अखिलेश यादव का हमला, कहा- आरएसएस को अफवाह फैलाने में महारत हासिल

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने आरोप लगाया है कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ को अफवाह फैलाने में महारत हासिल है। अखिलेश ने कहा है कि इन दिनों उत्तर प्रदेश में अफवाहों के चलते कानून-व्यवस्था की स्थिति बिगड़ती जा रही है। इन अफवाहों के पीछे कोई तथ्य या औचित्य नहीं होता है।

लखनऊ: समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने आरोप लगाया है कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ को अफवाह फैलाने में महारत हासिल है। अखिलेश ने कहा है कि इन दिनों उत्तर प्रदेश में अफवाहों के चलते कानून-व्यवस्था की स्थिति बिगड़ती जा रही है। इन अफवाहों के पीछे कोई तथ्य या औचित्य नहीं होता है। इनका एकमात्र मकसद परस्पर अविश्वास को बढ़ाना तथा हिंसा को उकसाना होता है और इसमें सांप्रदायिकता का रंग भी मिला दिया जाता है। उन्होंने कहा कि इस मामले में अपने देश में राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ को महारत हासिल है।

यह भी पढ़ें…सुस्त विकास दर: मंदी की ओर बढ़ रहा भारत, कैसे रोकेगी मोदी सरकार

सपा अध्यक्ष ने शुक्रवार को उदाहरण देते हुए बताया कि अभी पिछले दिनों भीड़ ने अपने पोते के साथ जा रही दादी की पीट-पीट कर हत्या कर दी। आजमगढ़, बुलंदशहर, गाजियाबाद, सहारनपुर, दनकौर रामपुर, मेरठ, मोदीनगर, अम्बेडकर नगर में भी ऐसी घटनाएं घटी हैं।

यह भी पढ़ें…पीएम मोदी के प्रिंसिपल सेक्रेटरी होंगे सेवामुक्त, जानिए कौन हैं नृपेंद्र मिश्रा

बच्चा चोर की सिर्फ अफवाहों के चलते भीड़ में फंसकर कई लोग बुरी तरह पिट गए हैं। कुछ जगहों पर तो असामाजिक तत्वों ने अफवाहें फैलाकर लोगों की अपमानित-प्रताड़ित करने का धंधा शुरू कर दिया है। उन्होंने कहा कि माॅब लिंचिंग की घटनाएं भी इसी अफवाह का दुखद नतीजा है।

यह भी पढ़ें…देशभर में मचा हड़कंप: PM मोदी के आदेश पर 150 जगहों पर CBI का छापा

अखिलेश ने कहा कि माइक्रोसाफ्ट अंतर्राष्ट्रीय संस्था है जिसने 22 देशों में सर्वे किया और फर्जी खबरों के मामले में भारत को शीर्ष स्थान दिया है। अफवाहों के कारण भारत की छवि विश्व में खराब हुई है। इससे विश्वसनीयता पर भी आंच आती है। उन्होंने कहा कि बात सिर्फ यही नहीं है कि भाजपा-संघ मिलकर अफवाहों को हवा दे रहे हैं अपितु शीर्ष प्रशासकीय स्तर पर भी भ्रम फैलाया जा रहा है।

यह भी पढ़ें…PNB में मर्ज हुए OBC-UBI, अब 27 से 12 हो गए पब्लिक सेक्टर के बैंक

राज्य में ढाई साल की भाजपा सरकार युवाओं को रोजगार देने के बजाय उनकी नौकरियां छीनकर उन्हें लाठियों से पीट रही है। सरकार के मुखिया पहले तय कर लें कि उन्हें किस आंकड़े पर कायम रहना है। आधी सरकार खत्म होते ही 28 लाख रोजगार का तथाकथित आंकड़ा अब 14 लाख पर आकर आधा हो गया है। सपा मुखिया ने कहा कि भाजपा-संघ द्वारा फैलाए जा रहे भ्रम का अंत आखिर कब होगा।