यहां तीन मकान जमींदोज, 15 की मौत, अगले दो दिन में भारी बारिश का अलर्ट

उत्तर-पूर्वी मॉनसून के कारण तमिलनाडु के कई हिस्सों और पड़ोसी राज्य पुडुचेरी में पिछले 24 घंटों में भारी बारिश हुई। सोमवार को भी भारी बारिश की आशंका देखते हुए पुडुचेरी और तमिलनाडु के कई जिलों के स्कूलों में छुट्टी कर दी गई है।

Published by Aditya Mishra Published: December 2, 2019 | 9:42 am
Modified: December 2, 2019 | 11:02 am

चेन्नई: उत्तर-पूर्वी मॉनसून के कारण तमिलनाडु के कई हिस्सों और पड़ोसी राज्य पुडुचेरी में पिछले 24 घंटों में भारी बारिश हुई। सोमवार को भी भारी बारिश की आशंका देखते हुए पुडुचेरी और तमिलनाडु के कई जिलों के स्कूलों में छुट्टी कर दी गई है।

मौसम विभाग ने अगले दो दिनों में और बारिश होने का पुर्वानुमान जताया है। बता दें कि चेन्नै में भारी बारिश के चलते एक व्यक्ति की मौत हो गई। क्षेत्र में भारी वर्षा के पूर्वानुमान के मद्देनजर मद्रास और अन्ना विश्वविद्यालय की परीक्षाएं सोमवार को स्थगित कर दी गई हैं।

तमिलनाडु के आपदा प्रबंधन मंत्री आरबी उदय कुमार ने बताया कि कडलूर जिले में निचले इलाकों से लगभग 800 लोगों को भारी बारिश के बाद निकाला गया है। बचाव दल के जवान चेन्नई, कन्याकुमारी, नीलगिरि, तिरुवल्लूर, कांचीपुरम और डिंडीगुल जिले में बचाव कार्य में जुटे हुए हैं।

कोयंबटूर में भारी बारिश से तीन मकान जमींदोज, 15 की मौत

तमिलनाडु के कोयंबटूर में भारी बारिश से तीन मकान जमींदोज हो गए। मेट्टुपालयम में सोमवार सुबह हुए इस हादसे में अब तक 15 शव बरामद किए जा चुके हैं।

मरने वालों में  3 पुरुष, 10 महिलाएं और 2 बच्चे शामिल हैं। शवों को मेट्टूपालयम सरकारी अस्पताल लाया गया है। जहां पोस्टमॉर्टम किया जाएगा।  मृतकों के नाम हैं-गुरु (45), रामनाथ (20), आनंद कुमार (40), हरिसुधा (16), शिवकामी (45), ओविअम्मल (50), नथिया (30), वैधेगी (20), तिलागवती (50), अरुकानी (55), रुक्मणि (40), निवेता (18), चिन्नामल (70), अक्षय (7) और लोगूराम (7)।

4 लाख रुपये का मुआवजा देगी सरकार

मलबे में दबे बाकी लोगों को निकालने के लिए रेस्क्यू ऑपरेशन चलाया जा रहा है। इसे स्थानीय लोगों की मदद से दमकल विभाग चला रहा है। मेट्टूपालयम में पिछले कई दिनों से भारी बारिश हो रही है। इसके चलते कहीं कहीं से भूस्खलन और पेड़ों के उखड़ने की भी खबर है। भारी बारिश को देखते हुए निलगिरि माउंटेन रेल (एनएमआर) ने दो दिनों के लिए ट्रेन सेवा रोक दी है।

इसे 2 दिसंबर से बंद कर दिया गया है, कुल मिलाकर पिछले 15 दिन से मौसम बेहद खराब होने से इस इलाके में लोगों की परेशानी काफी बढ़ गई है। वहीं, अब तमिलनाडु सरकार इस हादसे में जान गंवाने वाले सभी लोगों के परिजनों को 4 लाख रुपये का मुआवजा देगी।

ये भी पढ़ें…बारिश, धूप या ठंड: एक क्लिक में जानें अपने शहर के मौसम का हाल

मौसम विभाग ने जारी किया भारी बारिश का अलर्ट 

मौसम विभाग ने जानकारी दी है कि अरब सागर में लक्षद्वीप के करीब एक कम दबाव का क्षेत्र बन रहा है। इसके चलते अगले तीन से चार दिनों तक लक्षद्वीप, केरल और कर्नाटक के तटीय इलाकों में अगले 48 घंटे में तेज हवाएं चलेंगी।

वहीं तमिलनाडु में अगले दो दिनों तक भारी बारिश होने की संभावना है। ये बारिश केरल, लक्षद्वीप और आसपास के तटीय इलाकों के साथ ही कर्नाटक के कुछ हिस्सों में भी दर्ज होगी।

इन इलाकों में रहेगा घना कोहरा

मौसम विभाग के मुताबिक तमिलनाडु, केरल, पुडुचेरी, लक्षद्वीप और कर्नाटक के कुछ इलाकों में तेज बारिश के साथ आसमान में बिजली भी देखी जाएगी। वहीं असम, मेघालय, नागालैंड, मणिपुर, मिजोरम और त्रिपुरा में घना कोहरा रहने की संभावना है।

ये भी पढ़ें…कहां होगी बारिश तो कहां बढ़ेंगी ठंड: जानें यूपी समेत इन राज्यों के मौसम का हाल

मछुआरों को दी चेतावनी

मौसम विभाग ने मछुआरों के लिए चेतावनी जारी करते हुए कहा है कि अगले दो दिनों तक मछुआरे समुद्र में न जाएं तो बेहतर होगा। अगले तीन से चार दिनों तक कर्नाटक, केरल और मालद्वीप के आसपास के इलाकों में समुद्र में 50 किलोमीटर प्रति घंटा तक की स्पीड से हवाएं चलेंगी। वहीं इस दौरान समुद्र में काफी हलचल देखी जाएगी।

दिल्ली में रहेगा ये मौसम

दिल्ली में रविवार सुबह आसमान साफ रहा। कुछ जगहों पर सुबह के समय घना कोहरा देखा गया। जमीन पर हवा की स्पीड 20 किलोमीटर प्रति घंटा तक बनी हुई है। अधिकतम तापमान 24 डिग्री और न्यूनतम तापमान 10 डिग्री के करीब रहने की संभावना है।

ये भी पढ़ें…बारिश से मचेगा कहर: यहां पलटा मौसम, इन इलाकों में जबरदस्त बरसात