बाराबंकी मामले में योगी सरकार पर आक्रामक हुये अखिलेश, कह दी ये बड़ी बात

बुलंदशहर में पांच लाख की फिरौती के लिए तीन मासूम बच्चों की हत्या कर दी गई। राजधानी लखनऊ में ही सर्राफा व्यापारियों से लूट और उनकी हत्या की कई घटनाओं का खुलासा भी नहीं हो सका।

लखनऊ: समाजवादी पार्टी ने बाराबंकी में जहरीली शराब से हुई मौतों पर योगी सरकार पर हमला करते हुये कहा है कि प्रदेश में कानून का राज समाप्त हो गया है।

पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि चुनाव खत्म होते ही उत्तर प्रदेश अराजकता की भेंट चढ़ गया है। उन्होंने प्रदेश सरकार से मृतकों के परिजनों को 20-20 लाख रुपए की मदद देने की मांग करते हुये कहा कि मृतकों के प्रति संवेदना के स्थान पर भाजपा का इसमें भी राजनीति देखना शर्मनाक है।

ये भी पढ़ें— कोर्ट ने राज्य सरकार से मांगा जवाब: स्वास्थ्य केंद्रों को कितना फंड दे रही है सरकार

सपा मुखिया ने मंगलवार को कहा कि जहरीली शराब से मौत का सिलसिला जारी है। एक बार फिर लगभग डेढ दर्जन मौतें तो सिर्फ बाराबंकी में जहरीली शराब से हो गयी। एक दर्जन लोग अस्पताल में जिन्दगी-मौत से जूझ रहे है। यह नकली शराब सरकारी ठेके से ही बेची गई। आबकारी और पुलिस विभाग की नाक के नीचे मौत का व्यापार चलता रहा। भाजपा सरकार के दो वर्ष के कार्यकाल में नकली शराब से ही सैकड़ों मौते होना संवेदनहीनता की पराकाष्ठा है।

अखिलेश ने कहा कि उत्तर प्रदेश में सुशासन का ढोंग करने वालों का सच सामने आता जा रहा है। कानून-व्यवस्था के हालात बद से बदतर हैं। मुख्यमंत्री के दावे के विपरीत न तो अपराधी प्रदेश छोड़कर बाहर जा रहे हैं और नहीं वे जेल में कड़ी निगरानी में रह रहे हैं। जेल में भी माफियाओं के दरबार लग रहे हैं। जेलों के अन्दर बंदियों की हत्या, उन पर हमले तथा माफिया किस्म के अपराधियों द्वारा वहां से भी वसूली और हत्या की वारदातों का संचालन होने के समाचार मिल रहे हैं।

ये भी पढ़ें— स्वास्थ्य विभाग में भ्रष्टाचार बर्दाश्त नहीं: सिद्धार्थनाथ सिंह

उन्होंने कहा कि प्रदेश में कोई दिन ऐसा नहीं जाता जब हत्या, लूट, अपहरण और दुष्कर्म की घटनाएं न घटती हों। ऐसा लगता है प्रदेश में कानून का राज समाप्त है। मुख्यमंत्री के बड़बोलेपन से अपराधियों में कतई खौफ नहीं है बल्कि पुलिस को ही अपराधियों का ज्यादा खौफ रहता है। कई जगहों पर दबंगं अपराधियों ने पुलिस पर ही हमला कर दिया। पुलिस ने एनकाउण्टरों के नाम पर जो फर्जी कार्रवाइयां की उनकी कलई जांच पड़ताल में खुल गई।

अखिलेश ने कहा कि सोमवार को ग्रेटर नोएडा में एनटीपीसी-दादरी रोड पर सपा नेता सुरेन्द्र नागर की कम्पनी के 65 लाख रुपए लूट लिए गए। नजीवाबाद में बसपा नेता एहसान अहमद की दिनदहाड़े गोली मारकर हत्या कर दी गई। बुलंदशहर में पांच लाख की फिरौती के लिए तीन मासूम बच्चों की हत्या कर दी गई। राजधानी लखनऊ में ही सर्राफा व्यापारियों से लूट और उनकी हत्या की कई घटनाओं का खुलासा भी नहीं हो सका।

ये भी पढ़ें— पाटलिपुत्र-चंडीगढ़ एक्सप्रेस सहित कई ट्रेनें जून में रद्द