्य डॉ. वी पॉल इस टीम का नेतृत्व कर रहे हैं। इसके अलावा PM मोदी रोग नियंत्रण, टेस्टिंग, अस्पतालों और क्वारंटाइन की व्यवस्थाओं पर भी काफी ध्यान दे रहे हैं।

अधिकारियों से ले रहे पल-पल की जानकारी

पर्यावरण सचिव सीके मिश्रा के नेतृत्व वाली टीम में एम्स के डायरेक्टर रणदीप गुलेरिया, महामारी विशेषज्ञ डॉ. रमन, इसके अलावा पीएम मोदी के भरोसेमंद अफसर डॉ. श्रीकर परदेशी और मयूर माहेश्वरी भी इस टीम में शामिल है। इस टीम में शामिल एक अधिकारी ने बताया कि PM मोदी मिशन मोड में काम कर रहे हैं। वो देश के साथ-साथ दुनिया में चल रहे कोरोना के आंकड़ों पर नजर बनाए रखते हैं। जैसे कि कितने लोग अभी तक कोरोना से पॉजिटिव मिले, इनमें से कितनों की जांच हो गई, कितने सही हुए इन सबकी वो अपडेट लेते रहते हैं।

यह भी पढ़ें: वॉर्ड बॉय ने अपनी डॉक्टर गर्लफ्रेंड की कर दी हत्या, लगाया कोरोना संक्रमित करने का आरोप

ये 11 कोर ग्रुप पल-पल की खबरों से PMO को अपडेट कराता रहता है, लेकिन फिर भी पीएम मोदी लगातार प्रधान सचिव पीके मिश्रा के साथ संपर्क में बने रहते हैं। वहीं इस काम में 1988 बैच के हरियाणा काडर के आईएएस तरुण बजाज, जो कि पिछले 5 सालों से मोदी के साथ काम कर रहे हैं और हैं एके शर्मा, जो कि गुजरात के दिनों से ही मोदी के भरोसेमंद रहे हैं, पीके मिश्रा का सहयोग करते हैं।

बैठक में लागू होती है सोशल डिस्टेंसिग

एक अधिकारी ने बताया कि मीटिंग के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का बखूबी ध्यान रखा जाता है। बैठक में सभी मंत्री एक-दूसरे से सुरक्षित दूरी पर ही रहते हैं। बता दें कि PM मोदी बार-बार देश की जनता से सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखने के लिए कह रहे हैं, साथ ही वो खुद भी इन नियमों का सख्ती के साथ पालन करते हैं।

यह भी पढ़ें: कोरोना से लड़ें ऐसे: Google के Doodle ने दिया ये बेहतरीन TIPS, करें ये काम

निजी सेक्टर पर भी नजर

वहीं इसके अलावा कोरोना की लड़ाई में निजी और गैर सरकारी संगठनों, अंतरराष्ट्रीय संगठनों और सामाजिक समूहों के योगदान को समझते हुए, नीति आयोग के सीईओ अमिताभ कांत के नेतृत्व में एक टीम एनजीओ और प्राइवेट सेक्टर के बीच समन्वय बनाने का काम कर रही हैं। इस टीम की कोशिशों की वजह से ही आज टाटा, रिलायंस और अडानी समूह जैसे कई बड़े कॉरपोरेट घरानों ने पीएम केयर फंड में बड़ी धनराशि दान की है।

जागरूकता फैलाने के लिए मीडिया से बातचीत

इसके अलावा इस महामारी के प्रति लोगों में जागरूकता फैलाने के लिए पीएम मोदी मीडिया से बातचीत कर रहे हैं। उन्होंने हाल ही में अपने बिजी शेड्यूल में से समय निकाल टीवी चैनलों से लेकर अखबारों के संपादकों, और तमाम मीडिया घरानों से बातचीत की। वहीं लोगों के बीच इस महामारी को लेकर जागरूकता फैलाने के लिए PMO की सोशल मीडिया टीम 24 घंटे काम कर रही है। जिसका नेतृत्व हिरेन जोशी कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें: 1 क्लिक में करोड़ों ट्रांसफर, CM योगी ने ऑनलाइन किया ट्रांजैक्शन

Shreya

Shreya

Next Story