Newstrack के संवाददाता अनुज हनुमत को पुरातत्व विभाग ने किया सम्मानित

विश्व धरोहर सप्ताह के मौके पर Newstrack के संवाददाता अनुज हनुमत को पुरातत्व विभाग ने किया है। राजकीय महाविद्यालय मानिकपुर में विश्व धरोहर सप्ताह की शुरुआत लोकनृत्य दिवारी के नृत्य के साथ हुई।

चित्रकूट: विश्व धरोहर सप्ताह के मौके पर Newstrack के संवाददाता अनुज हनुमत को पुरातत्व विभाग ने किया है। राजकीय महाविद्यालय मानिकपुर में विश्व धरोहर सप्ताह की शुरुआत लोकनृत्य दिवारी के नृत्य के साथ हुई। धरोहर सप्ताह में सातों दिन अलग-अलग तरह के कार्यक्रम आयोजित होंगे। जिसमें कई प्रतियोगिताएं और निबंध, चित्रकला, भाषण और शैक्षणिक भ्रमण शामिल हैं।

इस दिवस को मनाने का मुख्य उद्देश्य है कि पूरे विश्व में मानव सभ्यता से जुड़े ऐतिहासिक और सांस्कृतिक स्थलों के संरक्षण के प्रति जागरूकता लाइ जा सके जिससे लोग प्राचीन चीजों के महत्वों को बारीकी से जान और समझ सकें। विरासत स्थल अथवा विश्व धरोहर ऐसे खास स्थानों, वन क्षेत्र, पर्वत, झील, मरुस्थल, स्मारक, भवन शहर मध्यपाषाण काल के मानव सभ्यता से जुड़े मिलने वाले प्रमाण को कहा जाता है।

यह भी पढ़ें…दिल्‍ली-एनसीआर समेत इन राज्यों में लगे भूकंप के झटके, ऐसे करें बचाव

विश्व के सांस्कृतिक-ऐतिहासिक स्थलों को विरासतों के रूप में संरक्षित रखने के लिए यूनेस्को द्वारा प्रति वर्ष अप्रैल माह मे ‘विश्व विरासत दिवस’ भी मनाया जाता है। जिस दिवस के माध्यम से लोगों को जागरूक किया जाता है। राजकीय महाविद्यालय मानिकपुर में इस कार्यक्रम में सैकड़ों लोग शामिल हुए।

इस कार्यक्रम में Newstrack के संवाददाता एवं पुरातत्व प्रेमी अनुज हनुमत को चित्रकूट जिले में पुरातात्विक स्थलों को सहेजने और उनके संवर्धन हेतु राज्य पुरातत्व विभाग द्वारा सम्मानित किया गया। इस दौरान उपजिलाधिकारी संगम लाल, नगर पंचायत अध्यक्ष विनोद द्विवेदी, प्राचार्य दुर्गेश शुक्ल क्षेत्रीय पुरातत्व अधिकारी डाॅ रामनरेश पाल और विधायक प्रतिनिधि देवेंद्र कुमार मुख्य रूप से उपस्थित रहे।

यह भी पढ़ें…संसद में प्रदूषण पर चर्चा: गंभीर बोले- वायू प्रदूषण से हर 3 मिनट में 1 बच्चे की मौत

ढोल-नगाड़े के टंकार के साथ पैरों में घुंघरू, कमर में पट्टा और हाथों में लाठियां लेकर जब इशारा होते ही जोशीले अंदाज में एक-दूसरे पर लाठी से प्रहार करते रहे, तो यह नजारा देख लोगों का दिल दहल जाता है। इस हैरतंगेज कारनामे को देखकर लोग दंग रहे। सभी को आश्चर्य होता है कि ताबड़तोड़ लाठियां बरसने के बाद भी किसी को तनिक भी चोट नहीं आती हैं। महाविद्यालय के छात्रों ने भी मनमोहक प्रस्तुतियां दीं।

इस कार्यक्रम में सबसे महत्वपूर्ण पुरातत्व प्रेमी अनुज हनुमत का भाषण रहा जिन्होंने अपने वक्तव्य में कहा कि चित्रकूट में पुरातत्व से सम्बंधित कई महत्वपूर्ण स्थल हैं और खासकर पाठा में तो पर्यटन की काफी संभावनाए हैं। उन्होंने छात्र-छात्राओं से कहा कि हमे अपने इतिहास को सहेजने की जरूरत है और इसके लिए हमे इतिहास के पन्नों को पलटना होगा।

यह भी पढ़ें…मुकेश अंबानी की कंपनी ने RIL मचाया धमाला, इस मामले में बनी देश की पहली कंपनी

उन्होंने व्याख्यान के दौरान बताया कि पाठा में शैलचित्रों की भरमार है और अगर इन्हें सहेजा जाए तो निःसंदेह पर्यटन की दिशा में जिले के लिए सम्भावनाओं के द्वार खुलेंगे। उन्होंने युवाओं से ये शपथ ली कि सभी अपने आस-पास के पुरातात्विक और सांस्कृतिक विरासतों को सहेजने और सवांरने में ध्यान देंगे। उन्होंने सम्मान हेतु पुरातत्व विभाग को धन्यवाद भी कहा।