Governer Ram Naik Statement

मैंने बाबासाहब के सही नाम डाॅ0 भीमराव रामजी आंबेडकर लिखने के संबंध में पहल की। लिखा-पढ़ी में तो इसे सुधारा जाना आवश्यक था ही परन्तु जनमानस में प्रचलित गलत नाम विस्मरण होकर सही नाम का प्रयोग हो, इसके लिये जन-जागृति लाने की भी आवश्यकता थी। यह दो बातें मुझे आजीवन स्मरण रहेंगी। जो भी इन दोनों बातों का ध्यान करेगा, वह मुझे जरूर याद रखेगा।’

राज्यपाल ने कहा कि किस पार्टी अथवा दल को मतदान करना है यह जनता का अधिकार है परन्तु मतदान अवश्य करें जिससे विश्व में भारत की सबसे बड़ी एवं सफल लोकतंत्रात्मक व्यवस्था का संदेश जायेगा।

राज्यपाल ने सदन में 30 पृष्ठीय अभिभाषण पढ़कर सम्बोधित किया। राज्यपाल का यह पांचवा संयुक्त सत्र अभिभाषण था। विधान सभा अध्यक्ष हृदय नारायण दीक्षित ने राज्यपाल को सदन में अभिभाषण के लिये धन्यवाद दिया।

उन्होंने कहा कि जनप्रतिनिधि पत्रकारिता के माध्यम से जानकारी प्राप्त करते हैं और बाद में उसका सदुपयोग भी करते हैं। 

वहीं बैसवारा कालेज के स्वर्ण जयंती समारोह में अपने उद्बोधन के दौरान राज्यपाल राम नाईक ने कुम्भ समिति का अध्यक्ष होने के नाते लोंगो को कुम्भ में आने का निमंत्रण दिया साथ ही कुम्भ की तीन विशेषताएं भी बताई।