मेरठ में कोरोना से हाहाकार, एक महीने के बच्चे समेत 35 नए केस

मेरठ में शनिवार को एक माह के एक बच्चे, तीन पुलिसकर्मी समेत कोरोना संक्रमण के 35 नए मामले आए हैं। मेरठ में अब संक्रमितों की कुल संख्या बढ़कर 1433 हो गई…

Published by Ashiki Patel Published: July 12, 2020 | 12:46 am
Modified: July 12, 2020 | 12:52 am

मेरठ: मेरठ में शनिवार को एक माह के एक बच्चे, तीन पुलिसकर्मी समेत कोरोना संक्रमण के 35 नए मामले आए हैं। मेरठ में अब संक्रमितों की कुल संख्या बढ़कर 1433 हो गई है। राहत की बात रही कि कोरोना से जिले में एक भी मौत नहीं हुई। जबकि 10 जुलाई को 3 कोरोना पीडित महिलाओं की मृत्यु हो गई और मरने वालों का आंकड़ा जिले में 74 तक पहुंच गया है। पिछले 24 घंटे में 24 लोग कोरोना को हराकर घर वापस लौट चुके हैं।

14 महिलाएं और 21 पुरुष संक्रमित

जिला सर्विलांस अधिकारी डॉ. विश्वास चौधरी के अनुसार नए संक्रमितों में 14 महिलाएं और 21 पुरुष वर्ग से हैं। 20 मरीजोंकी पुष्टि एंटीजनकिट से हुई है। शनिवार को मिले नए मरीजों में एक माह का बेबी के अलावा थाना कंकरखेड़ा के तीन पुलिस कांस्टेबल, मिमहंस अस्पताल की दो वार्ड आया, दो ज्वैलरी लेबर, एक मेडिसन वितरक,एक 21 वर्षीय कारोबारी शामिल हैं। औरंगाशाहपुर डिग्गी निवासी एक परिवार के पांच सदस्य, पल्हैड़ा निवासी एक परिवार के तीन सदस्य भी कोरोना संक्रमित मिले हैं।

ये भी पढ़ें: अधिकारी जनपद में साफ सफाई पर दें विशेष ध्यान, नोडल अधिकारी ने दिए निर्देश

जिले में कोविड-19 एक्टिव केसों की संख्या 449 है जबकि 910 लोग ठीक होकर घर जा चुके हैं। वहीं कुल कोरोना पीडितों की संख्या अब 1433 हो चुकी है। अभी 4147 सेंपलों की रिपोर्ट आनी बाकी है। शनिवार शाम तक जिले में कुल 51788 सेंपल टेस्टिग के लिए भेजे जा चुके हैं।

यहां बता दें कि कोरोना संक्रमण ने अब शहर से बाहर गांवों में भी पांव पसारने शुरु कर दिए हैं। जिन ग्रामीण कस्बों में कोरोना संक्रमण फैल रहा है उनमें परीक्षितगढ, जानी,माछरा, जानी और रोहटा ब्लाक प्रमुख है।

ये भी पढ़ें: BHEL ने बनाया एतिहासिक कीर्तिमान, दुनिया में जो किसी ने नहीं किया वो कर दिखाया

घर-घर सर्वे अभियान 2 से 12 जुलाई तक चलाया जा रहा

उधर आज जनपद के नोडल अधिकारी व आबकारी आयुक्त पी गुरुप्रसाद व नोडल अधिकारी पवन कुमार ने ब्लॉक परीक्षितगढ़ के ग्रामों व नगर पंचायत परीक्षितगढ़ के वार्ड का औचक निरीक्षण कर घर-घर सर्वे अभियान में किए जा रहे कार्यों का जायजा लिया। नोडल अधिकारी पी गुरुप्रसाद में बताया कि कोरोना के संदिग्ध मरीजों व गंभीर बीमारियों से पीड़ित मरीजों की पहचान के लिए सरकार द्वारा घर-घर सर्वे अभियान 2 जुलाई से 12 जुलाई तक चलाया जा रहा है| उन्होंने कहा कि आमजन सर्वे टीम को अपना सहयोग प्रदान करें तथा स्वयं आगे आकर अपना स्वास्थ्य परीक्षण कराए ताकि समय रहते उन्हें स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध कराई जा सके।

नोडल अधिकारी पवन कुमार ने कहा की घर-घर सर्वे अभियान में कोई भी घर ना छूटे यह सर्वे टीम सुनिश्चित करें। इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी ईशा दुहन, अपर जिलाधिकारी प्रशासन रामचंद्र, नगर मजिस्ट्रेट सत्येंद्र कुमार सिंह, बेसिक शिक्षा अधिकारी सत्येंद्र कुमार ढाका, खंड विकास अधिकारी, अधिशासी अधिकारी नगर पंचायत परिषदगढ़ सहित अन्य अधिकारी गण उपस्थित रहे।

रिपोर्ट: सुशील कुमार, मेरठ

ये भी पढ़ें: विकास के एनकाउंटर के बाद SIT पर सवाल, CBI के घेरे में हैं टीम में शामिल ये DIG