Top

#IndiaSupportsCAA: अब नागरिकता कानून पर पीएम ने छेड़ी बड़ी मुहिम

नागरिकता संशोधन अधिनियम को लेकर देश में मचे घमासान और जगह जगह हो रही हिंसा के बाद अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीटर पर इसके समर्थन में मुहिम की शुरुआत कर दी है। आधे घंटे पहले पीएम मोदी ने #IndiaSupportsCAA को लेकर ट्वीट किया है, जिसके तुरंत बाद पीएम मोदी का अभियान ट्रेंड में हैं।

Shivani Awasthi

Shivani AwasthiBy Shivani Awasthi

Published on 30 Dec 2019 6:33 AM GMT

#IndiaSupportsCAA: अब नागरिकता कानून पर पीएम ने छेड़ी बड़ी मुहिम
X
India Supports CAA
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

दिल्ली: नागरिकता संशोधन अधिनियम को लेकर देश में मचे घमासान और जगह जगह हो रही हिंसा के बाद अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीटर पर इसके समर्थन में मुहिम की शुरुआत कर दी है। आधे घंटे पहले पीएम मोदी ने #IndiaSupportsCAA को लेकर ट्वीट किया है, जिसके तुरंत बाद पीएम मोदी का अभियान ट्रेंड में हैं।

पीएम ने किया सीएए के समर्थन में ट्वीट:

प्रधानमंत्री मोदी ने अपने ट्वीट में लिखा, ' क्या आपने सद्गुरु द्वारा सीएए से जुड़े पहलुओं की इस स्पष्ट व्याख्या को सुना हैं',उन्होंने ऐतिहासिक तथ्यों और हमारे भाईचारे की संस्कृति पर शानदार ढंग से प्रकाश डाला है। उन्होंने स्वार्थी समूहों की गलत सूचना के बारे में भी बताया।'



पीएम मोदी ने अपने ट्वीट के साथ एक वीडियो भी शेयर किया। इस वीडियो में सद्गुरु नागरिकता कानून और एनआरसी के बारे में बता रहे हैं।

ये भी पढ़ें: सरकार का बड़ा तोहफा: कर्मचारियों की बल्ले-बल्ले, 1.2 करोड़ को मिलेगा फायदा

नमो एप के इस्तेमाल की अपील:

पीएम ने ट्वीट किया , ' क्योंकि सीएए प्रताड़ित शरणार्थियों को नागरिकता देता है और यह किसी की नागरिकता छीनता नहीं है।' उन्होंने आगे लिखा, 'नमो ऐप के वॉलिंटियर मॉड्यूल के वाइस सेक्शन में मजेदार कंटेंट, ग्रॉफिक्स और अन्य को देखने के लिए इस हैशटैग को देखें। पीएम ने अपने ट्वीट में लिखा है कि इस हैशटैग के जरिए सीएए के पक्ष में अपना समर्थन दें। '



गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी नागरिकता कानून (सीएए) के खिलाफ हिंसा करने वालों से कह चुके हैं कि ऐसे लोगों को खुद से सवाल पूछना चाहिए कि क्या उनका रास्ता सही है। बता दें कि 25 दिसंबर को लखनऊ में एक कार्यक्रम में प्रधानमंत्री मोदी ने कहा था, "सीएए के खिलाफ हुए प्रदर्शन में जिस सार्वजनिक संपत्ति को उन्होंने तोड़ा, क्या वह उनके परिवार के काम नहीं आती? इस तरह अफवाहों पर हिंसा करने से उनका खुद का ही नुकसान है। जो इस प्रकार की हिंसा कर रहे हैं, उनको खुद से पूछना चाहिए कि क्या उनका रास्ता सही है।"

ये भी पढ़ें: उद्धव सरकार में अजित पवार का बढ़ा कद, ऐसा होगा मंत्रिमंडल…

Shivani Awasthi

Shivani Awasthi

Next Story