Top

बड़ा खुलासा: सट्टेबाजी में फंसी ये स्टार टीम, सभी हुए गिरफ्तार

स्पॉट फिक्सिंग ने कर्नाटक प्रीमियर लीग को भी अपनी चपेट में ले लिया है। आईपीएल में फ्रेंचाइची आधारित लीग केपीएल बीते कुछ समय से फिक्सिंग के कारण चर्चा में बनी हुई है।

Vidushi Mishra

Vidushi MishraBy Vidushi Mishra

Published on 26 Oct 2019 4:50 PM GMT

बड़ा खुलासा: सट्टेबाजी में फंसी ये स्टार टीम, सभी हुए गिरफ्तार
X
बड़ा खुलासा: सट्टेबाजी में फंसी ये स्टार टीम, सभी हुए गिरफ्तार
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्‍ली : स्पॉट फिक्सिंग ने कर्नाटक प्रीमियर लीग को भी अपनी चपेट में ले लिया है। आईपीएल में फ्रेंचाइची आधारित लीग केपीएल बीते कुछ समय से फिक्सिंग के कारण चर्चा में बनी हुई है। इस बीच एक बड़ी खबर आई कि लीग की हुबली टाइगर्स टीम के विकेट कीपर-बल्लेबाज एम विश्वनाथन और बेंगलुरु ब्लास्टर्स के गेंदबाजी कोच वीनू प्रसाद को 2018 केपीएल सीजन में सट्टेबाजी में शामिल होने के आरोप में बेंगलुरु क्राइम ब्रांच यूनिट ने गिरफ्तार किया है।

यह भी देखें… सावधान-रखें ध्यान: अगर ऐसे ऑनलाइन पेमेंट किया, तो गायब होंगे सारे पैसे

बता दें कि इससे पहले 2008 के सीजन में कर्नाटक की ओर से फर्स्ट क्लास क्रिकेट खेलने वाले 33 साल के वीनू पर भी सट्टेबाजी में शामिल होने का आरोप लगा है। वहीं 39 साल के विश्वानाथन बीते 20 सालों से क्लब सर्किट में सक्रिय हैं।

फिर दोनों पर 2018 में बेंगलुरु ब्लास्टर्स और बेलागवी पैंथर्स के बीच खेले गए केपीएल मैच में सट्टेबाजी में शामिल होने का आरोप है। बीते सीजन में विश्वनाथन ब्लास्टर्स की ओर से मैदान पर उतरे थे और टीम की अगुआई रॉबिन उथप्पा कर रहे थे।

सीसीबी के अनुसार, विश्वानाथन को खराब प्रदर्शन करने के लिए बुकीज ने पांच लाख रुपये दिए थे। पुलिस का आरोप है कि विश्वनाथन ने उस मैच में धीमी बल्लेबाजी की थी। हालांकि उस मैच के स्कोरबोर्ड पर नजर डालने पर पता चलता है कि विश्वानाथन ने तब 26 गेंदों पर 46 रन बनाए थे और रॉबिन उथप्पा की अगुआई वाली बेंगलुरु ब्लास्टर्स ने 67 रनों से जीत दर्ज की थी।

इस रैकेट में शामिल कुछ और भी

जानकारी के लिए बता दें कि इस टीम पर आगे की जांच जारी है। जॉइंट पुलिस कमिश्नर संदीप पाटिल ने जानकारी दी कि इस रैकेट में शामिल कुछ और बुकीज को गिरफ्तार किया गया है।

हालांकि पुलिस ने मैच में वीनू प्रसाद की भूमिका के बारे में ज्यादा कुछ नहीं बताया। वीनू खिलाड़ियों और स्पोर्ट्स स्टाफ में से गिरफ्तार होने वाले पहले हैं।

और इससे पहले क्राइम ब्रांच ने बेलगावी पैंथर्स के मालिक अली अशफाक और एक जाने माने ड्रमर भवनेश बाफना को हिरासत में लिया था। उन्होंने दिल्ली के दो बुकीज के नाम बताए।

इसके साथ ही इस हफ्ते पुलिस ने ‌कारोबारियों और केपीएल टीम बल्लारी टस्कर्स के मालिक अरविंद वेंकेटेश से भी पूछताछ ‌की। केपीएल के इस सीजन में टस्कर्स के तेज गेंदबाज भावेश गुलेचा ने पुलिस को बताया था कि बाफना के जरिए बुकीज उन तक भी पहुंचे थे।

इस तेज गेंदबाज को हर ओवर में 10 रन से अधिक देने के लिए कहा गया था। ऐसा भी माना जा रहा है कि केपीएल के कुछ और खिलाड़ियों का भी नाम सामने आ सकता है।

यह भी देखें… यात्रियों को चेतावनी: IRCTC ने जारी की एडवाइजरी, नियमों में हुए बदलाव

Vidushi Mishra

Vidushi Mishra

Next Story