congress

किसानों के मुददों को लेकर कांग्रेस ने शनिवार को जमकर हंगामा किया। कांग्रेस नेताओं ने प्रदर्शन कर केंद्र और यूपी सरकार के खिलाफ जमकर भडास निकाली। कहा, मोदी सरकार देश के 65 करोड किसान मजूदरों के साथ धोखा कर रही है।

मोदी सरकार को किसानों की मांगें माननी ही होंगी और काले कानून वापस लेने होंगे। ये तो बस शुरुआत है। किसानों के आंदोलन को राहुल गांधी ने ही पंजाब पहुंचकर शुरू कराया था।

इसी मुद्दे को लेकर आज देवउठनी एकादशी के दिन जनपद जौनपुर में कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने महात्मा गांधी की मूर्ति के पास स्थित खरका तिराहा पर मौन ब्रत रखा और कांग्रेस जनों के हस्ताक्षर युक्त पत्र कांग्रेस के कार्यवाहक राष्ट्रीय अध्यक्ष के पास भेजा है जिसमें मांग किया है कि कांग्रेस पार्टी को एक पूर्णकालिक अध्यक्ष की जरूरत है।

पार्टी के दिग्गज नेता अहमद पटेल के निधन से कांग्रेस को तगड़ा झटका लगा है। पटेल कांग्रेस पार्टी के चाणक्य के रूप में जाने जाते थे और सोनिया गांधी के सलाहकार भी थे।

कांग्रेस पार्टी के दिग्गज नेता अहमद पटेल अब इस दुनिया में नही रहे। पिछले एक महीने से वह कोरोना से संक्रमित होने की वजह से बुधवार तड़के उन्होंने आखिरी सांसें लीं। जिसके बाद से पटेल परिवार इस वक़्त सदमे में है।

भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के कोषाध्यक्ष और आठ बार के सांसद अहमद पटेल के निधन को कांग्रेस के लिए बड़ा झटका माना जा रहा है। 71 वर्षीय अहमद पटेल को गांधी परिवार का काफी करीबी भी माना जाता था।

यहीं नही पश्चिम बंगाल में जीत पाने के लिए केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने अपनी तैयारी शुरू कर दी है।

पूर्व केंद्रीय मंत्री और पार्टी के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद ने पार्टी के कामकाज के तरीके पर एक बार फिर सवाल उठाए हैं। आजाद ने कहा कि सच्चाई तो यह है कि हमारी पार्टी का ढांचा ढह चुका है और हमें इसे फिर से तैयार करने की जरूरत है।

पार्टी की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी को चिट्ठी लिखने वाले असंतुष्ट नेताओं में शामिल रहे सिब्बल ने अब यहां तक कह डाला है कि कांग्रेस अब देश में असरदार विपक्षी दल नहीं रह गई है।

इन्दिरा गांधी की रिपोर्टिंग (''टाइम्स आफ इंडिया'' के लिए) मैंने इक्कीस वर्षों (1963 से 1984) तक किया है। प्रेस कान्फ्रेंस और जनसभायें मिलाकर।