IPL की मेजबानी के लिए अब ये देश आया सामने, BCCI के सामने रखा प्रस्ताव

ऑस्ट्रेलिया में इस साल अक्टूबर-नवंबर के दौरान टी 20 विश्व कप का आयोजन होना है। मगर कोरोना संकट के कारण विश्व कप का टलना तय माना जा रहा है।

अंशुमान तिवारी

नई दिल्ली: भारत में कोरोना की रफ्तार में भारी तेजी के कारण यहां इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) को लेकर तमाम तरह के सवाल खड़े किए जा रहे हैं। संयुक्त अरब अमीरात और श्रीलंका की ओर से आईपीएल की मेजबानी का प्रस्ताव पहले ही रखा जा चुका है। अब न्यूजीलैंड ने भी बीसीसीआई के सामने आईपीएल की मेजबानी का प्रस्ताव रखा है। वैसे टी 20 विश्वकप का टलना तय होने से आईपीएल का आयोजन भी तय माना जा रहा है।

कोरोना के कारण भारत में आयोजन मुश्किल

ऑस्ट्रेलिया में इस साल अक्टूबर-नवंबर के दौरान टी 20 विश्व कप का आयोजन होना है। मगर कोरोना संकट के कारण विश्व कप का टलना तय माना जा रहा है। जानकारों का कहना है कि इस कारण आईपीएल के लिए अक्टूबर-नवंबर की विंडो बन सकती है। यूएई और श्रीलंका के बाद अब न्यूजीलैंड की ओर से आईपीएल के आयोजन का प्रस्ताव रखा गया है। इन तीनों देशों में यूएई फिलहाल दौड़ में सबसे आगे नजर आ रहा है। बीसीसीआई से जुड़े सूत्रों का कहना है कि आईपीएल के आयोजन के लिए सितंबर के आखिर से नवंबर के बीच की तारीखों पर विचार किया जा रहा है।

ये भी पढ़ें-   पाक-चीन ने मिल कर भारतीय सीमा पर रची साजिश, गुपचुप कर रहे ये काम

बीसीसीआई से जुड़े एक अधिकारी का कहना है कि बोर्ड के लिए प्राथमिकता में सबसे पहले भारत ही है क्योंकि यहां आयोजन होने से खेल के रोमांच के साथ ही बीसीसीआई को भी भारी फायदा होगा। कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए अब यह संभव नहीं माना जा रहा है। भारत कोरोना के संक्रमण के मामले में अमेरिका और ब्राजील के बाद तीसरे नंबर पर पहुंच गया है। ऐसे में आईपीएल के आयोजन के दूसरे विकल्पों पर विचार किया जा रहा है।

यूएई दौड़ में सबसे आगे

बीसीसीआई के अधिकारी के मुताबिक न्यूजीलैंड की पेशकश के बावजूद वहां पर आईपीएल का आयोजन कराना मुश्किल लग रहा है। अधिकारी के मुताबिक इस बाबत सभी पक्षों से बातचीत करने के बाद अंतिम फैसला लिया जाएगा। बोर्ड के लिए सबसे महत्वपूर्ण बात खिलाड़ियों की सुरक्षा है और उसे लेकर कोई समझौता नहीं किया जा सकता। न्यूजीलैंड भले ही कोरोना मुक्त हो चुका है। लेकिन भारत और वहां के समय में साढ़े सात घंटे का फर्क है। ऐसे में वहां आयोजन कामयाब होने की संभावना नहीं मानी जा रही है।

ये भी पढ़ें-   इस प्रसिद्ध शिव मंंदिर में पहली बार भगवान भोले के दर्शन नहीं कर पाएंगे भक्त

वैसे विदेश में आईपीएल का आयोजन पहले भी हो चुका है। 2009 में देश में आम चुनाव के कारण आईपीएल का आयोजन दक्षिण अफ्रीका में हुआ था। इसके बाद 2014 में आईपीएल के कुछ मैच यूएई में खेले गए थे। मगर 2019 में देश में आम चुनाव के बावजूद आईपीएल का आयोजन भारत में ही किया गया था। जानकारों का कहना है कि अगर आईपीएल का आयोजन विदेश में होता है तो इस दौड़ में फिलहाल यूएई को सबसे आगे माना जा रहा है।

चीनी कंपनी के करार पर भी होगी चर्चा

बीसीसीआई के अधिकारी के मुताबिक आईपीएल संचालन परिषद की बैठक की तारीख जल्द ही तय की जाएगी। इस बैठक में आयोजन स्थल के साथ ही चीनी कंपनी के प्रायोजन करार पर भी चर्चा की जाएगी। चीन की कंपनी वीवो के साथ बीसीसीआई का पांच साल का आईपीएल टाइटल प्रायोजन करार है।

ये भी पढ़ें-   UP सरकार ने ऐसे की 40 करोड़ की कमाई, जानकर हो जाएंगे हैरान

इससे बीसीसीआई को 2022 तक 440 करोड रुपए सालाना मिलने है। देश में चीन विरोधी माहौल को देखते हुए आईपीएल से जुड़ी चीनी कंपनी के मुद्दे पर भी आईपीएल संचालन परिषद की बैठक में चर्चा की जाएगी।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App