हाथरस पर बड़ा खुलासा: सामने आई गैंगरेप पीड़िता की रिपोर्ट, डॉक्टर ने बताई सच्चाई

उत्तर प्रदेश के हाथरस हादसे में गैंगरेप की पीड़िता की 15 दिन बाद मौत हो गई है। ऐसे में गैंगरेप पीड़िता की मौत की वजह को लेकर एक नया खुलासा हुआ है। हादसे के बारे में डॉक्टरों के अनुसार, पीड़िता की मौत गले और रीढ़ की हड्डी में चोट के कारण हुई है।

hathras gangrape

फोटो-सोशल मीडिया

नई दिल्ली। उत्तर प्रदेश के हाथरस हादसे में गैंगरेप की पीड़िता की 15 दिन बाद मौत हो गई है। ऐसे में गैंगरेप पीड़िता की मौत की वजह को लेकर एक नया खुलासा हुआ है। हादसे के बारे में डॉक्टरों के अनुसार, पीड़िता की मौत गले और रीढ़ की हड्डी में चोट के कारण हुई है। वारदात के समय घसीटे जाने की वजह से और गिरने की वजह से पीड़िता के कमर और कूल्हे में भी गहरी चोटें लगी थी। पीड़िता की रीढ़ की हड्डी में आई चोट के कारण ही उनके नीचे का हिस्सा काम नहीं कर रहा था।

ये भी पढ़ें… फिरोजाबाद (यूपी): हाथरस में हुई घटना के विरोध में सफाई कर्मचारी धरने पर बैठे

बेटी की हालात बहुत खराब

पीड़िता की रिपोर्ट पर डॉक्टरों ने बताया कि पीड़िता के गले में चोट की वजह से भी वो हिल-ढुल नहीं पा रही थीं। इसी वजह से उनकी मौत हुई है। ये बाते जेएन मेडिकल कॉलेज (JN Medical College) में ट्रॉमा सेंटर (Trauma Center) के सीएमओ डॉक्टर एहतेशाम ने कहा है।

ऐसे में पीड़िता के पिता का आरोप है कि जब हम दिल्ली एम्स में बेटी को भर्ती कराने पहुंचे तो वहां मना कर दिया गया। कहा कि आप सफदरजंग अस्पताल जाइए, जबकि बेटी की हालात बहुत खराब थी। यह सब बताने के बाद भी भर्ती नहीं किया गया।

 

Hathras Gangrape
फोटो-सोशल मीडिया

ये भी पढ़ें…1 अक्टूबर से 5 बड़े नियमों में बदलाव, तीसरा वाला सीधे आपकी जेब पर डालेगा असर

एम्स में भर्ती नहीं किया

इसी कड़ी में आम आदमी पार्टी के प्रवक्ता और विधायक सौरभ भारद्वाज का कहना है कि यह शर्म की बात है कि अधिकतर बिस्तर खाली होने के बाद भी पीड़िता को एम्स में भर्ती नहीं किया गया। यूपी से एम्स लाई गई बेटी को सफदरजंग में भर्ती करा दिया गया। यह गंभीर लापरवाही है।

ये भी पढ़ें…खतरे में भारत: अब चीन का ये वायरस मचा सकता है तबाही, ICMR का अलर्ट

हादसे के बारे में हाथरस के डीएम प्रवीण कुमार लक्षकार ने बयान जारी करते हुए कहा है कि पीड़िता की जीभ काटी नहीं गई है। गला दबाने के दौरान जीभ बाहर आ जाती है। उसी घटना के दौरान जीभ पर पीड़िता के दांत के निशान जीभ पर आ गए थे। इसके बाद में जीभ की यह चोट सही हो गई थी। पीड़िता बोलने भी लगी थी। उन्‍होंने दो-तीन बार अपने बयान भी दर्ज कराए हैं।

ये भी पढ़ें…हाथरस गैंगरेप पीड़िता के पिता ने किया सनसनीखेज खुलासा, फंस गई यूपी पुलिस

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App