राम जन्मभूमि मामला फिर पहुंचा कोर्ट: उठी ये मांग, तो क्या रुक जाएगा निर्माण कार्य

अयोध्या में स्थित राम जन्मभूमि विवाद पर इस्लामी संगठन पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया ने सुप्रीम कोर्ट में क्यूरेटिव याचिका दाखिल की है।

अयोध्या: रामजन्म भूमि में मंदिर निर्माण का मामला कई दशकों तक कोर्ट में चलता रहा, जिसके बाद अयोध्या में मंदिर निर्माण के पक्ष में फैसला आया। इसके लिए समिति का भी गठन किया जो जल्द से जल्द निर्माण कार्य शुरू करने की कवायद में लगी हुई है। हालंकि मामला फिर कोर्ट पहुंच गया है। दरअसल, इस्लामी संगठन पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (Popular Front of India) ने राम मंदिर निर्माण को लेकर सुप्रीम कोर्ट में क्यूरेटिव याचिका दाखिल की है।

रामजन्म भूमि मामले में PFI ने सुप्रीम कोर्ट में दाखिल की क्यूरेटिव याचिका

उत्तर प्रदेश के अयोध्या में स्थित राम जन्मभूमि विवाद में भले ही कोर्ट ने मंदिर निर्माण के पक्ष में फैसला सुनाया हो लेकिन अब इस मामले में इस्लामी संगठन पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया ने सुप्रीम कोर्ट में क्यूरेटिव याचिका दाखिल की है। PFI ने अपनी याचिका में भूमि विवाद पर खुली बहस की मांग की है।

ये भी पढ़ें: कोरोना का मजेदार वीडियो: देखेंगे तो दुख में भी हंसने पर हो जाएंगे मजबूर

भूमि विवाद पर खुली बहस की मांग:

गौरतलब है कि PFI इस मामले में न तो पक्षकार है और न ही उसे हस्तक्षेप का हक़। हालाँकि इसका कहना है कि वह भले ही मुख्य मामले में पक्षकार नहीं था, लेकिन सुप्रीम कोर्ट के फैसले से उसका हित प्रभावित हुआ है। क्यूरेटिव याचिका में मांग की गयी कि सुप्रीम कोर्ट अपने 9 नवंबर 2018 के उस आदेश पर रोक लगाये, जिसमें कोर्ट ने विवादित जमीन का फैसला ‘रामलला’ के हक में दिया था।

ये भी पढ़ें: पाकिस्तान पर बरसे बम: सेना ने तबाह की कई चौकियां, ताबड़तोड़ हमले से मचा हड़कंप

जानें, पीएफआई के बारें में:

कहा जाता है कि पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (PFI) एक कट्टर इस्लामिक संगठन है। इसको लेकर कुछ सनसनीखेज खुलासे हुए हैं। नेशनल इनवेस्टिगेशन एजेंसी इस संगठन के ISIS और सिमी के साथ संपर्कों की तलाश में जुटा है। एजेंसियों को कुछ चौंकाने वाली जानकारी मिली है। पीएफआई के बारे में कहा जाता है कि उसका केरल मॉड्यूल ISIS के लिए काम कर रहा था। वहां से इसके सदस्यों ने सीरिया और इराक में ISIS को जॉइन किया।

रामजन्म भूमि मामले में पहले भी दायर की जा चुकी क्यूरेटिव याचिका:

बता दें कि राम जन्मभूमि मामले में ये दूसरी क्यूरेटिव याचिका दाखिल की गई है। इससे पहले उत्तर प्रदेश की पीस पार्टी ने भी सुप्रीम कोर्ट में पिटिशन दाखिल की थीं।

ये भी पढ़ें: आजम खान की हालत खराब! टॉयलेट के लिए भी नहीं मिली मोहलत

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App