लोग हुए आत्मनिर्भर: महामारी ने किया विवश, पूरा हो रहा प्रधानमंत्री का संकल्प

डा. अशोक वाजपेयी ने बताया कि इस कोविड-19 की वजह से आज देश नवाचार की तरफ बढ़ रहा है। इस महामारी ने सभी को आत्मनिर्भर बनने के लिए विवश कर दिया है।

Future Restructuring Through Innovation

Future Restructuring Through Innovation

अयोध्या: डॉ. राममनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय एवं विज्ञान भारती अवध प्रांत के संयुक्त संयोजन में “फ्यूचर रिस्ट्रक्चरिंग थ्रू इनोवेशन” विषय पर तीन दिवसीय राष्ट्रीय कार्यशाला के समापन सत्र को संबोधित करते हुए मुख्य अतिथि राज्य सभा के सांसद डा. अशोक वाजपेयी ने बताया कि इस कोविड-19 की वजह से आज देश नवाचार की तरफ बढ़ रहा है। इस महामारी ने सभी को आत्मनिर्भर बनने के लिए विवश कर दिया है।

पूरा होता दिख रहा प्रधानमंत्री का संकल्प

आज का युवा नवाचार के माध्यम से कुछ कर जाने की इच्छा रखता है। देश के प्रधानमंत्री ने आत्मनिर्भर भारत बनाने का जो संकल्प लिया है वह आज दिखाई दे रहा है। शिक्षा के क्षेत्र में नवाचार तकनीक के कारण काफी बदलाव आया है। इससे काफी कुछ सीखने को मिला है। इस महामारी में नवाचार ही आने वाली समस्याओं का समाधान दे सकता है।

यह भी पढ़ें: Live: 74वें स्वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्या पर राष्ट्रपति कोविंद ने देश को किया संबोधित

प्रत्येक क्षेत्र के लिए आवश्यक है इनोवेशन

कार्यक्रम के मुख्य वक्ता महानिदेशक एसएमएस, लखनऊ के डॉ. भरत राज सिंह ने बताया कि आज इनोवेशन प्रत्येक क्षेत्र के लिए आवश्यक है। उन्होंने प्रतिभागियों से कहा कि इनोवेशन से तकनीकी का विकास होता है। तकनीकी का प्रयोग निरन्तर करते रहना चाहिए। कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए कामर्स संकायाध्यक्ष एवं एमबीए विभागाध्यक्ष डॉ.अशोक शुक्ल ने बताया कि किसी भी कार्यक्रम की सार्थकता तभी होती है। जब प्रतिभागी उसको जमीनी स्तर पर कार्य करें।

हम अन्य देशों के मुकाबले काफी आगे

इनोवेशन के कारण आज हम अन्य देशों के मुकाबले काफी आगे हैं। इस आपदा ने काफी कुछ सिखा दिया है। छात्रों द्वारा नये-नये इनोवेशन पर कार्य किया है। आईसीटी के माध्यम से शिक्षा व्यवस्था में काफी परिवर्तन हुआ है। इसके द्वारा नवाचार तकनीकी को बढ़ावा दे सकते हैं।

यह भी पढ़ें: सीमा पर सबसे बड़ा दुश्मनः आतंक ऐसा कि राज्य जवानों की आवाजाही पर लगा रहे रोक

इनोवेशन से कई समास्याओं का हो सकता है हल

कार्यक्रम के पूर्व तकनीकी सत्र को संबोधित करते हुए राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के पूर्व अतिरिक्त निदेशक एवं नवाचार विशेषज्ञ डॉ. हीरालाल ने खुद के द्वारा कराई गई 2019 में स्टार्टअप एंड इनोवेशन पर प्रकाश डाला। उन्होंने बताया कि नवाचार से भुखमरी, गरीबी, जल संरक्षण, जंगलों को काटना एवं किसानों की समस्याओं को समाप्त किया जा सकता हैं।

देश की इकॉनमी को विकसित करने पर जोर

उन्होंने बताया कि वे बुंदेलखंड में नये-नये इनोवेशंस से कार्य कर रहे हैं और समाज के उत्थान लगे हैं। कार्यक्रम में युवा इनोवेटर देवांश शर्मा ने इनोवेशन से डीजल तथा पेट्रोल के दामों को वृद्धि को देखते हुए बायोडीजल का इनोवेशन किया। कार्यक्रम में मडॉक विश्वविद्यालय ऑस्ट्रेलिया के डॉ.लास फंग ने आई ट्रिपल ई एंटरप्रेन्योरशिप तथा आई ट्रिपल ई इनोवेशंस पर प्रकाश डाला। लखनऊ विश्वविद्यालय के डॉ.एमके अग्रवाल ने स्टार्टअप को बढ़ावा देते हुए अपने देश की इकॉनमी को विकसित करने पर जोर दिया।

यह भी पढ़ें: सांस्कृतिक केन्द्र की विशेष ऑनलाइन बैठक में पहुंची राज्यपाल, दिए ये आदेश

सरल से सरल उपाय ढूंढना ही स्टार्टअप है

उन्होंने प्रतिभागियों से कहा कि कुछ अलग सोचना और समस्या का सरल से सरल उपाय ढूंढना ही स्टार्टअप है। तकनीकी सत्र में भारत के युवा इनोवेटर्स श्रीकांतो मंडल जिनकी उम्र मात्र 15 वर्ष है उन्होंने ऑनलाइन जुड़ कर अपने द्वारा किया गया गारवेज रिलेटेड इनोवेशन दिखाया और किस तकनीक से कार्य करता उसके बारे में बताया।

यह भी पढ़ें: सैनिकों को बड़ा तोहफा: 12 लाख रुपये का लाइफ कवर, एचडीएफसी ने किया एलान

3 प्रतिभागियों का हुआ चयन

कार्यक्रम के समापन पर विश्वविद्यालय प्लेसमेंट सेल की निदेशक डाॅ0 गीतिका श्रीवास्तव ने तीन दिवसीय कार्यशाला की रिपोर्टियर प्रस्तुत किया। कार्यक्रम के आयोजक इंजीनियर राजीव कुमार ने अवध प्रांत के संदीप द्विवेदी, सहस्त्रबुद्धे जी, सीमातो मंडल, देवांश शर्मा एवं अभि चोपड़ा को धन्यवाद देते हुए बताया कि तीन दिवसीय कार्यशाला में 3 प्रतिभागियों को उनके इनोवेशंस के लिए चयन किया गया है। जिनके नामों की घोषणा बाद में की जायेगी। कार्यक्रम के तकनीकी सत्र का संचालन इलेक्ट्रॉनिक्स एंड कम्युनिकेशन इंजीनियरिंग की विभागाध्यक्ष इंजीनियर मनीषा यादव ने किया।

नाथ बख्श सिंह

यह भी पढ़ें: बड़ी खबर: कर्मचारियों की बड़ी मांग, कहा- नहीं तो करेंगे बड़ा आंदोलन

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App