Top

वर्ल्‍ड कप 2019: टीम इंडिया के लिए ये बड़ी खुशखबरी, जाने क्या है डकवर्थ लुईस नियम

कल बारिश भारत और न्यूजीलैंड के मैच में रोड़ा बन गयी थी, तो क्या मैनचेस्टर में आज फिर से बारिश होगी? क्या आज भारत और न्यूजीलैंड के बीच बाकी बचा हुआ मैच पूरा हो पाएगा या नहीं?

Vidushi Mishra

Vidushi MishraBy Vidushi Mishra

Published on 10 July 2019 7:55 AM GMT

वर्ल्‍ड कप 2019: टीम इंडिया के लिए ये बड़ी खुशखबरी, जाने क्या है डकवर्थ लुईस नियम
X
cricket world cup
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली : कल बारिश भारत और न्यूजीलैंड के मैच में रोड़ा बन गयी थी, तो क्या मैनचेस्टर में आज फिर से बारिश होगी? क्या आज भारत और न्यूजीलैंड के बीच बाकी बचा हुआ मैच पूरा हो पाएगा या नहीं? क्या आज मैच का नतीजा सुपर ओवर से निकलेगा या फिर टीम इंडिया सीधे फाइनल में पहुंच जाएगी? ये वो सवाल है जिसका जवाब हर क्रिकेटप्रेमी तलाश रहे हैं। लिहाजा आज हर किसी की निगाह मैनचेस्टर के मैदान और आसमान पर टिकीं हुई है।

यह भी देखें... INDvsNZ: आज टीम इंडिया ने की ये गलती, तो हार जाएगा मैच

आज बारिश तो होगी ही...

खुशी की बात ये हैं कि टीम इंडिया के लिए एक अच्छी खबर आ रही है। ताजा रिपोर्ट के मुताबिक मैनचेस्टर में आज दिनभर बदली छाई रहेगी और हल्की बारिश भी होगी। कि बारिश के बावजूद टीम इंडिया को पूरा बैटिंग का मौका मिल सकता है। यानी इस बात की उम्मीद बेहद कम है कि मैच का फैसला डकवर्थ लुईस नियम से निकला जाएगा।

क्या है डकवर्थ लुईस नियम...

बारिश से प्रभावित मैचों में नतीजे प्राप्त करने के लिए एक नियम का इस्तेमाल किया जाता है, जिसे डकवर्थ लुईस नियम कहते है। डकवर्थ लुईस नियम और क्रिकेट में इसके इस्तेमाल के तरीके का विस्तृत विवरण दे रहे है।

आइए जानते हैं क्या है डकवर्थ-लुईस नियम और किस तरह इसमें गणना की जाती है।

क्रिकेट मैच के दौरान मौसम या अन्य कोई बाधा आने पर दूसरी पारी में खेलने वाली टीम के लिए लक्ष्य निर्धारित करने हेतु डकवर्थ-लुईस नियम का उपयोग किया जाता है।

यह भी देखें... वर्ल्ड कप 2019: फील्ड पर चहल को विराट कोहली ने इसलिए दी गाली, VIDEO वायरल

दो अंग्रेज सांख्यिकी विशेषज्ञों फ्रेंक डकवर्थ और टोनी लुईस द्वारा बनाई गई इस प्रणाली को बेहद सटीक माना जाता है।

किसी भी निर्धारित ओवरों वाले मैच में इस नियम की गणना दोनों टीम के पास रन बनाने में उपयोग होने वाले दो विकेट और ओवर के आधार पर की जाती है।

जिन मैचों में काफी ओवर खेले जा चुके हों, उनमें दूसरी पारी में खेलने वाली टीम के लिए लक्ष्य निर्धारित करना खेले गए ओवरों के हिसाब से रन कम करने जितना आसान नहीं है, क्योंकि अगर किसी टीम के पास पूरे 10 विकेट और 25 ओवर बचे हों तो ऐसा माना जाता है कि उस टीम के द्वारा रन बनाने की गति में बढ़ोत्तरी खुद ही हो जाएगी। उस स्थिति के मुकाबला जब उनके पास पूरे 10 विकेट और 50 ओवर बचे हों।

डकवर्थ-लुईस नियम से दूसरी पारी में खेलने वाली टीम के लिए एक उचित लक्ष्य निर्धारित किया जाता है, जिसमें पहली टीम द्वारा बनाए गए कुल रन, उनके गिरे हुए विकेट और कुल खेले गए ओवरों का इस्तेमाल किया जाता है।

गणना :-

डकवर्थ-लुईस नियम की गणना करते समय यह माना जाता है कि कोई भी टीम रन बनाने के दो ओवर और विकेट की उपलब्धता के आधार पर ही रन बना सकती है। मैच के दौरान किसी भी समय यही दो आधार बनाए जाने वाले रनों का निर्धारण करते हैं।

यह भी देखें... INDvsNZ: मान ली होती दादा की यह सलाह, तो कल ही जीत जाता भारत…

डकवर्थ-लुईस प्रणाली विकसित किए जाने के दौरान क्रिकेट मैचों में बने स्कोर के इतिहास को खंगालने पर रन बनने के दोनों स्त्रोतों की उपल्ब्धता में गहरा संबंध पाया गया और इसी आधार पर इस प्रणाली को विकसित किया गया।

किसी भी मैच के दौरान लक्ष्य निर्धारित करने के लिए बचे हुए ओवर या बिल्कुल सटीक लक्ष्य के लिए बची हुई गेंदों और गिर चुके विकेट के आधार पर एक लक्ष्य दिया जाता है जिसे मैच के दौरान उस स्थिति में बढ़ाया या घटाया जाता है अगर मैच को एक या ज्यादा बार बाधा आने पर इस नियम को लगाकर लक्ष्य निर्धारित करने की आवश्यकता पड़ जाए। इसके लिए दोनों टीमों के दोनों स्त्रोतों का प्रतिशत निकाला जाता है जिसके उपयोग से दूसरी पारी में खेलने वाली टीम के लिए बराबर लक्ष्य की गणना की जाती है।

इस नियम के इस्तेमाल के बाद दूसरी टीम के लिए बनाए जाने वाले रनों की संख्या, जो सामान्यता एक भिन्न संख्या होती है, प्राप्त होती है। इस भिन्न संख्या के करीबी बिना दशमलव वाली संख्या को लक्ष्य के तौर पर निर्धारित कर दिया जाता है।

अगर दूसरी पारी में खेलने वाली टीम इस लक्ष्य तक या उससे ज्यादा रन बना लेती है तो वह जीत जाती है। अगर बने हुए रन निर्धारित लक्ष्य के बिल्कुल बराबर हो तो परिणाम टाई होता है और कम रन बनने पर दूसरी पारी में खेलने वाली टीम हार जाती है।

यह नियम व्यवहारिक रूप से समझने में कठिन है। डकवर्थ लुईस की आलोचना करते हुए एक क्रिकेट विशेषज्ञ ने कहा था कि डकवर्थ लुईस नियम को दुनिया में दो ही व्यक्तियों ने पूरी तरह समझा है। पहले डकवर्थ और दूसरे लुईस।

यह भी देखें... INDvsNZ: आज टीम इंडिया ने की ये गलती, तो हार जाएगा मैच

मौसम का हाल

मौसम विभाग की रिपोर्ट के अनुसार, आज सिर्फ 0-10 फीसदी ही बारिश की आशंका है। मैनचेस्टर में आज धूप भी निकलेगी। दोपहर 12 बजे और फिर शाम को 5 बजे हल्की बारिश हो सकती है। इसके बावजूद 50 ओवर का खेल होने की पूरी उम्मीद है।

आज खेल एक बार फिर शुरू होगा। मैच वहीं से शुरू होगा जहां कल खेल को रोका गया था। यानी आज दोबारा न तो टॉस होगा और न ही न्यूज़ीलैंड की टीम फिर से पूरा 50 ओवर बैटिंग करेगी।

Vidushi Mishra

Vidushi Mishra

Next Story