इस देश में नहीं लगा सकते मास्क, ‘कोरोना वायरस’ शब्द पर भी बैन

दुनिया का अकेला ऐसा देश, जिसने कोरोना वायरस शब्द पर ही बैन लगा दिया है। चौंकाने वाली बात तो ये भी है कि जिस वायरस ने लगभग पूरी दुनिया में तबाही मचा रखी है, उसका एक भी केस इस देश में नहीं हैं।

नई दिल्ली: कोरोना वायरस के कारण दुनिया के कई देश परेशान हैं। लाखो की संख्या में लोग संक्रमित हो रहे हैं और हजारों की इस किलर वायरस के चपेट में आने से मौत हो चुकी है। वहीं एक ऐसा देश भी है, जो कोरोना वायरस शब्द का इस्तेमाल भी नहीं कर रहा। यह सुनकर आप भी हैरान हो गए होंगे।

कोरोना से मीलों दूर तुर्कमेनिस्तान

जी हां, दुनिया का अकेला ऐसा देश, जिसने कोरोना वायरस शब्द पर ही बैन लगा दिया है। चौंकाने वाली बात तो ये भी है कि जिस वायरस ने लगभग पूरी दुनिया में तबाही मचा रखी है, उसका एक भी केस इस देश में नहीं हैं।

ये भी पढ़ेंःकोरोना इफेक्ट : वेंटिलेटर बनाने की दौड़ में लगे देश

कोरोना वायरस शब्द पर ही बैन

हम बात कर रहे हैं तुर्कमेनिस्तान की। इस देश में कथित कोरोना वायरस शब्द पर ही बैन है। मीडिया और स्वास्थ्य विभाग भी अपनी रिपोर्ट में कोरोना शब्द के इस्तेमाल से बच रहे हैं। जहां दुनिया के कई देश कोरोना के संक्रमण से बचने के लिए मास्क और सैनिटाइजर के उपयोग पर बल दे रहे हैं, वहीं तुर्कमेनिस्तान के नागरिकों को मास्क पहनने से भी मना कर दिया गया है। बता दें कि इस देश के राष्ट्रपति गुरबांगुली बेयरडेमुकामेडॉव हैं, जिन्हे ‘फादर प्रोटेक्टर’ भी कहा जाता है।

ये भी पढ़ेंःस्थगित हुआ महामूर्ख सम्मेलन तो लोगों ने कहा, ‘पहली बार की अकल की बात’

कोरोना वायरस के बारे में बात करने पर सजा:

एक रिपोर्ट के मुताबिक, सरकार ने यहां स्पेशल एजेंट लगा रहे हैं, जो सादे कपड़ो में सड़कों पर घूमते हैं और इस बात की निगरानी करते हैं कि कोई कोरोना वायरस के बारे में बात न करें। ऐसा किये जाने पर उन्हें सजा के तौर पर डिटेन किया जा रहा है।

ये भी पढ़ेंःकौड़ी के भाव तेल बिकने की नौबत, पूरी दुनिया में रखने की जगह ही नहीं

कोरोना का एक भी केस नहीं :

वहीं ये भी दावा किया जा रहा है कि तुर्कमेनिस्तान में कोरोना का एक भी केस अब तक सामने नहीं आया है। हालाँकि इसके बावजूद यहां की सरकार संक्रमण से बचने को लेकर कदम उठा रही है। इसके तहत स्टेशन पर तापमान जांचने का काम हो रहा है तो वहीं भीड़भाड़ वाली जगहों की साफ-सफाई की जा रही है। इसके अलावा नागरिक आंदोलनों पर रोक लगा दी गयी। साथ ही राजधानी के बाहर के इलाकों को भी बंद कर दिया गया है।

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।