×

अभी-अभी इस दिग्गज हिन्दू नेता की गोली मारकर हत्या, चार पुलिसकर्मी सस्पेंड 

राजधानी लखनऊ के हजरतगंज  इलाके में रविवार सुबह अंतरराष्ट्रीय हिंदू महासभा के अध्यक्ष रंजीत बच्चन की गोली मारकर हत्या कर दी गई। रंजीत बच्चन मॉर्निंग वॉक के लिए निकले थे।

Aditya Mishra

Aditya MishraBy Aditya Mishra

Published on 2 Feb 2020 3:33 AM GMT

अभी-अभी इस दिग्गज हिन्दू नेता की गोली मारकर हत्या, चार पुलिसकर्मी सस्पेंड 
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

लखनऊ: राजधानी लखनऊ के हजरतगंज इलाके में रविवार सुबह अंतरराष्ट्रीय हिंदू महासभा के अध्यक्ष रंजीत बच्चन की गोली मारकर हत्या कर दी गई। रंजीत बच्चन मॉर्निंग वॉक के लिए निकले थे।

इसी दौरान बाइक सवार बदमाशों ने उनके सिर में गोली मार दी, जिससे उनकी मौके पर ही मौत हो गई। फ़िलहाल घटनास्थाल पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। साथ ही हमलावरों की तलाश में जुटी है।

बता दें कि रंजीत बच्चन हजरतगंज के ओसीआर बिल्डिंग में रहते थे। रंजीत बच्चन मूल रूप से गोरखपुर के रहने वाले थे। वह समाजवादी पार्टी के सांस्कृतिक कार्यक्रम भी किया करते थे। बाइक सवार बदमाशों ने सिर में गोली मारकर उनकी हत्या की। मौके पर पुलिस कमिश्नर समेत आला अधिकारी मौजूद हैं।

ये भी पढ़े...कारसेवकों का मुकदमा वापस लेगी सरकार! हिन्दू महासभा ने पीएम को लिखी चिट्ठी

मॉर्निंग वॉक पर निकले थे

घटना सुबह करीब साढ़े 6 बजे की बताई जा रही है। रंजीत बच्चन अपने एक दोस्त आशीष श्रीवास्तव के साथ मॉर्निंग वॉक पर निकले थे। जब वह ग्लोब पार्क से निकल रहे थे तभी बाइक सवार बदमाशों ने उनके सिर में गोली मार दी।

इस वारदात में उनके दोस्त आशीष भी घायल हुए हैं, जिनका इलाज ट्रामा सेंटर में चल रहा है। हत्या की वजह का पता नहीं चल पाया है। पुलिस तफ्तीश में जुटी है।

ये भी पढ़ें...हिन्दू महासभा की एक और मांग, जाने किसकी फोटो हटेगी या लगेगी नोट पर

लापरवाही बरतने पर चौकी इंचार्ज समेत चार पुलिसकर्मी सस्पेंड

रंजीत बच्चन के केस में लापरवाही बरतने पर चौकी इंचार्ज समेत चार पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया गया है। पुलिस कमिश्नर ने मामले की जांच के छह टीमों का गठन किया है।

मामले की जानकारी पर अखिल भारतीय हिंदू महासभा के प्रदेश अध्यक्ष राजीव कुमार आशीष घटना स्थल पर पहुंचे। इस दौरान उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी में रणजीत बच्चन काफी समय तक कार्यकारी अध्यक्ष रहे हैं। वह वर्तमान में अखिल भारतीय हिंदू महासभा के अध्यक्ष थे। उन्होंने कहा कि आज रणजीत की हत्या कर दी गई है, इससे पहले कमलेश तिवारी की हत्या की गई।

उन्होंने कहा कि हिंदू नेता लगातार निशाने पर हैं। हमारी जान को खतरा है। उन्होंने सरकार से हिंदू नेताओं की सुरक्षा की मांग की है। उन्होंने हत्यारों को जल्द गिरफ्तार करने की मांग की है। लगातार हो रही हत्याएं पुलिस पर भी सवाल खड़े करती है।

रंजीत बच्चन की हत्या पर सपा ने मांगा सरकार से इस्तीफा

अंतरराष्ट्रीय हिंदू महासभा के अध्यक्ष रंजीत बच्चन की हत्या अब सियासी रंग लेने लगी है। समाजवादी पार्टी ने इसे योगी सरकार के कानून-व्यवस्था नियंत्रण पर सवाल उठाते हुए इस्तीफे की मांग की है।

समाजवादी पार्टी ने रविवार को ट्विट करते हुए कहा कि दिनदहाड़े हुई इस हत्या से आम जनमानस में दहशत है। उत्तर प्रदेश में सरकार और पुलिस का इकबाल खत्म हो गया है। सरकार को तुरंत इस्तीफा देना चाहिए।

पता चला है कि रंजीत बच्चन के समाजवादी पार्टी में भी अच्छे संबंध थे और वह सपा के लिए कई सांस्कृतिक कार्यक्रम भी करवा चुके है। सपा से नजदीकी के चलते ही उन्हे ओसीआर बिल्डिंग में सरकारी फ्लैट आंवटित किया गया था।

कमिश्नरी प्रणाली लागू करने के बाद हत्या की पहली वारदात

इधर, हिंदू महासभा के अध्यक्ष की हत्या के बाद पुलिस महकमे में अफरातफरी का माहौल है। कानून-व्यवस्था को दुरूस्त करने के लिए राजधानी लखनऊ में पुलिस कमिश्नरी प्रणाली लागू करने के बाद यह किसी बड़ी हत्या की पहली वारदात हैै।

हत्या की वजह तलाशने के लिए कई पुलिस टीमे जुटी हुई हैं। पता चला है कि रंजीत ने दो शादियां की थी और उनका पहली पत्नी से संबंध टूट चुका था। गोरखपुर निवासी पहली पत्नी से उनके झगड़े को लेकर गोरखपुर में एक मुकदमा भी दर्ज है।

इसके साथ ही यह भी सामने आया है कि रंजीत की हत्या में मुंगेर की बनी देशी पिस्तौल का इस्तेमाल किया गया है। पुलिस इस संबंध में भी जांच कर रही है।

लखनऊ पुलिस कमिश्नर सुजीत पांडेय ने इस हत्याकांड की जांच के लिए चार टीमों का गठन किया है। एक टीम उनके पार्टी से जुड़ी गतिविधियों की जांच कर रही हैं। दूसरी टीम उनके सोशल मीडिया अकाउंट को खंगाल रही है, जबकि दो टीमें उनके घर आने-जाने वालों और परिवार वालों से संपर्क कर जानकारी जुटाने में लगी है।

हिंदूवादी नेता कमलेश तिवारी की पहले ही हो चुकी है हत्या

इससे पहले लखनऊ में हिंदू समाज पार्टी के नेता कमलेश तिवारी की गला रेत कर हत्या कर दी गई थी। बाद में कमलेश तिवारी की इलाज के दौरान ट्रामा सेंटर में मौत हो गई थी।

खुर्शीद बाग स्थित हिंदू समाज पार्टी कार्यालय में चाय पीने आए बदमाश मिठाई के डिब्बे में चाकू और तमंचा लाए थे। घटना को अंजाम देने के बाद बदमाश फरार हो गए थे। पुलिस टीम ने सेल फोन की डिटेल खंगालने के साथ ही सर्विलांस की मदद से आरोपियों को पकड़ा था।

ये भी पढ़ें...डॉ. पूजा के बयानों से फिर सुर्ख़ियों में हिन्दू महासभा, हाईकोर्ट ने लिया संज्ञान

Aditya Mishra

Aditya Mishra

Next Story