लोकसभा चुनाव बाद UP में आई कमजोरों व बच्चियों की हत्याओं की बाढ़: अखिलेश

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि लोकसभा चुनावों के बाद से ही यूपी में कमजोरों और बच्चियों की हत्याओं की बाढ़ आ गई है। कोई दिन ऐसा नहीं जाता जब हत्या, लूट, अपहरण की वारदातें नहीं होती है। महिलाओं और बच्चियों के साथ दुष्कर्म की घटनाएं निंदनीय हैं। समाज के सभी वर्गों में भय है।

फाइल फोटो

लखनऊ: समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि लोकसभा चुनावों के बाद से ही यूपी में कमजोरों और बच्चियों की हत्याओं की बाढ़ आ गई है। कोई दिन ऐसा नहीं जाता जब हत्या, लूट, अपहरण की वारदातें नहीं होती है। महिलाओं और बच्चियों के साथ दुष्कर्म की घटनाएं निंदनीय हैं। समाज के सभी वर्गों में भय है।

यह भी पढ़ें…तहसील दिवस में फरियादी करते रहे इंतजार, आलाधिकारी रहे गायब

सपा मुखिया ने मंगलवार को प्रतापगढ़ के पट्टी कोतवाली क्षेत्र के रामपुर वेला गांव निवासी विनय कुमार सरोज उर्फ बबलू की निर्मम हत्या पर गहरा दुख और क्षोभ व्यक्त करते हुए कहा है कि इस हत्याकांड से लोग डरे सहमें हैं। दलित की नृशंस हत्या से इलाके में सामाजिक तनाव व्याप्त है। दो दिन बीत गए हत्या के आरोपियों को गिरफ्तार करने में पुलिस नाकाम रही है।

यह भी पढ़ें…शर्माजी ने ली पाकिस्तान टीम की चुटकी, बच्चन साहेब को बहुत मजा आया

उन्होंने कहा कि बीती 12 जून की रात अयोध्या निवासी मनोज कुमार शुक्ला का अपहरण कर बदमाशो ने उनकी हत्या कर दी। उनका शव गोंडा में रेलवे टैªक पर मिला जो क्षत-विक्षत हो गया था। अपराधी पकड़ से बाहर है। प्रयागराज में झूसी के चक हरिहरन तिराहा पर सुबह साढ़े सात बजे जिला पंचायत सदस्य राजकुमार पर गोलियां बरसाई गईं। आठ शूटरों ने 25 सेकेण्ड में कई राउण्ड गोलियां चलाईं। बाराबंकी के रामनगर इलाके में अमराई गांव में एक गर्भवती युवती 21 वर्षीया रजनी देवी का शव छप्पर में लटका मिला। संडीला (हरदोई) के ग्राम मीतो निवासी 65 वर्षीय अम्बर का शव लहूलुहान हालत में बरामद हुआ। संडीला कोतवाली क्षेत्र के ग्राम वीरपुर गांव में एक युवती से दो लोगों ने जबरन दुष्कर्म किया।

यह भी पढ़ें…तमंचे पर डिस्को गाने की कर रहे थे डिमांड, तभी बाउंसरों ने दिया ‘धुन’

सपा अध्यक्ष ने कहा कि अभी गत सप्ताह ही राज्यपाल राम नाईक से मिलकर उन्हें राज्य में निर्दोष लोगों की हत्याओं और बच्चियों से बलात्कार तथा हत्या की रिपोर्ट सौंपी थी। राज्यपाल से त्वरित कार्यवाही की अपेक्षा थी लेकिन स्थिति तो जहां की तहां है। प्रदेश में अपराधी भयमुक्त हैं। वे बेखौफ पुलिस बल पर भी हमलावर हो रहे हैं। राजधानी में भी अपराधिक गतिविधियों पर कोई रोक नहीं है। प्रदेश में अराजकता है।