×

अखिलेश का BJP पर हमला, सरकार पर लगाया विफलता छिपाने का आरोप

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा है कि जनता की बदहाली, अर्थव्यवस्था की बिगड़ती स्थिति तथा नौजवानों में बढ़ती हताशा पर ध्यान देने के बजाय...

Ashiki
Published on: 27 Jun 2020 4:06 PM GMT
अखिलेश का BJP पर हमला, सरकार पर लगाया विफलता छिपाने का आरोप
X
akhilesh yadav
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

मनीष श्रीवास्तव

लखनऊ: समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा है कि जनता की बदहाली, अर्थव्यवस्था की बिगड़ती स्थिति तथा नौजवानों में बढ़ती हताशा पर ध्यान देने के बजाय केन्द्र व राज्य की भाजपा सरकारें अव्यवहारिक और अवास्तविक अभियान चलाकर अपनी विफलता को छुपाना चाहती हैं। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री बस एक दूसरे की प्रशंसा कर के खुश हो रहे है। उनके अच्छे दिन चल रहे हैं जबकि जनता दुखी, हताश और निराश है।

ये भी पढ़ें: नेपोटिज्म विवाद में उलझे करन जौहर का बड़ा कदम, दीपिका के मनाने पर भी नहीं माने

जनता को बहकाने का काम सुनियोजित तरीके से किया जा रहा

सपा अध्यक्ष ने शनिवार को कहा कि यूपी में भाजपा सरकार ने अब तक मजदूरों के दर्द को इवेन्ट बनाने और विकास का काम तमाम करने का ही काम किया है। भाजपा की राज्य सरकार का सत्ता में चैथा वर्ष चल रहा हैं, इस अवधि में वह जनहित की एक भी योजना सामने नहीं ला सकी है। जनता को केवल बहकाने का काम सुनियोजित तरीके से किया जा रहा है।

ये भी पढ़ें: डिब्बाबंद दूध पर अलर्टः बच्चों को न दें इसे, पोषण पैकेट में न करें इसका इस्तेमाल

अखिलेश ने भाजपा सरकार पर मजदूरों की मुसीबतों को अपने राजनीतिक हित साधने में प्रयोग करने का आरोप लगाते हुए कहा कि गोण्डा, बस्ती, गोरखपुर, बहराइच, संतकबीरनगर और जालौन के मजदूर बता रहे हैं कि उन्हें रोजगार नहीं मिला है, सरकार ने सिर्फ कागजों पर ही रोजगार दिया है। उन्होंने कहा कि मनरेगा में जनता को नाम मात्र के अस्थायी रोजगार का दिलासा देने की जगह भाजपा बताये कि तथाकथित इन्वेस्टमेन्ट मीट्स और डिफेंस एक्सपो के बाद हुए कितने करार सच में बैंकों के सहयोग से जमीन पर उतरे हैं और उनसे कितनों को रोजगार मिला है?

भाजपा सपा सरकार के कामों पर पर्दा डालने की साजिश करती आई है

उन्होंने कहा कि राजनीतिक बदले की भावना के तहत भाजपा सरकार सपा सरकार के कामों पर पर्दा डालने की साजिश करती आई है। राजधानी लखनऊ में जो विश्वस्तरीय निर्माण होने थे उनमें भी बाधा डाली जा रही है। अत्याधुनिक जेपी सेन्टर भाजपा की कुदृष्टि का शिकार है। 812 करोड़ रुपए की लागत से निर्माणाधीन बेजोड़ इन्फ्रास्ट्रक्चर को मुख्यमंत्री ने 130 करोड़ रुपए न देकर खण्डहर बना दिया है। भाजपा का काम राजनीतिक द्वेषवश सपा सरकार के अच्छे कामों को बिगाड़ना है। क्योंकि वह खुद तो जनहित में कोई उल्लेखनीय योजना या स्तरीय भवन नहीं बना सकी है।

ये भी पढ़ें: पैंट उतार दी थी इस महान फुटबॉलर ने, बेइज्जत बेटियां अब करेंगी कोर्ट में केस

सपा मुखिया ने कहा कि भाजपा सरकार की किसान विरोधी नीतियां किसानों के लिए काल बन गई है। उत्तर प्रदेश भर में गेहूं खरीद के लटके बकाये से किसान बेहाल हैं, झांसी मण्डल में 89 करोड़ रुपये का बकाया है। मक्का की फसल बर्बाद हो गयी। गन्ना का 17000 करोड़ रुपये का बकाया का भुगतान नहीं मिला। फल-सब्जी खेतों में सड़ गयी। चार माह में आंधी-तूफान, ओलावृष्टि और बिजली गिरने से सैकड़ों किसानों की दुखद मौत पर भी भाजपा सरकार ने पर्याप्त मुआवजा नहीं दिया। और अब मंहगे डीजल से परेशानी बढ गयी है, खेती-किसानी का बजट बिगड़ गया है और परिवहन की महंगाई से घरेलू उपयोग की चीजों पर भी असर पडना तय है।

ये भी पढ़ें: जल जीवन मिशन: गोवा में जल सेवा आपूर्ति की होगी सेंसर आधारित निगरानी

Ashiki

Ashiki

Next Story