CAA प्रदर्शन: पतंग लुटती दिखी लखनऊ पुलिस, जानिए पूरा मामला

नागरिकता संशोधन कानून(सीएए) के खिलाफ पूरे देश में जगह-जगह प्रदर्शन हो रहा है। कांग्रेस समेत तमाम विपक्षी पार्टियां सीएए का विरोध कर रही है। बता दें कि दिल्ली के शाहीनबाग की तरह ही लखनऊ में भी सीएए और एनआरसी के खिलाफ लगातार प्रदर्शन हो रहा है।

लखनऊ: नागरिकता संशोधन कानून(सीएए) के खिलाफ पूरे देश में जगह-जगह प्रदर्शन हो रहा है। कांग्रेस समेत तमाम विपक्षी पार्टियां सीएए का विरोध कर रही है। बता दें कि दिल्ली के शाहीनबाग की तरह ही लखनऊ में भी सीएए और एनआरसी के खिलाफ लगातार प्रदर्शन हो रहा है।

तो वहीं बीजेपी सीएए के समर्थन में पूर देश में रैली कर रही है। इस कड़ी में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने मंगलवार को राजधानी लखनऊ में सीएए के समर्थन में रैली की जिसमें सीएम योगी समेत बीजेपी के दिग्गज नेता मौजूद रहे।

मंगलवार को गृह मंत्री अमित शाह की रैली के दौरान पुलिस को जानकारी मिली कि कुछ लोग सीएए और एनआरसी के विरोध में पतंग उड़ा रहे हैं जिसके बाद हरकत में आई पुलिस ने पतंग उड़ाने वालों को पकड़ने के लिए धरपकड़ शुरू कर दिया।

यह भी पढ़ें…रेल टिकट पर सबसे बड़ा खुलासा, एजेंट के 3000 बैंक खाते, पाकिस्तान, दुबई से जुड़े तार

पुलिस के कान खड़े हो गए कि एक तरफ देश के गृह मंत्री अमित शाह लखनऊ में सीएए के समर्थन में रैली कर रहे हैं तो वहीं लखनऊ के मालएवेन्यू में कुछ लोग सीएए के खिलाफ पतंग उड़ा कर अपना विरोध दर्ज करा रहे हैं।

इस विरोध की खबर मिलने के बाद पुलिस मौके पर पहुंचकर सभी पतंग उड़ाने वालों को हिरासत में ले लिया और पतंगों को भी जब्त कर लिया। इन पतंगों पर लिखा है NO CAA, NO NRC पुलिस ने इन लोगों का नाम दर्ज करके आगे की कार्रवाई शुरू कर दी है।

यह भी पढ़ें…सरयू नदी में बड़ा हादसा, नाव पलटने से कई लोग डूबे, बचाव कार्य जारी

इसके अलावा समाजवादी पार्टी के छात्रसंघ के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष पूजा शुक्ला को पुलिस ने रैली को देखते हुए हिरासत में लिया था। रैली के बाद पुलिस ने उनको छोड़ दिया। इसके बाद वह लखनऊ घंटाघर पर हो रहे प्रदर्शन में शामिल हुईं। पुलिस ने उनको घर में नजरबंद किया था।

बता दें कि केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने रैली में लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि नागरिक संशोधन विधेयक को लेकर कितना भी विरोध कर लिया जाए यह बिल वापस नहीं होगा। उन्होंने कहा कि विरोधी दल केवल वोट बैंक के कारण लोगों को भड़काने का काम रहे हैं। उन्होने कहा कि राहुल गांधी और इमरान खान की भाषा एक है।

यह भी पढ़ें…इस राज्य की तीन राजधानियां बनाने पर बवाल, सड़कों पर उतरी हजारों की भीड़

नागरिक संशोधन विधेयक (सीएए) को लेकर जनजागरूकता अभियान को लेकर हुई रैली को सम्बोधित करते हुए शाह ने कहा कि सपा बसपा कांग्रेस ममता आदि सब कांव-कांव कर रहे है। सीएए को लेकर भ्रामक प्रचार कर रहे हें कि मुसलमानों की नागरिकता चली जाएगी। राहुल ममता अखिलेश से चर्चा करने को तैयार हूं। विपक्ष जाने ले कि यह बिल किसी की नागरिकता नहीं ली सकती है।