×

प्रोजेक्ट मैनेजर के खिलाफ सरकार को भेजा पत्र, कराए गए कार्यों की होगी जांच

आयुक्त ने कहा कि निर्माण कार्यो के कार्य में तेजी लाई जाए तथा समय रहते लक्ष्य की प्राप्ति की जाए। जो कार्य अभी अनारम्भ हो उसे तत्काल आरम्भ करा दिया जाए।

Aradhya Tripathi

By Aradhya Tripathi

Published on 30 Jun 2020 5:06 PM GMT

प्रोजेक्ट मैनेजर के खिलाफ सरकार को भेजा पत्र, कराए गए कार्यों की होगी जांच
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

मीरजापुर: शासन के द्वारा मण्डल स्तर पर प्रस्तावित विकास कार्यो के समीक्षा के दृष्टिगत आयुक्त, विन्ध्याचल मण्डल प्रीति ने आयुक्त कार्यालय में मण्डल के तीनों जिले के अधिकारियों के साथ बैठक कर विभागवार जायजा लिया। जायजा के दौरान पैक्सपेड के कार्यो में शिथिलता बरतने पर कड़ी नाराजगी व्यक्त करते हुये आयुक्त ने संयुक्त विकास आयुक्त को प्राजेक्ट मैनेजर पैक्सपेड के विरूद्ध प्रमुख सचिव सहकारिता को पत्र लिखकर अवगत कराने का निर्देश दिया। इसी प्रकार सडक मरम्मत कार्य में कराये गये कार्यो की जांच हेतु टीम गठित करने निर्देश दिया गया।

अधीक्षण अभ्यिान्ता आरईएस के बैठकों में न आने पर कड़ी नाराजगी व्यक्त करते हुये चेतावनी भी दी गयी। बैठक में नई सडकों का निर्माण एवं चौडीकरण एवं सुढृढीकरण, आडीआ, एमडीआर, राज्य मार्गो के अनुरक्षण की स्थिति, सेतुओं का निर्माण, सडकों को गड्ढा मुक्त किया जाना, बुन्देलखंड एक्सप्रेसवे पूर्वाचल एक्सप्रेसवे व गंगा एक्सप्रेसवे, गोरखपुर आजमगढ लिंग एक्सप्रेस-वे, मुख्यमंत्री आवास एवं प्रधानमंत्री आवास ग्रामीण शहरी, मनरेगा, प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों के अधूरे कार्य, मेडिकल कालेज की प्रगति, अमृत योजना तथा स्मार्ट सिटी के कार्यो की बिन्दुवार प्रगति की समीक्षा की गयी।

कार्यो को तेजी से पूरा किया जाए, लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी

इस दौरान आयुक्त ने कहा कि निर्माण कार्यो के कार्य में तेजी लाई जाए तथा समय रहते लक्ष्य की प्राप्ति की जाए। उन्होंने कहा कि जो कार्य अभी अनारम्भ हो उसे तत्काल आरम्भ करा दिया जाए। यदि कोई किसी कारण से अनारम्भ हो तो कारण सहित उल्लेख करें। आयुक्त ने यह भी कहा कि टेण्डर की प्रक्रिया शासनादेश के अनुरूप मानक के अनुसार ही किया जाए। बैठक में अमृत योजना एवं स्मार्ट सिटी योजना की समीक्षा के दौरान आयुक्त ने कहा कि मुख्यमंत्री की महत्वाकांक्षी व प्राथमिकताओं में है। योजना में तेजी लाकर प्रगति लायी जाए।

ये भी पढ़ें- अब इस कांग्रेसी नेता की गिरफ्तारी पर विवाद, पार्टी प्रदेश अध्यक्ष ने बताया गैरकानूनी

अमृत एवं स्मार्ट सिटी योजना में आयुक्त ने मुख्य विकास अधिकारी को निर्देशित किया कि उनके द्वारा कार्य स्थल का निरीक्षण कर निरीक्षण टिप्णी उपलब्ध करायी जाए। निर्माण कार्यो में आयुक्त ने कहा कि सभी अधीक्षण अभ्यिान्ता व सम्बंधित मण्डलीय अधिकारी निर्माण कार्यो की स्वयं जांच कर तथा उसका निरीक्षण रिपोर्ट सम्बंधित जिलाधिकारी व मुख्य विकास अधिकारी के साथ संयुक्त विकास आयुक्त का भी उपलब्ध कराई जाएं। अमृत योजना में बनने वाले कार्यो के बारे में विस्तार से जानकारी प्राप्त की प्रधानमंत्री व मुख्यमंत्री आवास में आयुक्त ने कहा कि आवासों को प्राथमिकता के आधार पर पूर्ण कराया जाए।

ये भी पढ़ें- व्यापार मंडल में कार्यकारिणी का विस्तार, आलोक दीक्षित बने नगर अध्यक्ष

बैठक में कोविड-19 के जागरूकता व बचाव के बारे में चर्चा की गयी। आयुक्त ने कहा कि बाजारों में लोगो के द्वारा मास्क लगाने की प्रवृत्ति काफी कम दिखाई पड़ रही है। लोगों को इसके प्रति जागरूक किया जाए। उन्होंने मुख्य चिकित्साधिकारियों को निर्देशित किया कि कारोना की जांच रेण्डम की जाए तथा प्रतिदिन की दर से जो लक्ष्य निर्धारित किया गया है लोगों में जांच करायी जाए। बाजारों व दुकानों पर लोगों को सोशल डिस्टेसिंग का पालन भी कराने हेतु निर्देशित किया जाए।

संचारी रोग के बारे में विस्तृत रूप से की समीक्षा

इस दौरान 1 जुलाई से 31 जुलाई तक चलने वाले संचारी रोग अभियान को सफल व प्रभावी बनाने का निर्देश दिया गया। आयुक्त द्वारा वृक्षारोपण की भी समीक्षा की गयी तथा निर्देशित किया गया कि विभाग के अधिकारियों द्वारा अपने लक्ष्य के अनुसार पौधों का उठान किया जाए। ताकि आगामी 5 जुलाई को एक साथ पौध रोपण कर लक्ष्य को पूरा किया जा सके।

ये भी पढ़ें- डॉक्टर्स डे: कोरोना सकंट में कोई बच्चों से हैं दूर, तो किसी ने टाल दी शादी

बैठक में मुख्य रूप से जिलाधिकारी सुशील कुमार पटेल, सोनभद्र एस राजलिंगम, भदोही राजेन्द्र प्रसाद, मुख्य विकास अधिकारी सोनभद्र, मीरजापुर व भदोही, अपर आयुक्त प्रशासन रमेश चन्द्र, संयुक्त विकास आयुक्त नवनीत कुमार के अलावा सभी मण्डलीय अधिकारी उपस्थित रहे।

नोडल अधिकारी ने नियुक्त किए जिले के लिए अफसर

ये भी पढ़ें- भारत खरीदेगा ये खतरनाक बम: दुश्मन को मिनटों में करेगा ख़ाक, ऐसी है खासियत

वहीं जिले में कोविड-19 के रोकथाम व बचाव के लिये शासन के द्वारा जनपदों में नियुक्त नोडल अधिकारियों की नियुक्ति की गयी। जो आयुक्त के दिशा निर्देश के क्रम में आयुक्त द्वारा आवंटित जनपदों में कोरोना के बचाव व रोकथाम के लिये कार्य करेगें। आयुक्त विन्ध्याचल मण्डल प्रीति शुक्ला के द्वारा मण्डल में आये तीन वरिष्ठ अधिकारियों को जनपद का आवंटन किया गया है। जिसमें सुरेन्द्र प्रसाद सिंह, आईएएस, विशेष सचिव सूचना, सुशील कुमार मौर्या, आईएसएस विशेष सचिव भाषा विभाग, जनपद सोनभद्र तथा मुकेश चन्द्र, वरिष्ठ पीसीएस अपर आयुक्त परिवहन प्रशासन उप्र को जनपद भदोही जिला आवंटित किया गया है। इसी क्रम सभी नोडल अधिकारियों के द्वारा अपने-अपने जिलों में कार्य प्रारम्भ कर दिया गया है।

ये भी पढ़ें- जिले में कोरोना का कहर जारी, तेजी से बढ़ रही मरीजों की संख्या

जनपद में नोडल अधिकारी सुरेन्द्र प्रसाद सिंह के मंगलवार को अपने जनपद भ्रमण के दौरान कोरंटीन केयर सेटर साई धाम कालेज लोहदी कला में जाकर निरीक्षण किया गया। तथा वहां पर उपस्थित अधिकारियों से वार्ता कर जानकारी प्राप्त की गयी। नोडल अधिकारी के द्वारा छानवे विकास खण्ड अन्तर्गत प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र विजयपुर का भी निरीक्षण किया गया। इस दौरान कोविड हेल्प डेस्क, कोरोना से बचाव व रोकथाम के बारे में की जा रही कार्यवाही से उपस्थित चिकित्सकों से जानकारी प्राप्त की गयी। उन्होंने विजयपुर अस्पताल में शौचलाय, दवा स्टोर सहित अन्य काउण्टरों का निरीक्षण किया। तथा कहा कि पर्याप्त सफाई सुनिस्चित करायें।

रिपोर्ट- बृजेंद्र दुबे

Aradhya Tripathi

Aradhya Tripathi

Next Story