LIVE भूमि पूजन: सीएम योगी ने जलाएं दिए, सरयू घाट पर मनाया गया दीपोत्सव

अयोध्या के हर कोने को सजा दिया गया है इसी के साथ सुरक्षा के कड़े इंतजाम भी किए गए हैं। गौरतलब है कि प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को अयोध्या पहुंचकर तैयारियों का जायजा लिया था।

Published by SK Gautam Published: August 4, 2020 | 2:42 pm
Modified: August 4, 2020 | 9:10 pm

अयोध्या: अयोधया में राम मंदिर के निर्माण की शुरुआत की घड़ी अब नजदीक आ गयी है। राम मंदिर के भूमि पूजन की तैयारियां लगभग पूरी हो चुकी हैं। बस कुछ की घंटों बाद देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भूमि पूजन करेंगे। भूमि पूजन के बाद राम मंदिर निर्माण का रास्ता बिलकुल साफ़ हो जायेगा और राम मंदिर निर्माण का कार्य तेज़ी से शुरू हो जायेगा।

सुरक्षा के कड़े इंतजाम

बता दें कि पीएम मोदी बुधवार सुबह 11 बजे के आसपास अयोध्या पहुंचेंगे और करीब तीन घंटे तक वहां पर रुकेंगे। अयोध्या में मेहमानों का आना भी शुरू हो गया है, आज शाम तक अयोध्या की सीमाएं सील कर दी जाएंगी। अयोध्या के हर कोने को सजा दिया गया है इसी के साथ सुरक्षा के कड़े इंतजाम भी किए गए हैं।

गौरतलब है कि प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को अयोध्या पहुंचकर तैयारियों का जायजा लिया था। इस भूमि पूजन में कोरोना को देखते हुए संक्रमण से बचने के लिए सारे नियमों का ख्याल भी रखा जा रहा है।


Live Update…..

सीएम योगी ने जलाएं दिए, सरयू घाट पर मनाया गया दीपोत्सव

भूमिपूजन के वक्त 12:44 से 12:45 मिनट के बीच बेहद महत्वपूर्ण वो 1 मिनट

अयोध्या में भूमिपूजन के वक्त 12:44 से 12:45 मिनट के बीच का 1 मिनट बेहद महत्वपूर्ण है। इसी 1 मिनट में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मुख्य कुर्मशिला पर नवरत्न जड़ित, पंचधातु निर्मित कमलपुष्प सहित, पुष्पाक्षत अर्पण करके प्रतिष्ठा पयामि् का उच्चारण करके, भूमिपूजन का कार्य पूर्ण करेंगे।

राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत ने कहा-

राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत ने कहा कि 5 अगस्त को होने वाला कार्यक्रम प्रधानमंत्री के लिये साहस दिखाने तथा लोगों को यह संकल्प लेने के लिये कहने का एक अवसर है कि मानवता पर लगे छुआछूत के कलंक को मिटायें तथा दलितों, आदिवासियों और पिछड़ों के साथ समानता का व्यवहार करें। ऐसा करके हम मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्रीराम के आदर्शों को पूरा कर सकते हैं और उनकी भावना पर खरे उतर सकते हैं।

आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत पहुंच गए हैं

आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत और भैयाजी जोशी अयोध्या पहुंच गए हैं। वह यहां पर भूमिपूजन कार्यक्रम में शामिल होंगे।

संघ के प्रमुख अयोध्या के लिए रवाना

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रमुख मोहन भागवत लखनऊ से अयोध्या के लिए रवाना हो गए हैं। बता दें कि संघ प्रमुख मोहन भागवत कल होने वाले भूमिपूजन कार्यक्रम में शिरकत करेंगे।

बढ़ाई गई अयोध्या सुरक्षा, राम जन्मभूमि क्षेत्र को रेड जोन घोषित किया गया

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अयोध्या पहुंचने से पहले सुरक्षा बढ़ाई गई है। राम जन्मभूमि क्षेत्र को रेड जोन घोषित कर दिया गया है, साथ ही मॉक ड्रिल भी की गई है।

सामने आई राम मंदिर के नए मॉडल की तस्वीर

राम मंदिर का भूमि पूजन तो बुधवार को होना है लेकिन इससे पहले मंगलवार को ही नए मॉडल की तस्वीर सामने आ गई है।

शिवसेना के कार्यकर्ता बाल ठाकरे की समाधि से मिट्टी लेकर अयोध्या पहुंचे हैं।

राजस्थान के राज्यपाल कलराज मिश्र ने दी बधाई

राजस्थान के राज्यपाल कलराज मिश्र ने बयान जारी किया कि लोग राम मंदिर का सांस्कृतिक एकता, राष्ट्रीय एकता और अखंडता, वसुधैव कुटुंबकम की दृष्टि से अनुभव करेंगे। हमारा राम जन्मभूमि पर राम मंदिर बनाने का सपना और प्रतिबद्धता पूरी हो रही है। मैं भारत के वर्तमान प्रधानमंत्री को विशेष रूप से बधाई देता हूं।

पीएम मोदी का स्वागत साफा, मुकुट और गदा से होगा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के स्वागत की तैयारी पूरी कर ली गई है। पीएम मोदी सबसे पहले हनुमान गढ़ी पहुंचेंगे और यहां हनुमानजी का दर्शन करेंगे। हनुमान गढ़ी में पीएम मोदी का स्वागत साफा, मुकुट और गदा से होगा।

ये भी देखें:  राम सबके हैं और सबका कल्याण चाहते हैं: प्रियंका गांधी

सुरक्षा एक अहम विषय है-DIG दीपक कुमार

DIG दीपक कुमार ने कहा कि एक तरफ अयोध्या के मन की परिकल्पना 5 अगस्त को पूरी हो रही है, इस वजह से पूरा भक्तिमय माहौल है। दूसरी तरफ सुरक्षा एक अहम विषय है। इन दोनों में हमें तालमेल बैठाना है। हम लोगों और संतों से अनुरोध कर रहे हैं कि आप लोग घर या मंदिर में रहें। सिर्फ अतिथियों और ट्रस्ट के लोगों को जाने की अनुमति होगी।

भूमि पूजन में विनय कटियार भी शामिल नहीं होंगे

अयोध्या में होने वाले भूमि पूजन में विनय कटियार भी शामिल नहीं होंगे। विनय कटियार ने चंपत राय को भूमि पूजन कार्यक्रम में शामिल ना होने की जानकारी दी है। उनका कहना है कि उनका स्वास्थ्य ठीक नहीं है, ऐसे में वो घर से ही भूमि पूजन का कार्यक्रम देखेंगे।

योगगुरु रामदेव भी अयोध्या के लिए रवाना

योगगुरु रामदेव भी अयोध्या के लिए रवाना हो गए हैं। रामदेव ने एक वीडियो ट्वीट करते हुए लिखा कि श्रीराम की जन्मभूमि अयोध्या के लिये हम प्रस्थान कर रहे हैं और हमें सौभाग्य मिला है की हमारी आंखों के सामने, हमें दिव्य भव्य राममंदिर के शिलान्यास में सम्मिलित होने का यह अवसर मिला है।

मेहमानों का आना शुरू

भूमि पूजन में शामिल होने के लिए मेहमानों का आना शुरू हो गया है। संघ प्रमुख मोहन भागवत भी लखनऊ पहुंच गए हैं, यहां से ही वो अयोध्या के लिए रवाना होंगे।

ये भी देखें:  राममंदिर निर्माण: गंगातट पर दिन रात हो रहा यज्ञ, इनकी तपोभूमि हुई राममय

गुजरात के सात संतों को न्योता

गुजरात के सात संतों को भूमि पूजन का न्योता मिला है। सभी संत अहमदाबाद से अयोध्या के लिए रवाना हुए। संत करीब सात किलो चांदी लेकर निकले हैं। जिसे वो ट्रस्ट को भेंट देंगे।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी श्रीरामजन्मभूमि पर क्रॉसिंग गेट तीन से एंट्री ले सकते हैं। इस इलाके में सुरक्षा को बढ़ा दिया गया है।

भूमि पूजन से पहले आज अयोध्या में विशेष पूजा की जा रही है। हनुमान गढ़ी में पूजा हो रही है, साथ ही शंखनाद कर दिया गया है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बुधवार को करीब 11.30 बजे अयोध्या पहुंचेंगे। पीएम तीन घंटे तक अयोध्या में रहेंगे।

करीब 135 संत शामिल हैं जो देश के अलग-अलग हिस्सों से आएंगे

बुधवार को दोपहर करीब 12 बजे के आसपास भूमि पूजन होना है, लेकिन उससे पहले आज ही सभी मेहमान अयोध्या पहुंच जाएंगे। सुरक्षा की दृष्टि से मंगलवार शाम को अयोध्या की सीमाएं सील हो जाएंगी। श्रीराम मंदिर के ट्रस्ट की ओर कुल 175 लोगों को भूमि पूजन के लिए निमंत्रण भेजा गया है, इनमें करीब 135 संत शामिल हैं जो देश के अलग-अलग हिस्सों से आएंगे। हर निमंत्रण कार्ड पर एक कोड है, जो सुरक्षा के चलते तैयार किया गया है।

ये भी देखें:  मूंछे वाले भगवान राम: ऐसा होगा रामलला का अवतार, अब इस पर मचा बवाल

ट्रस्ट की ओर से सबसे पहला न्योता इकबाल अंसारी

ट्रस्ट की ओर से सबसे पहला न्योता इकबाल अंसारी को दिया गया, जो सुप्रीम कोर्ट में बाबरी मस्जिद की ओर से पक्षकार थे। इकबाल अंसारी भूमि पूजन के दिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का स्वागत भी करेंगे। इनके साथ ही राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रमुख मोहन भागवत को विशिष्ट अतिथि के तौर पर बुलाया गया है, राम मंदिर आंदोलन की अगुवाई करने वाले अशोक सिंघल के परिवार के सदस्यों को भी बुलाया गया है।

राम मंदिर आन्दोलन के ये दिग्गज नहीं हो सकेंगे शामिल

कोरोना वायरस महामारी के चलते काफी सावधानी बरती जा रही है। इसलिए 90 साल से अधिक के लोगों को नहीं बुलाया जा रहा है, ऐसे में भाजपा के दिग्गज लालकृष्ण आडवाणी, सुप्रीम कोर्ट में रामलला का केस लड़ने वाले के. परासरण जैसे बड़े लोग नहीं आ पाएंगे। हालांकि, इनके लिए वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग की व्यवस्था की जा रही है। इनके अलावा कल्याण सिंह, उमा भारती, मुरली मनोहर जोशी जैसे दिग्गज भी कोरोना संकट के कारण कार्यक्रम में नहीं पहुंचेंगे।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App