तेज गर्मी और रेलवे की बदइंतजामी से यात्री बेहाल, तीन की गयी जान

श्रमिक स्पेशल एक्सप्रेस ट्रेन में तबीयत बिगड़ने से दो यात्री की मौत हो गई। तो वहीं ट्रेन से उतरकर घर जा रहे एक प्रवासी की रोडवेज बस स्टेशन पर मौत हो गई। तीन मौत की घटनाओं के बाद रेल यात्रियों में हड़कंप मच गया है।

बलिया: श्रमिक स्पेशल एक्सप्रेस ट्रेन में तबीयत बिगड़ने से दो यात्री की मौत हो गई। तो वहीं ट्रेन से उतरकर घर जा रहे एक प्रवासी की रोडवेज बस स्टेशन पर मौत हो गई। तीन मौत की घटनाओं के बाद रेल यात्रियों में हड़कंप मच गया है।

ये भी पढ़ें: अपग्रेडेशन कार्यों से चीनी मिलों की कार्य क्षमता व चीनी परता में हुई वृद्धि: संजय भूसरेड्डी

ट्रेनों का अनियमित परिचालन यात्रियों के लिये परेशानी का सबब बन गया है। जो सफर 48 घण्टे में तय हो जाना चाहिए , वह सफर तय करने में यात्रियों को चार से पांच दिन लग जा रहे हैं। ट्रेन में भोजन, नाश्ता व पानी का प्रबंध न होने से रेल यात्रियों की दुश्वारियां काफी बढ़ गई है। इधर पिछले 72 घण्टे में मौसम के तेवर में परिवर्तन से यात्री बेहाल हो गए हैं। खासकर लू के थपेड़ों ने यात्रियों के लिये मुश्किल काफी बढ़ा दिया है। ट्रेन में यात्रियों की तबियत तेजी के साथ बिगड़ रही है।

बलिया में तीन प्रवासी यात्री रेल की बदइंतजामी की भेंट चढ़ गए। जानकारी के अनुसार मडगाव से प्रवासियों को लेकर दरभंगा (बिहार) जा रही श्रमिक स्पेशल एक्सप्रेस ट्रेन कल देर शाम बलिया पहुँची। इस ट्रेन से बीमार 28 वर्षीय शोभरन कुमार, निवासी चिकना, थाना दूभी, जिला जनकपुर, नेपाल की रेलवे के डॉक्टर ने जांच की और उसकी हालत नाजुक होने पर जिला अस्पताल पहुंचाया, जहां आज मौत हो गई। दूसरी घटना में सूरत हाजीपुर श्रमिक स्पेशल एक्सप्रेस ट्रेन में कल शाम एक यात्री मृत मिला। मृतक के पास से मिले परिचय पत्र के जरिये उसकी शिनाख्त भूषण सिंह 58 जिला सारण , बिहार के रूप में हुई है।

ये भी पढ़ें: मंत्री व सांसद के लापता होने का पोस्टर लगाने वाले दो छात्र नेता गिरफ्तार

उधर सूरत से कल शाम मुनीब शाह नामक प्रवासी यात्री श्रमिक स्पेशल ट्रेन से बलिया पहुँचे। वह रेलवे स्टेशन से बस स्टेशन गये तथा रोडवेज बस से अपने घर जिले के बैरिया थाना क्षेत्र के मधुबनी जा रहे थे कि बस स्टेशन पर ही उनकी मौत हो गई। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि पुलिस ने सभी शवों को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

इन यात्रियों की मौत पर जिला प्रशासन से लेकर रेलवे के अधिकारी कुछ भी स्पष्ट बोलने से परहेज कर रहे हैं। रेलवे के अधिकारी केवल इतना कहकर पल्ला झाड़ ले रहे हैं कि मृतक रेल यात्री बीमार थे।

ये भी पढ़ें: पंडित नेहरू की पुण्यतिथि पर यूपी कांग्रेस के नेताओं ने दी भावभीनी श्रद्धाजंलि

मंडल रेल प्रबंधक के जन सम्पर्क अधिकारी अशोक कुमार ट्रेनों के अनियमित परिचालन व यात्री सुविधा के मसले पर पूरी तरह से चुप्पी साध लेते हैं। इस संवाददाता ने सवाल किया कि ट्रेन काफी बिलम्ब से क्यों चल रही है तथा बलिया के लिए रवाना हो रही ट्रेन अनावश्यक रूप से कई राज्यों की परिक्रमा क्यों कर रही हैं, जन सम्पर्क अधिकारी कहते हैं कि रेल ट्रैफिक में कन्जेशन के कारण बिलम्ब हो रहा है। वह इसके साथ ही कहते हैं कि श्रमिक स्पेशल ट्रेनों का कोई समय सारिणी निर्धारित नही है।

रिपोर्ट: अनूप कुमार हेमकर

CSIR ने अल्कोहल-आधारित हर्बल हैंड सैनिटाइज़र बनाया, जानिए इसकी खूबी

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App