विकास का ATM मैन: अधिकारियों को जमकर कराता था अय्याशी, सच्चाई आई सामने

जय वाजपेयी को लेकर खुलासा हुआ है कि वह अधिकारियों को अय्याशी कराता था। वह कानपुर में एक आलाधिकारी का फार्म हाउस बनवा रहा था।

कानपुर: कानपुर एनकाउंटर को लेकर हर रोज चौंकाने वाले खुलासे हो रहे हैं। वहीं पुलिस विकास दुबे के गैंग पर भी पैनी नजर बनाए हुए हैं। अब तक विकास दुबे के पांच करीबी एनकाउंटर में ढेर किए जा चुके हैं। वहीं पुलिस ने मंगलवार को कानपुर से विकास दुबे के करीबी जय वाजपेयी को गिरफ्तार किया था। बताया जा रहा है कि जय, विकास दुबे को लग्जरी गाड़ियां उपलब्ध कराता था।

अधिकारियों को अय्याशी कराता था जय वाजपेयी

जय वाजपेयी को लेकर खुलासा हुआ है कि वह अधिकारियों को अय्याशी कराता था। वह कानपुर में एक आलाधिकारी का फार्म हाउस बनवा रहा था। यहीं नहीं, उसने एक बंगले में अधिकारियों के लिए अय्याशी का पूरा इंतजाम भी कर रखा था। विकास दुबे का खजांची जय बाजपेयी पूर्व में शहर में तैनात एक आलाधिकारी का बहुत करीबी था। उनकी अधिकतर जरूरतें वहीं पूरी करता था।

यह भी पढ़ें: उज्जैन से पुराना नाता है विकास दुबे का, इस काम के लिए जाता था हर साल

करीबी विधायक के जरिए आलाधिकारी के संपर्क में आया

हाल ही में उसने बिठूर में उस अधिकारी का एक फॉर्म हाउस भी बनवाना शुरू कर दिया था। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, आलाधिकारी की तैनाती के बाद जय एक करीबी विधायक के जरिए उनके संपर्क में आया था। जय धीरे-धीरे करके अधिकारी से नजदीकियां बढ़ाता गया। इसके बाद पुलिस महकमें में भी उसने अपनी पैठ बना ली।

यह भी पढ़ें: विकास दुबे के भाई के घर पहुंची पुलिस, मां ने कहा-मेरे बेटे को महाकाल ने बचाया

विवादित जमीन और मकानों पर करता था कब्जा

यहीं नहीं, जय ने ट्रांसफर से लेकर पोस्टिंग तक का ठेका लेना और विवादित जमीन व मकान पर कब्जा करना शुरू कर दिया था। अधिकारी नहीं तो वह विधायक या फिर विकास दुबे और उसके गैंग से अपना काम निकाल लिया करता था।

यह भी पढ़ें: भूकंप के भयानक झटके: यहां कांप उठी धरती, मचा हड़कंप, घरों से भागे लोग

अधिकारी को जय और विकास के रिश्तों के बारे में थी जानकारी

जय बाजपेयी ने अधिकारी को खुश करने के लिए पहले फार्म हाउस के लिए जमीन खरीदी, उसके बाद उस पर फार्म हाउस का निर्माण करना शुरू कर दिया। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, अधिकारी को जय और विकास दुबे के संबंधों के बारे में जानकारी थी, लेकिन उन्होंने इस मामले में अपनी चुप्पी साधे रखी। वहीं जब कानपुर शूटआउट के बाद एसटीएफ ने जय से पूछताछ करना शुरू किया तो अधिकारी ने अपने हाथ खींच लिए।

यह भी पढ़ें: विकास का हैवान साथी: बेरहमी से काटे थे DSP के पैर, पुलिस ने किया ढेर

पनकी ई-ब्लाक में बनाया है आलीशान बंगला

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, जय ने पनकी ई-ब्लाक में एक आलीशान बंगला बनाया है, जिसकी लागत करोड़ों की है। यहां वह अपने दोस्तों और करीबियों के साथ अय्याशी किया करता था। स्थानीय लोगों का कहना है कि इस बंगले में अक्सर पार्टी का आयोजन हुआ करता था। देर रात नशे में धुत लोग सड़कों पर हुड़दंग मचाते थे, लेकिन कोई भी आवाज उठाने की हिम्मत नहीं करता था। स्थानीय लोगों का कहना है कि जय के गैंग इसी बंगले से मादक पदार्थों की सप्लाई भी करते थे।

यह भी पढ़ें: बड़े बिजली अफसर का कारनामा, उद्यान अधिकारी ने लिखाया गबन का मुकदमा

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App