cbi

आईएनएक्स मीडिया केस में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व गृह मंत्री पी. चिदंबरम को सीबीआई ने गिरफ्तार किया है। गिरफ्तारी के बाद सीबीआई मे उनको गुरुवार को कोर्ट में पेश किया। इसके बाद से कांग्रेस भड़क गई है।

गिरफ्तार करने के बाद पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम को सीबीआई ने दिल्ली की राउज एवेन्यू कोर्ट में पेश किया। बुधवार रात को लंबे ड्रामे के बाद सीबीआई ने पूर्व गृह मंत्री और कांग्रेस नेता को उनके घर से गिरफ्तार किया था। इसके साथ ही सीबीआई ने हेडक्वार्टर में उनसे लगभग 3 घंटे तक पूछताछ की।

INX मीडिया केस में शीना बोरा मर्डर केस की आरोपी इंद्राणी मुखर्जी को मुख्य गवाह बनाया गया है। सीबीआई को इंद्राणी मुखर्जी ने मार्च 2018 में बयान दिया था। इसमें मुखर्जी ने कहा था कि इस मामले को लेकर उनके और कीर्ति चिदंबरम के बीच 10 लाख अमेरिकी डॉलर की डील तय हुई थी।

कथित प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (एफडीआई) के एक मामले में सीबीआई ने एनडीटीवी के प्रमोटरों प्रणय रॉय और उनकी पत्नी राधिका रॉय समेत अन्य के खिलाफ केस दर्ज किया है। एनडीटीवी के प्रमोटरों के खिलाफ एफडीआई नियमों के कथित उल्लंघन का आरोप है।

पिछले 24 घंटे से गायब पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम कांग्रेस दफ्तर पहुंचे। चिदंबरम ने कांग्रेस दफ्तर में प्रेस कॉन्फ्रेंस किया। कांग्रेस दफ्तर में चिदंबरम के साथ वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद, कपिल सिब्बल, समेत कई बड़े नेता मौजूद रहे।

अमित शाह की गिरफ्तारी के बाद भाजपा आंदोलित हुई थी और उन्होंने यूपीए सरकार पर बदले की कार्रवाई करने का आरोप लगाया था। 2012 तक अमित शाह गुजरात में दाखिल नहीं हुए। 

मंगलवार रात करीब 11:30 बजे के आसपास सीबीआई की टीम चिदंबरम के घर पहुंची थी। लेकिन उन्हें वह नहीं मिले।  जिसके बाद सीबीआई ने नोटिस चिपका दिया।

मंगलवार को INX मीडिया मामले में दिल्ली हाईकोर्ट के फैसले के बाद  पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम के घर पर CBI की टीम पहुंची,  हालांकि वह घर पर नहीं मिले तो टीम को वापस लौटना पड़ा।

सीबीआई की विशेष न्यायिक मजिस्ट्रेªट अनुराधा शुक्ला ने आरोप पत्र पर संज्ञान के लिए 30 अगस्त की तारीख तय की है। 22 जनवरी, 2016 को सुप्रीम कोर्ट ने इस बहुचर्चित हत्याकांड मामले की जांच सीबीआई को सौंपी थी।

आईएनएक्स मीडिया भ्रष्टाचार और धन शोधन मामले में पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम के घर सीबीआई की टीम पहुंची, लेकिन सीबीआई को यहां से खाली हाथ लौटना पड़ा। खबरों से बताया जा रहा है कि सीबीआई चिदंबरम को गिरफ्तार करने पहुंची थी, लेकिन पूर्व वित्त मंत्री घर पर मौजूद नहीं थे।