जेलों को कोरोना से बचाएंगी योगी सरकार, 11 हजार कैदियों की होगी रिहाई

कोरोना वायरस के संकट से जूझ रहे उत्तर प्रदेश में बड़ा फैसला लिया गया है। प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कैदियों की रिहाई का एलान किया है। दरअसल, प्रदेश की जेलों में बंद 11 हजार कैदियों को 8 सप्ताह के लिए पैरोल पर छोड़ने का फैसला लिया गया है। इनमें उन कैदियों को शामिल किया गया है, जो सात साल से कम की सजा जेल में काट रहे हैं।

लखनऊ: कोरोना वायरस के संकट से जूझ रहे उत्तर प्रदेश में बड़ा फैसला लिया गया है। प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कैदियों की रिहाई का एलान किया है। दरअसल, प्रदेश की जेलों में बंद 11 हजार कैदियों को 8 सप्ताह के लिए पैरोल पर छोड़ने का फैसला लिया गया है। इनमें उन कैदियों को शामिल किया गया है, जो सात साल से कम की सजा जेल में काट रहे हैं।

यूपी की जेलों से 8 सप्ताह के लिए कैदियों की रिहाई:

उत्तर प्रदेश की योगी सरकार राज्य की 71 जेलों में बंद लगभग 11 हजार कैदियों को सोमवार को रिहा करने जा रही है। इन कैदियों को 8 सप्ताह के लिए निजी मुचलके पर रिहा किया जा रहा है।

ये भी पढ़ेंः लाॅकडाउन में SP का सराहनीय कदम: गरीब बच्चे से कहा, लो बेटा खाना और मास्क

ये फैसला कोरोना के मद्देनजर उठाया जा रहा है। सरकार चाहती है कि भीड़भाड़ कम की जाएँ ताकि वायरस उत्तर प्रदेश की जेलों में न फैले। ऐसे में उन कैदियों की रिहाई की जा रही है, जो सात साल से कम सजा वाले अपराध में जेल में बंद थे।

इन राज्य सरकारों ने भी कैदियों को पैरोल पर किया रिहा

गौरतलब है कि इसके पहले महाराष्ट्र की उद्धव ठाकरे सरकार ने कोरोना वायरस के चलते जेल से कैदियों को रिहा करने एलान किया था। वहीं शुक्रवार को पंजाब सरकार ने भी 6 हजार कैदियों को पैरोल पर छोड़ने की घोषणा की थी।

ये भी पढ़ेंः वॉट्सऐप पर कोरोना! रहिए जरा संभल कर, कहीं धोखा न खा जाएं

वहीं इससे पहले तिहाड़ जेल प्रशासन ने ऐसा ही ऐलान करते हुए कहा कि कोरोना वायरस के चलते अगले 3-4 दिनों में करीब 3 हज़ार कैदी छोड़े जाएंगे। जिसमें 1500 कैदी ऐसे हैं जिन्हें कोर्ट से अलग-अलग अपराधों में सज़ा हो चुकी है। इन्हें पैरोल या फरलो पर छोड़ा जाएगा जबकि करीब 1500 कैदी ऐसे हैं जो विचाराधीन यानी अंडर ट्रायल हैं, उन्हें अंतरिम जमानत देकर छोड़ा जाएगा।

ये भी पढ़ेंः क्या आप जानते हैं भारत में सबसे ज्यादा कहां के लोग कोरोना वायरस की गिरफ्त में हैं?

जिसके बाद कोरोना के मद्देनजर योगी सरकार ने ये फैसला लिया। बता दें कि यूपी में कोरोना वायरस के मरीजों का आंकड़ा 50 पहुँच गया है। वहीं, भारत में कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या 930 पहुंच चुकी है। इनमें से 22 कोरोना मरीजों की मौत भी हो चुकी है, जबकि 82 लोग ठीक हो चुके हैं।

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।