कानपुर देहात में उड़ी रातों की नींदः हमले के खौफ में अधिकारी बजाते रहे हूटर

टिड्डी दल को भगाने के लिए जिला प्रशासन ने कमर कसते हुए जैसे ही सूचना मिली तत्काल जिलाधिकारी के निर्देश पर एसडीएम आनंद सिंह मौके पर पहुंचे और जिला कृषि अधिकारी व दमकल विभाग की टीम के साथ भ्रमण शुरू कर दिया.

कानपुर देहात: कोरोना वायरस (COVID-19) महामारी से जूझ रहा उत्तर प्रदेश के ऊपर एक और संकट मंडराने लगा है. इसी कड़ी में कानपुर देहात में टिड्डी दल (Locust Group) पहुंच चुका है. कानपुर देहात जिले में हूटर का इस्तेमाल टिड्डी दल को खदेड़ने में किया गया. इस्तेमाल काफी हद तक सफल भी साबित हुआ. दरअसल अकबरपुर तहसील व रसूलाबाद तहसील में टिड्डी दल देखा गया है. जिसके चलते किसानों में दहशत का माहौल व्याप्त है. वहीं किसानों की चिंता बढ़ गई है

इस संगठन ने ली कराची स्टॉक एक्सचेंज पर हमले की जिम्मेदारी, अब क्या करेगा पाक

अधिकारी लगातार हूटर बजाते रहे

टिड्डी दल को भगाने के लिए जिला प्रशासन ने कमर कसते हुए जैसे ही सूचना मिली तत्काल जिलाधिकारी के निर्देश पर एसडीएम आनंद सिंह मौके पर पहुंचे और जिला कृषि अधिकारी व दमकल विभाग की टीम के साथ भ्रमण शुरू कर दिया. रात्रि होते ही पेड़ों में दवा का छिड़काव करने के साथी अधिकारी लगातार हूटर बजाते रहे. जिससे टिड्डी दल आगे की ओर निकल गया. फिलहाल राहत की बात यह है सुबह से जिले के किसानों ने अब तक टिड्डी दल नहीं देखा है.

बड़ा खतराः बिहार में घुसे छह प्रशिक्षित आतंकवादी, अलर्ट पर पुलिस प्रशासन

टिड्डी दल पेड़ पौधों पर लेते हैं आश्रय

जिलाधिकारी (DM) ने बताया कि टिड्डी दल सूरज डूबने से दिन निकलने तक पेड़ पौधों पर आश्रय लेते हैं. ऐसे प्रभावित क्षेत्रों में कृषि रक्षा रसायनों का छिड़काव ट्रैक्टर माउंट स्प्रेयर से किया जाएगा.

रिपोर्टर- मनोज सिंह, कानपुर देहात 

कांग्रेस के दिग्गज नेता ने मायावती को लेकर कही ये बड़ी बात

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।