नेपाल में चीनी नागरिकों और नेपाली लोगों में झड़प, लगे जमकर नारे

नेपाल में एक प्रोजेक्ट पर काम कर रहे स्थानीय और चीन के लोगों में झड़प की खबर है। मंगलवार को कोलामजुंग में जलविद्युत संयंत्र का निर्माण करने वाली एक चीनी कंपनी के मालिकों और नेपाल के मार्यांगडी के स्थानीय लोगों के बीच झड़प हो गई।

नई दिल्ली: नेपाल में एक प्रोजेक्ट पर काम कर रहे स्थानीय और चीन के लोगों में झड़प की खबर है। मंगलवार को कोलामजुंग में जलविद्युत संयंत्र का निर्माण करने वाली एक चीनी कंपनी के मालिकों और नेपाल के मार्यांगडी के स्थानीय लोगों के बीच झड़प हो गई।

झड़प उस समय हुई जब ग्रामीणों ने लामजुंग जिले के मंगरंगी ग्रामीण नगर पालिका-6 में थुलोबेसी स्थित न्यादी जलविद्युत परियोजना के लिए निर्माण सामग्री ले जाने वाले ट्रकों की आवाजाही का विरोध करने लगे।

यह भी पढ़ें…मरकज मामले की जांच करेगी क्राइम ब्रांच, आयोजकों के खिलाफ एफआईआर दर्ज

एक मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक लोगों ने गो बैक टू चीन के नारे भी लगाए। स्थानीय लोग इसलिए विरोध कर रहे हैं क्योंकि ये सभी चीन से वापस लौटे हैं। चीन में कोरोना वायरस फैला हुआ है और इसके लिए उसको जिम्मेदार बताया जा रहा है।

यह भी पढ़ें…मुफ्त राशन के लिए भीड़ हुई बेकाबू: मची छीना-झपटी, बाल-बाल बचे एसडीएम

नवंबर 2019 में चीन के वुहान में इसका पहला मामला सामने आया था। वहां से यह वायरस पूरी दुनिया में फैला और अब तक 30 हजार से अधिक लोगों की जान चुकी है और 8 लाख से अधिक लोग संक्रमित हो चुक हैं।

यह भी पढ़ें…आलिशान होटल गरीबों का नया ठिकाना, इस सरकार ने लिया बड़ा फैसला

गांववालों ने चीनी नागरिकों को अपने गांव में जाने से रोक दिया है। लेकिन जब जल विद्युत संयंत्र की निर्माण सामग्री में इस्तेमाल किए जा रहे दो ट्रकों ने ब्लॉकेज (रोकने के लिए लगाई गई तारों) को हटाकर गांव में प्रवेश करने की कोशिश की तो गुस्साए युवक बाहर निकलकर विरोध करने लगे।

चीनी नागरिकों ने स्थानीय लोगों को धमकाया और स्वदेशी खंजर ‘खुखरी’ दिखाए। इसके बाद और मामला गर्म हो गया।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App