VIDEO: हैप्पी बड्डे माही! अनहोनी को भी होनी कर देते हैं धोनी

फिलहाल अब वो भारतीय टीम के तीनों में किसी भी फॉर्मेट की कप्तानी नहीं करते हैं लेकिन उन्होंने अपनी 10 साल की कैप्टनसी में आईसीसी द्वारा आयोजित टी-20, वर्ल्ड कप व चैंपियंस ट्रॉफी जैसे टूर्नामेंट्स पर कब्जा जमाया है।

VIDEO: हैप्पी बड्डे माही! अनहोनी को भी होनी कर देते हैं धोनी

VIDEO: हैप्पी बड्डे माही! अनहोनी को भी होनी कर देते हैं धोनी

लखनऊ: भारतीय टीम के पूर्व कप्तान और अपने हेलीकॉप्टर शॉट के लिए फेमस महेंद्र सिंह धोनी सात जुलाई को यानी आज 38वां जन्मदिन मना रहे हैं। टेस्ट क्रिकेट से संन्यास ले चुके धोनी अपनी कप्तानी, विकेटकीपिंग और ताबड़तोड़ बल्लेबाजी के लिए दुनियाभर में मशहूर है।

यह भी पढ़ें: यह हमारा घर है और हमें पिच को बेहतर पढना चाहिये था : धोनी

फिलहाल अब वो भारतीय टीम के तीनों में किसी भी फॉर्मेट की कप्तानी नहीं करते हैं लेकिन उन्होंने अपनी 10 साल की कैप्टनसी में आईसीसी द्वारा आयोजित टी-20, वर्ल्ड कप व चैंपियंस ट्रॉफी जैसे टूर्नामेंट्स पर कब्जा जमाया है।

Courtesy: Mahesh Pendor

यही नहीं, धोनीCourtesy: watanideasirjee
ने नाम के साथ-साथ क्रिकेट प्रेमियों का प्यार भी खूब लूटा है। महेंद्र सिंह धोनी कितने अच्छे प्लेयर हैं, इस बात का आकलन इससे लगाया जा सकता है कि उनकी प्रशंसा क्रिकेट जगत के बड़े-बड़े दिग्गज करते हैं।

यह भी पढ़ें: माही के जन्मदिन पर भावुक हुए विराट कोहली,आईसीसी ने शेयर किया VIDEO

धोनी ने नहीं छोड़ी कोई कसर

महेंद्र सिंह धोनी की प्रशंसा होनी भी चाहिए क्योंकि उन्होंने भारतीय क्रिकेट को एक नए मुकाम तक पहुंचाने में कोई कसर नहीं छोड़ी है। बेहद शांत स्वाभाव के महेंद्र सिंह धोनी सिर्फ मैदान पर ही अपनी आक्रामकता दिखाते हैं। अपने करियर में धोनी ने कई रिकार्ड्स अपने नाम किए हैं। यही नहीं, धोनी को उनकी क्रिकेट की बेहतरीन समझ के लिए भी जाना जाता है। साथ ही धोनी पहले ऐसे क्रिकेटर हैं जिनकी बायोपिक उनके संन्यास लेने से पहले ही बन चुकी है।

Courtesy: watanideasirjee

धोनी एक दाएं हाथ के आक्रामक मध्य क्रम बल्लेबाज और विकेटकीपर हैं। अपनी आक्रामक शैली से मैच जीतने वाले बल्लेबाज के रूप में वे जाने जाते हैं। धोनी ने 1999-2000 में अपने करियर की शुरूआत की थी। इन 4-5 सालों में फर्स्ट क्लास क्रिकेट खेलने के बाद उन्होंने 23 दिसंबर 2004 को बांग्लादेश के विरूध चित्तागोंग में मैच खेला जिसमें वे बिना रन बनाएं रनआउट हो गये।

महेंद्र सिंह धोनी के नाम हैं कई रिकॉर्ड

इसके बाद पाकिस्तान के खिलाफ खेले गए मैच में उन्होंने 123 बोलों पर 148 रन बनाएं जिसमें उन्होंने 15 चौके और 4 छक्के मारे। महेंद्र सिंह धोनी न र्सिफ एक अच्छे विकेट कीपर हैं बल्कि एक अच्छे बल्लेबाज भी हैं। महेंद्र सिंह धोनी एकमात्र ऐसे खिलाड़ी हैं जिन्होंने एडम गिलक्रिस्ट का रिकॉर्ड तोड़ा है। धोनी सबसे ज्यादा रन बनाने वाले अब एकमात्र विकेट कीपर है।

Courtesy: Trevor Byers Cricket

यह भी पढ़ें: ‘चीते की चाल और धोनी की स्टंपिंग पर कभी संदेह नहीं करते’, ये रहें सबूत

एमएस धोनी ने अपनी कप्तानी में कई रिकार्ड्स भी बनाये जैसे किसी भी कप्तान की तुलना में उन्होंने भारत को वन डे और टेस्ट क्रिकेट में सार्वधनिक जीत दिलाई और साथ ही वन डे और टेस्ट क्रिकेट में भारत को लगातार जीत दिलाने वाले वे अकेले कप्तान हैं।

ऐसा करने वाले पहले कप्तान बने धोनी

उन्होंने 2007 में राहुल द्रविड़ से कप्तानी ली थी और अपनी कप्तानी में उन्होंने भारतीय टीम को श्रीलंका और न्यूजीलैंड में पहली बार जीत का स्वाद चखाया। उनकी कप्तानी में भारत ने 2007 में आईसीसी वर्ल्ड कप टी-20, सीबी सीरीज 2007-08, एशिया कप 2010 व 2016, 2011 में आईसीसी वर्ल्ड कप और 2013 में चैंपियन ट्राफी जीती।

यह भी पढ़ें: B’DAY स्पेशल: कैसे बने धोनी से कैप्टन कूल, जानते हैं उनके जीवन के अनुछए फैक्ट

जून 2013 में धोनी तीनों सीमित ओवर की ट्रॉफी (चैंपियन ट्राफी, आईसीसी वल्र्ड कप टी-20, आईसीसी वर्ल्ड कप) दिलाने वाले पहले कप्तान बन गए थे। 2009 में धोनी ने पहली बार भारतीय टीम को टेस्ट मैच में पहले पायदान पर पहुंचाया।

यह भी पढ़ें: शोएब के संन्यास लेने पर सानिया ने दिया ऐसा रिएक्शन, पढ़ें पूरा मामला

धोनी ने अपना पहला टेस्ट मैच 2008 में खेला था और 2014 दिसंबर में टेस्ट मैच से संन्यास की घोषणा की। धोनी कई पुरस्कारों के हकदार रह चुके हैं, जिनमें 2008 और 2009 में आईसीसी ओडीआई प्लेयर ऑफ दी ईयर, 2007 में राजीव गांधी खेल रत्न अवार्ड और पद्म श्री, 2009 में भारत के चौथे सिविलियन का सम्मान उन्हें प्राप्त है। कपिल देव के बाद वे दूसरे खिलाड़ी है जिन्हें इंडियन आर्मी का भी सम्मान पद मिला है।

अनहोनी को भी होनी कर देते हैं धोनी

धोनी एकलौते ऐसे भारतीय क्रिकेटर हैं जो अनहोनी को भी होनी कर देते हैं। धोनी हमेशा अपने अंदाज से सबको चौंकाते हैं, अब चाहे वो विकेटकीपिंग हो या बल्लेबाजी धोनी हर जगह रिकॉर्ड बनाते हैं। ऐसे ही धोनी के कुछ किस्सें हैं जिनके बारे में आपको भी जानकार काफी हैरानी होगी। वर्ष 2016 में भारतीय टीम अपना वन डे मैच न्यूजीलैंड के साथ खेल रही थी। इस दौरान धोनी द्वारा की गई स्टंपिंग से मैदान में बैठे दर्शक काफी हैरान हो गए।

यह भी पढ़ें: क्रिकेट फैंस के लिए बुरी खबर, इन दो दिग्गज खिलाड़ियों ने लिया संन्यास

दरअसल, धोनी ने रॉस टेलर को आउट किया था। रॉस टेलर रन लेने के लिए दौड़ पड़े थे तभी धोनी ने थ्रो को सीधा लपका और बिना स्टंप्स की ओर देखे हुए हिट कर दिया, जिससे रॉस टेलर आउट हो गए। रॉस टेलर 35 रन बनाकर रन आउट हुए। और धोनी के इस कारनामे से हर कोई हैरान था। इस कारनामे के बाद फैंस ने धोनी को विकेट के पीछे का भगवान तक कह दिया था।

धोनी के लिए ‘कारनामे’ करना आम बात

2016 में खेला गया टी-20 वर्ल्ड कप का फाइनल मैच सबको अच्छे से याद होगा। यह मैच भारत ने बांग्लादेश के खिलाफ खेला था। 2016 के टी-20 विश्वकप में बांग्लादेश के खिलाफ जब मैच आखिरी ओवर गेंद तक जा पहुंचा तो हर किसी को चिंता थी कि भारत हार जाएगा लेकिन आखिरी गेंद पर जब बांग्लादेश को 2 रन चाहिए थे। तब धोनी ने दौड़ कर मुस्तफ़िज़ूर रहमान को रन आउट किया। भारत ने बांग्लादेश को 1 रन से हराया।

यह भी पढ़ें: पहले ‘बॉलीवुड’ छोड़ दिया धर्म के लिए और अब ले ली यहाँ एंट्री

2016 में ही धोनी ने एक और कारनामा किया था। साल 2016 के आईपीएल में किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाफ जब पुणे सुपर जाएंट को आखिरी ओवर में 23 रन चाहिए थे। तब अक्षर पटेल गेंदबाजी करने आए और धोनी स्ट्राइक पर थे। धोनी ने आखिरी ओवर में 3 छक्के मारे थे। धोनी ने आखिरी की दो गेंद में 2 छक्के जड़कर जीत दिलाई थी।

माही के नाम से फेमस धोनी ने भारतीय क्रिकेट टीम को शिखर पर पहुंचाने के बाद कप्तानी छोड़ दी। धोनी ने अपने अब तक के करियर में कई करिश्में किए। स्टंपिंग करने में माहिर धोनी आज भी बहुत फुर्ती से स्टंपिंग करते हैं। बल्लेबाज को कोई भी मौका नहीं देते कि वो टिक पाए। जितनी देर में बल्लेबाज को कुछ समझ में आता है, उतनी देर में धोनी स्टंपिंग कर चुके होते हैं।