Top

आलमारी गिरने से हुई थी 2 साल के बच्चे की मौत, ये कम्पनी देगी 331 करोड़

दुनिया की बड़ी फर्नीचर रिटेलर कंपनी आइकिया कपड़े की अलमारी गिरने से हुई बच्चे की मौत के मामले में 331 करोड़ रुपए का मुआवजा देने को तैयार हो गई है।

Aditya Mishra

Aditya MishraBy Aditya Mishra

Published on 9 Jan 2020 3:44 PM GMT

आलमारी गिरने से हुई थी 2 साल के बच्चे की मौत, ये कम्पनी देगी 331 करोड़
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

कैलिफोर्निया: दुनिया की बड़ी फर्नीचर रिटेलर कंपनी आइकिया कपड़े की अलमारी गिरने से हुई बच्चे की मौत के मामले में 331 करोड़ रुपए का मुआवजा देने को तैयार हो गई है।

कैलिफोर्निया में मई 2017 में 2 साल के जोसेफ डडेक पर आइकिया की कपड़े की अलमारी गिर गई। सांस घुटने से जोसेफ की मौत हो गई थी। साल 2016 में भी आइकिया ने तीन परिवारों को 360 करोड़ रुपए का मुआवजा दिया था। इन बच्चों के ऊपर भी इसी स्वीडिश कंपनी की अलमारी गिरने से मौत हो गई थी।

वकील ने कहा कि अमेरिका के इतिहास में गलत तरीके से हुई बच्चे की मौत के मामले में यह अब तक का सबसे बड़ा सेटलमेंट है। बच्चे के माता पिता जोलिन और क्रेग डडेक ने कहा कि हमने सोचा भी नहीं था कि इस 30 इंच के ड्रेसर के गिरने से हमारे 2 साल के बच्चे के साथ ऐसा हो सकता है। बाद में हमको समझ में आया कि यह डिजाइन से ही अस्थिर था।

ये भी पढ़ें...अजब-गजब: एक ऐसा देश जहां पिता कर सकता है बेटी से शादी, पति को है रेप का हक

घरवालों ने नहीं सोचा था अलमारी गिरने से होगी बच्चे की मौत

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक बच्चे के माता-पिता का नाम जोलिन और क्रेग डडेक है। उनका कहना है, 'हमने कभी नहीं सोचा था कि महज 30 इंच के ड्रेसर के गिरने से हमारे दो साल के बच्चे का दम घुट जाएगा। बाद में हमें पता चला कि अलमारी डिजाइन से ही अस्थिर थी और सुरक्षा मानकों को पूरा नहीं करती थी। ऐसा हादसा कई और बच्चों के साथ भी हो चुका था।'

साल 2016 में भी आइकिया ने तीन परिवारों को 360 करोड़ रुपये का मुआवजा दिया था। इन परिवारों के बच्चों के ऊपर भी इसी स्वीडिश कंपनी की अलमारी गिर गई थी, जिससे दबकर उनकी मौत हो गई थी।

ये भी पढ़ें...अजब गजब:जानिए सेना के जवानों के छोटे बाल रखने के पीछे छिपे राज…

ऐसी घटना किसी और के साथ न हो इसलिए परिवार ने उठाया ये कदम

जोलिन और क्रेग डडेक का कहना है कि वो यह केस इसलिए लड़ रहे थे, ताकि दुनियाभर के लोगों को इस घटना के बारे में पता चले और वो सतर्क हो जाएं और ऐसी घटना किसी अन्य परिवार के साथ न हो।

हालांकि इन घटनाओं के बाद सुरक्षा के लिहाज से कंपनी ने 32 किलो वजनी ऐसी लाखों अलमारियों को रिकॉल किया था। यह कंपनी के इतिहास में किसी उत्पाद को वापस मंगाने का सबसे बड़ा मामला था।

आपको बता दें कि आइकिया कंपनी की स्थापना साल 1943 में फिडोर इंगवार कैम्प्रेड ने की थी। उस समय उनकी उम्र महज 17 साल थी। पिछले साल इस कंपनी की आय 3.25 लाख करोड़ रुपये थी।

ये भी पढ़ें...अजब-गजब: यहां ज़िंदा मिसाइलों पर घर बनाते हैं लोग, वजह कर देगी हैरान

Aditya Mishra

Aditya Mishra

Next Story