अब UP में भी होम आइसोलेशन की सुविधा, लेकिन माननी होंगी ये शर्तें, जानें यहां

अब उत्तर प्रदेश में भी मरीजों को होम आइसोलेशन की सुविधा दी जाएगी, लेकिन इसके लिए निर्धारित शर्तों को मानना अनिवार्य होगा।

लखनऊ: अब उत्तर प्रदेश में भी मरीजों को होम आइसोलेशन की सुविधा दी जाएगी, लेकिन इसके लिए निर्धारित शर्तों को मानना अनिवार्य होगा। यूपी में कोरोना संक्रमित मरीजों के होम आइसोलेशन को लेकर मुख्यमंत्री योगी की तरफ से दिशा-निर्देश जारी कर दिया गया है। यूपी सरकार अब कोरोना मरीजों को निर्धारित प्रोटोकॉल की शर्तों के साथ होम आइसोलेशन की अनुमति देगी। ऐसा इसलिए क्योंकि बड़ी तादाद में कोरोना के लक्षणरहित संक्रमित मरीज बीमारी को छिपा रहे हैं, जिससे संक्रमण बढ़ने का खतरा है।

संक्रमित मरीज और परिवार को माननी होंगी ये शर्तें

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की ओर से जारी किए गए दिशा-निर्देशों के मुताबिक, संक्रमित मरीज और उसके परिवार को होम आइसोलेशन के प्रोटोकॉल की शर्तों का पालन करना अनिवार्य होगा। योगी सरकार के पास कोविड-19 हॉस्पिटल में पर्याप्त बेड्स उपलब्ध हैं। वहीं कोरोना वायरस से बचाव को लेकर व्यापक जागरूकता अभियान चलाया जाएगा।

यह भी पढ़ें: इन जिलों पर योगी की तीखी नजरः अफसरों से कहा कम करें कोविड-19 मृत्यु दर

कोरोना से बचाव के लिए बेहतर इम्युनिटी जरूरी

CM योगी ने कहा कि कोरोना वायरस से बचाव के लिए बेहतर इम्युनिटी (Immunity) बहुत जरूरी है। कोरोना से होने वाली मृत्यु की दर (death rate) को न्यूनतम स्तर (Minimum level) पर लाने के लिए स्वास्थ्य विभाग और चिकित्सा शिक्षा विभाग प्रभावी कार्यवाही करें। इसके अलावा संक्रमण को कंट्रोल में करने के लिए कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग (Contact tracing) जरूर की जाए।

यह भी पढ़ें: जरूरी जानकारीः होम क्वारंटीन में करें प्रोटोकाल का पालन, वरना होगी कार्रवाई

आवश्यक सुविधाएं सुनिश्चित करने के दिए निर्देश

CM योगी ने कोविड-19 हॉस्पिटल में सभी आवश्यक सुविधाएं सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं। इसके साथ ही मुख्यमंत्री योगी ने बीते शनिवार और रविवार को प्रदेश में संचालित विशेष स्वच्छता और सैनिटाइजेशन अभियान में किए गए कार्यों की जानकारी ली।

यह भी पढ़ें: मणि मंजरी रायः नायब तहसीलदार की भूमिका संदिग्ध, परिजन मिले डीआईजी से

यहां भेजी जाएगी डॉक्टरों की स्पेशल टीम

इसके साथ ही मुख्यमंत्री योगी ने राजधानी लखनऊ के अलावा कानपुर, बस्ती, गोरखपुर, बलिया, प्रयागराज, बरेली, झांसी, मुरादाबाद और वाराणसी में डॉक्टरों की स्पेशल टीम भेजने के निर्देश दिए हैं। इसके अलावा प्रदेश में मेडिकल व्यवस्था (Medical system) को स्ट्रॉन्ग करने के लिए जनपद स्तर पर आईएमए और नर्सिंग एसोसिएशन के पदाधिकारियों के साथ बैठक होगी।

यह भी पढ़ें: तिलमिलाया चीनः ब्रिटेन से कहा- अमेरिका के इशारे पर चलना बंद करें

कोरोना मरीजों का आंकड़ां पहुंचा 49 हजार 24

गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश में तेजी से कोरोना वायरस का संक्रमण बढ़ रहा है। बीते 24 घंटे में उत्तर प्रदेश में दो हजार से अधिक नए मामले सामने आए हैं। जिसके बाद यहां पर कोरोना संक्रमित मरीजों का आंकड़ा 49 हजार 247 तक पहुंच गया है। जबकि एक हजार 146 लोगों की मौत हुई है। राज्य में अब एक्टिव केस 18 हजार से अधिक हैं।

यह भी पढ़ें: बैंकिंग धोखाधड़ी: ऐसे करें अपने धन की सुरक्षा, RBI ने दिए ये महत्त्वपूर्ण टिप्स

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App