business news

देश और दुनिया में हर तरफ कोरोना का प्रकोप है। इसकी वजह से  अर्थव्यवस्था पर बुरा असर पड़ा है। लोगों का जॉब भी जा रही है । कई कंपनियों ने अपने एंपलॉय को कम किया है। आज जहां नौकरी जा रही है वही ऑनलाइन फैशन और लाइफस्टाइल स्टोर मिंत्रा (Myntra) ने 5,000 लोगों की भर्ती की है।

देश की अर्थव्यवस्था  कोरोना वायरस की वजह से डगमगाने  लगी तो इसको बचाने के लिए सरकार ने मई के दूसरे सप्ताह में 20 लाख करोड़ रुपये के आत्मनिर्भर  पैकेज की घोषणा की थी।  लेकिन इससे हालात में सुधार होंगे ये जरूरी  नहीं है।

बुधवार को सप्ताह के तीसरे कारोबारी दिन शेयर मार्केट से अच्छी खबर आई है। आज लगातार तीसरे दिन शेयर बाजार में बढ़ोतरी देखने को मिली है।  अगर हम आज दिग्गज शेयरों की बात करें, तो टीसीएस के अतिरिक्त सभी शेयर हरे निशान पर खुले।

कोविड-19 के आने से हर तरफ कोहराम मचा है। नौकरी और अर्थव्यस्था पर खतरा मंडरा रहा है। कोरोना संकट के बीच हर सेक्टर में नौकरी पर खतरा है, साथ ही कर्मचारियों की सैलरी में कटौती की खबर भी आ रही है।इस महासंकट की घड़ी में एक रिपोर्ट ने करोड़ों लोगों के चेहरे पर मुस्कान ला दी है।

कोरोना वायरस महामारी को रोकने के लिए केंद्र सरकार द्वारा किए गए देशव्यापी लॉकडाउन का अर्थव्यवस्था को भारी नुकसान हो रहा है। अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष ने इसे देखते हुए चालू वित्त वर्ष 2020-21 में जीडीपी विकास दर महज 1.9% रहने का अनुमान जताया है।

अगर कोई भी नौकरी शुरू करता है, तो वो सोचता है कि वो जल्द ही अमीर बन जाए। लेकिन ये चीज बहुत ही कम लोगों के साथ होता है।

SBI ने एक रिपोर्ट जारी करके वर्तमान वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही के जीडीपी ग्रोथ 4.2 फीसदी रहने का अनुमान लगाया है। SBI  की रिपोर्ट में ऑटोमोबाइल बिक्री में गिरावट, एयर ट्रैफिक मूवमेंट में कमी, कोर सेक्‍टर ग्रोथ के घटने और कंस्‍ट्रक्‍शन व इन्‍फ्रास्‍ट्रक्‍चर में निवेश घटने के कारण देश की जीडीपी ग्रोथ में कमी देखने को मिलेगी।

अगर है आप बिजनेस मैंन तो हम आपके लिए एक बेहद ज़रूरी खबर लाएं हैं, क्योंकि 1 नवंबर से पेमेंट लेने का नया नियम लागू होने जा रहा है।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार छोटी बचत योजना पर ब्याज दरें 10 बेसिस अंक यानी 0.10 फीसदी तक कम हो सकती हैं। यह कटौती अक्टूबर से दिसंबर तिमाही के लिए लागू होगी।

घरेलू बाजारों के बढ़त में खुलने और विदेशी बाजारों में डॉलर के नरम पड़ने से शुक्रवार को शुरुआती कारोबार में रुपया 12 पैसे मजबूत होकर 69.05 रुपये प्रति डॉलर पर पहुंच गया। बृहस्पतिवार को रुपया 76 पैसे टूटकर 69.17 रुपये प्रति डॉलर पर बंद हुआ था।