Top

आगरा: इस गांव में खांस-खांसकर मर रहे कुत्ते, लोगों में कोरोना की दहशत

यूपी के आगरा स्थित बाह से एक अजीब खबर आई है। वहां की एक ग्राम पंचायत के दो मजरों में करीब 20 कुत्तों के मरने की खबर है। यह कोई मामूली मौत नहीं, बल्कि...

Ashiki Patel

Ashiki PatelBy Ashiki Patel

Published on 21 April 2020 3:11 AM GMT

आगरा: इस गांव में खांस-खांसकर मर रहे कुत्ते, लोगों में कोरोना की दहशत
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

आगरा: यूपी के आगरा स्थित बाह से एक अजीब खबर आई है। वहां की एक ग्राम पंचायत के दो मजरों में करीब 20 कुत्ते मरने की खबर है। यह कोई मामूली मौत नहीं, बल्कि कुत्ते खांसने के बाद अंधे हुए फिर मर गए। इससे अब इलाकाई लोग दहशत में आ गए हैं। प्रशासन को इसकी भनक लगी तो लेखपाल की रिपोर्ट पर बाह के एसडीएम ने पशुपालन विभाग को जांच के निर्देश दे दिए हैं।

ये पढ़ें: रसोईघर से जुड़ी इन बातों का रखें खास ख्याल, चमक जाएगी किस्मत

तीन दिन के अंदर मरे 20 कुत्ते

जानकारी के अनुसार चंबल नदी के कछार में बसे ग्राम पंचायत जेबरा के पुरा शिवलाल और मजरे पुरा डाल में तीन दिन में करीब 20 कुत्ते मर गए हैं। वे कुत्ते खांस-खांस कर अंधे हुए फिर गिरकर मर गए। इस घटना को लोगों ने कोरोना का असर मान लिया है। अब ग्रामीणों और पशुपालकों में हड़कंप मच गया है। ग्रामीणों ने इसकी जानकारी वहां के लेखपाल राकेश कुमार को दी।

ये पढ़ें: पानी से भी सस्ता तेल, इतिहास में पहली बार इतनी बड़ी गिरावट

एसडीएम ने लिया एक्शन

बता दें कि लेखपाल ने तहसील प्रशासन को रिपोर्ट भेज दी है। इसके बाद बाह के एसडीएम अब्दुल बासित ने पशु चिकित्साधिकारी बाह धर्मेंद्र कुमार को टीम के साथ मौके पर जाकर परीक्षण करने के निर्देश दिए हैं। एसडीएम बाह ने लेखपाल की मौखिक रिपोर्ट के हवाले से कुत्तों के मरने की घटना की पुष्टि की है और मौके पर वेटनरी डॉक्टर को भेजे जाने की बात बताई है। उन्होंने बताया कि पशु चिकित्साधिकारी की रिपोर्ट आने के बाद ही मैं कुछ कह सकता हूं।

ये पढ़ें: Live: कोरोना से 17 हजार से ज्यादा लोग संक्रमित, दिल्ली में शुरु हुई रैपिड टेस्टिंग

जानकारों ने ये बताई वजह

कुत्तों के मरने की क्या वजह हो सकती है, यह तो जांच के बाद का विषय है, लेकिन जानकारों के मुताबिक लॉकडाउन में पर्याप्त खाना न मिलने और गर्मी बढ़ने की वजह से आवारा कुत्ते खूंखार हो गए हैं। ये बाहर निकलने वाले लोगों पर हमला कर सकते हैं। सामान्य दिनों के मुकाबले लॉकडाउन में कुत्ता काटने की घटनाएं बढ़ी हैं और अस्पताल में ऐसे मरीजों की संख्या में इजाफा हुआ है।

ये पढ़ें: महाराष्ट्रः मुंबई में 53 पत्रकार कोरोना संक्रमित

ओपीडी में करीब 120 लोग भर्ती

जिला अस्पताल में फ्लू और एंटी रैबीज वैक्सीन की ओपीडी चल रही हैं। एंटी रैबीज वाली ओपीडी में करीब 120 मरीज हैं। मरीजों न बताया है कि सड़क, गलियों में कुत्ते हमला कर दे रहे हैं। जिला अस्पताल के एसआईसी डॉ. एस.के. वर्मा ने बताया कि सामान्य दिनों के मुकाबले लॉकडाउन में रेबीज की सुई लगवाने आ रहे मरीजों में जख्म ज्यादा हैं और गंभीर भी हैं।

ये भी पढ़ें: दुनिया भर में कोरोना संक्रमित मरीज 24 लाख 63 हजार के पार

सऊदी अरब: रमजान के दौरान मक्का और मदीना की दो पवित्र मस्जिदों में नहीं होगी नमाज व तरावीह

Childhood Pics:शक्ति कपूर की बिटिया ने शेयर की ऐसी तस्वीर, खुल गया उनका राज

Ashiki Patel

Ashiki Patel

Next Story