हो जाएँ सावधान: 5 हजार लोगों पर जुर्माना लगाया गया, अब पहन लें मास्क

अपर मुख्य सचिव अवनीश कुमार अवस्थी ने बताया कि प्रथम चरण में विभिन्न प्रदेशों से 60 हजार से अधिक छात्र-छात्राओं एवं अन्य लोगों को रोडवेज बस के माध्यम से प्रदेश में लाया गया है।

लखनऊ। प्रदेश में मास्क को अनिवार्य कर दिया गया है। अब तक सार्वजनिक स्थानों पर मास्क न पहनने वाले 5 हजार लोगों पर जुर्माना लगाया गया है। कोरोना वायरस को ध्यान में रखकर प्रदेश में लाॅक डाउन अवधि में अब तक धारा 188 के तहत 54,837 लोगों के विरूद्ध एफआईआर दर्ज की गई। प्रदेश में अब तक 44,67,997 वाहनांे की सघन चेकिंग में 44,532 वाहन सीज किये गये।

ये भी पढ़ें… BJP नेता का निधन: पार्टी में शोक की लहर, पूर्व सांसद भी रह चुके हैं

हरियाणा से 4452, राजस्थान से 355

अपर मुख्य सचिव अवनीश कुमार अवस्थी ने बताया कि प्रथम चरण में विभिन्न प्रदेशों से 60 हजार से अधिक छात्र-छात्राओं एवं अन्य लोगों को रोडवेज बस के माध्यम से प्रदेश में लाया गया है।

द्वितीय चरण में हरियाणा से 4452, राजस्थान से 355 एवं मध्य प्रदेश से 1440 रोडवेज बसों के माध्यम से 2,17,685 लोगों को लाया गया है।

उन्होंने बताया कि विभिन्न माध्यमों से लगभग 20 लाख से अधिक प्रवासी कामगार अब तक प्रदेश में आ चुके हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश में कहीं भी, किसी भी जनपद में कोई पैदल यात्रा न करे।

ये भी पढ़ें…देखें ये भयानक विमान हादसा: दुर्घटनाग्रस्त विमान ने 4-5 घरों को लिया चपेट में

2,52,660 वाहनों के परमिट जारी

प्रवासी श्रमिक स्वयं तथा अपने परिवार को जोखिम में डालकर पैदल अथवा अवैध व असुरक्षित वाहन से घर के लिए यात्रा न करें। सरकार समस्त प्रवासी कामगारों के लिए सुरक्षित यात्रा हेतु पर्याप्त बस एवं टेªन की व्यवस्था कर रही है।

अवस्थी ने बताया कि उन्होंने बताया कि चेकिंग अभियान के दौरान लगभग 20.63 करोड़ रूपए का शमन शुल्क वसूल किया गया। आवश्यक सेवाओं हेतु कुल 2,52,660 वाहनों के परमिट जारी किये गये हैं।

उन्होंने बताया कि कालाबाजारी एवं जमाखोरी करने वाले 825 लोगों के खिलाफ 639 एफआईआर दर्ज करते हुए 300 लोगों को गिरफ्तार किया गया है।

आरोग्य सेतु अलर्ट जनरेट

उन्होंने बताया कि प्रदेश के 794 हाॅटस्पाॅट क्षेत्र के 464 थानान्तर्गत 7,63,373 मकान चिन्हित किये गये। इनमें 44,77,322 लोगों को चिन्हित किया गया है। इन हाॅटस्पाॅट क्षेत्रों में कोरोना पाॅजिटिव पाये गये लोगों की संख्या 2071 है।

ये भी पढ़ें…भारत-अमेरिका अलर्ट: चीन बना रहा ये खतरनाक प्लान, नहीं आ रहा बाज

उन्होंने बताया कि अब तक 3238 मरीज पूरी तरह से उपचारित हो चुके हैं। उन्होंने बताया कि कल 928 पूल टेस्ट किये गये। उन्होंने बताया कि आरोग्य सेतु अलर्ट जनरेट होने पर लोगों को कन्ट्रोल रूम से काॅल किया जा रहा है।

सैम्पल इकट्ठा कर जांच की जा रही

अब तक कुल 29,010 लोगों को फोन कर उनके स्वास्थ्य के बारे में जानकारी ली गयी है। उन्होंने बताया कि आशा वर्कर्स द्वारा प्रवासी श्रमिकों के घर पर जाकर सम्पर्क कर उनके लक्षणों का परीक्षण कर रही हैं, जिसके आधार पर आवश्यकतानुसार प्रवासी श्रमिकों का सैम्पल इकट्ठा कर जांच की जा रही है।

उन्होंने बताया कि आशा वर्कर्स द्वारा अब तक 6,58,982 प्रवासी श्रमिकों से उनके घर पर जाकर सम्पर्क किया गया। उन्होंने बताया कि ग्राम एवं मोहल्ला निगरानी समितियों के द्वारा निगरानी का कार्य सक्रियता से किया जा रहा है।

ये भी पढ़ें…कांपे सभी आतंकी: एक आवाज से मची अफरातफरी, ‘सबको मरवा रहा कोई’