तबलीगी जमात से जौनपुर आए 50 लोग और 14 बांग्लादेशी क्वॉरेंटाइन में रखे गए

दिल्ली के निजामुद्दीन इलाके में मरकज़ तबलीगी धार्मिक कार्यक्रम में शामिल होकर 50 लोग जौनपुर में आये हैं। इनके आने की खबर मिलते ही जिले के प्रशासनिक हलके में हड़कंप मच गया।

जौनपुर: दिल्ली के निजामुद्दीन इलाके में मरकज़ तबलीगी धार्मिक कार्यक्रम में शामिल होकर 50 लोग जौनपुर में आये हैं। इनके आने की खबर मिलते ही जिले के प्रशासनिक हलके में हड़कंप मच गया। जिला प्रशासन ने आनन फानन में सभी को शिया कालेज में बनाये गये क्वारेंटाइन में रखने के बाद इन लोगो की जन्मकुण्डली खंगालने में जुट गया है। इस कार्य की जिम्मेदारी सीआरओ और सीडीओ को सौप दिया गया है। ये दोनो अधिकारी तेज से अपने काम को अंजाम देने में लग गये है।

बता दें कि दिल्ली के निजामुद्दीन इलाके में पिछले दिनों मरकज़ तबलीगी जमात के कार्यक्रम में शामिल होने वाले 24 लोग कोरोना वायरस से संक्रमित होने की खबर मिलने के बाद पूरा देश दहशत के साये में है और चौतरफा हड़कंप मचा हुआ है। इस धार्मिक कार्यक्रम में मलेशिया,अफगानिस्तान, म्यांमार, श्रीलंका समेत तमाम देश के सभी राज्यों से लोग शामिल होने के लिए आये हुए थे। यूपी सरकार के सख्त निर्देश के बाद इसमें शामिल होने वालो की तलाश करने का काम शुरू हो गया है।

यह भी पढ़ें…मुख्तार अब्बास नकवी का बड़ा बयान: कहा-‘तबलीगी जमात का ‘तालिबानी जुर्म..

डीएम दिनेश कुमार सिंह ने बताया कि दो दिन पहले दिल्ली और नोएडा से बस द्वारा लाये गये लोगों की जांच पड़ताल किया तो उसमें पचास लोग ऐसे पाये गये हैं जो तबलीगी जमात में शामिल होकर लौटे हैं। इन लोगों को शिया कालेज में क्वारेंटाइन रखा गया है। उनके स्वास्थ्य परीक्षण किया जा रहा है। साथ इन लोगों का पता, ठीकाना और दिल्ली कब गये, वहां से कहां कहां गये थे सहित अन्य बिन्दुओं की जांच मुख्य विकास अधिकारी,अपर जिला अधिकारी भू एवं राजस्व से जांच करायी जा रही है।मजांच रिपोर्ट आने के बाद अगला कदम उठाने पर विचार किया जा सकेगा।

यह भी पढ़ें…नेपाल में चीनी नागरिकों और नेपाली लोगों में झड़प, लगे जमकर नारे

इसी क्रम में नगर के लालदरवाजा स्थित बेगमगंज से एक मौलाना के किराए के मकान से केंद्रीय खुफिया एजेंसी की इनपुट पर पुलिस ने कार्रवाई करते हुए 14 बंगलादेशी जमात के लोगों के साथ दो गाइड को गिरफ्तार किया है।

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार केंद्रीय खुफिया विभाग को जानकारी मिली कि उक्त स्थान पर केराकत कोतवाली के डेहरी का स्थायी निवासी मौलाना मुजीब अकील किराये पर मकान लिया है। उस मकान में 14 बंगलादेशी समेत झारखंड और पश्चिम बंगाल के नागरिक कई दिनों से जमात में भाग लेने के लिए आकर ठहरे हैं। उक्त सूचना पर क्षेत्राधिकारी सदर और थाना प्रभारी सरायख्वाजा ने पुलिस बल के साथ छापेमारी की तो उक्त मकान से 14 बंगलादेशी तथा झारखंड और पश्चिम बंगाल के नागरिक ठहरे मिले।

यह भी पढ़ें…मरकज मामले की जांच करेगी क्राइम ब्रांच, आयोजकों के खिलाफ एफआईआर दर्ज

वहां रुके बंगलादेशी नागरिक हाजी हफीजुर्रहमान इमाम के अलावा रफीकुल इस्लाम, मैनुद्दीन नईम, इस्माइल, नूरुद्दीन साहिल,अमीनुल इस्लाम, महबूबरहमान,अरिमूल इस्लाम,रौशन अहमद,आलमीन,ए के फैजुल हक,आकिब हसन महबूब, फिरदौस, सैफुल इस्लाम के साथ ही झारखंड के यासिन अंसारी, तथा पश्चिम बंगाल के मो0अबुल मोटालिब को गिरफ्तार किया है।उक्त लोगो को सरायख्वाजा पुलिस, स्वास्थ विभाग की टीम के साथ थाने पर ले गयी है। ज़िला प्रशासन मौलाना और जमात के खिलाफ कार्यवाही करने की तैयारी में जुट गया है।