shani dev

धर्मग्रंथों के अनुसार जिस घर में तुलसी का पौधा होता है वहां रोग, दोष या क्लेश नहीं होता वहां हमेशा सुख-समृद्धि का वास होता है। इसीलिए प्रतिदिन तुलसी के पौधे की पूजा करने का भी विधान है। प्राचीन काल से ही यह परंपरा चली आ रही है कि घर में तुलसी का पौधा होना चाहिए।

जयपुर : शनिवार पीपल के पेड़ के नीचे कच्चा दूध चढ़ाने से सभी ग्रह शांत होते है। राहु-केतु, शनि और पितृ दोष इससे दूर हो जाता है। ग्रह नक्षत्रों की दिशा और दशा व्यक्ति के जीवन बहुत मायने रखती हैं। अगर ग्रहों की दशा बेहतर हो तो इंसान जीवन में बहुत विकास करता है लेकिन …

सहारनपुर: शनि देव के क्रोध के अनेक उदाहरण मिलते हैं। मेघनाद की कुंडली में रावण ने सारे ग्रहों को पकड़कर सबसे शुभ माने जाने वाले 11वें भाव में क़ैद कर दिया था। लेकिन त्रिलोक को जीतने वाला रावण भी शनि देव को रोक न सका और उन्होंने धीरे-से अपना पैर अनिष्ट-कारक 12वें भाव में बढ़ा …

जयपुर: शनि देव को ज्योतिष शास्त्र में न्याय का देवता कहा गया है। शनिदेव व्यक्ति को उसके कर्मों के अनुसार दंड देते हैं। यही वजह है कि जब किसी जातक की कुंडली में ढैय्या या साढ़ेसाती आती है तब इस प्रकोप से मुक्ति पाने के लिए बहुत से उपाय करने पड़ते हैं। ऐसा नहीं करने …