लेडी कांस्टेबल से प्यार पड़ा महंगा, युवक को जिंदा जलाया, ग्रामीणों ने मचाया तांडव

खबर उत्तर प्रदेश के प्रतापगढ़ जिले की है, जहां पर सोमवार को दबंगों ने एक युवक को जिंदा जला दिया। वहीं ग्रामीण पुलिस अधिकारियों के सामने लगभग तीन घंटे तक उत्पात और आगजनी करते रहे।

प्रतापगढ़: खबर उत्तर प्रदेश के प्रतापगढ़ जिले की है, जहां पर सोमवार को दबंगों ने एक युवक को जिंदा जला दिया। वहीं ग्रामीण पुलिस अधिकारियों के सामने लगभग तीन घंटे तक उत्पात और आगजनी करते रहे।

पुलिस जीप सहित तीन वाहनों में आगजनी

जानकारी के मुताबिक, ग्रामीणों ने दो पुलिस जीप सहित तीन वाहनों को आग के हवाले कर दिया। इस घटना में चार पुलिसकर्मियों के घायल होने की खबर है। इस दौरान पुलिस अधिकारी गांव में आने में असमर्थ रहे। बाद में घटनास्थल पर आईजी और एडीजी प्रयागराज पहुंचे।

सोमवार देर शाम मिला अधजला शव

पूरा मामला फतनपुर के भुजौनी गांव का है। सोमवार देर शाम अम्बिका पटेल का अधजली शव मिला, जिसके बाद गांव में हड़कंप मच गया। बताया जा रहा है कि युवक दोपहर में घर से निकला था। ग्रामीणों ने डायल 112 को सूचना दी। जिसके बाद सीओ रानीगंज मौके पर पहुंचे। घटना से आक्रोशित गांव वालों ने पुलिस पर ही पथराव करना शुरू कर दिया। इसमें करीब चार पुलिसकर्मी घायल हो गए और मौके से गाड़ी छोड़कर भाग गए।

यह भी पढ़ें: पाक उच्चायोग के दोनों अफसरों ने भारत छोड़ा, पुलिस की जांच में हुआ ये बड़ा खुलासा

क्या है पूरा मामला?

ग्रामीणों के मुताबिक, अम्बिका पटेल का पड़ोस की ही एक लड़की के साथ प्रेम संबंध था। कुछ दिनों बाद वो लड़की यूपी पुलिस में कांस्टेबल के पद पर भर्ती हो गई और उसकी पोस्टिंग दूसरे शहर में हो गई। दूसरे शहर में पोस्टिंग होने की वजह से लड़की की अम्बिका से दूरी बन गई। दोनों एक-दूसरे से शादी करना चाहते थे। लेकिन परिवार वाले इसके लिए राजी नहीं हुए।

उसके बाद अम्बिका पटेल ने कुछ दिनों पहले लड़की के साथ अपनी तस्वीर फेसबुक पर वायरल कर दी। अम्बिका की इस हरकत पर लड़की के पिता ने फतनपुर कोतवाली में उस पर छेड़खानी का केस दर्ज करा दिया।

यह भी पढ़ें: चीन के रुख से LAC पर बढ़ा तनाव, सीमा के पास चीनी लड़ाकू विमानों ने भरी उड़ान

पुलिस ने युवक को भेजा था जेल, लेकिन…

मामला पुलिस विभाग से जुड़ा था, इसलिए पुलिस ने आनन-फानन में अम्बिका पटेल को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। लेकिन कोरोना वायरस महामारी में एक मई को वह परोल पर छूट कर वापस अपने घर लौट आया। उसके बाद सोमवार को कुछ दबंगों ने उसे जिंदा जला दिया।

फिलहाल पुलिस ने दोनों पक्ष से दर्जनों दबंगों को हिरासत में ले लिया है। प्रयागराज जोन के आईजी और एडीजी ने मौके पर पहुंचकर, घटनास्थल का जायजा लिया। वहीं गांव में हत्या के बाद स्थिति को देखते हुए पीएससी की दो कंपनी को तैनात कर दिया गया है।

यह भी पढ़ें: देश में इस अमेरिकी दवा से होगा कोरोना मरीजों का इलाज, जानिए इसके बारे में

क्या है पुलिस अधिकारी का कहना?

इस घटनाक्रम में एसपी अभिषेक सिंह का कहना है कि युवक को पेड़ में बांधकर जिंदा जलाया दिया गया है। हत्या के बाद आक्रोशित ग्रामीणों ने पुलिस की गाड़ियों में आगजनी कर दी और पुलिस पर जमकर पथराव किया है।

अम्बिका ने सोशल मीडिया पर लड़की की फोटो वायरल कर दी थी। जिसके बाद परिजनों ने युवक पर छेड़खानी का मुकदमा दर्ज कराया था। लड़की के परिजनों पर युवक की हत्या का आरोप है। सभी के खिलाफ केस दर्ज कर कार्रवाई की जा रही है।

यह भी पढ़ें: महिला कांस्टेबल की मौत: फांसी से लटककर की आत्महत्या, पुलिस विभाग में हड़कंप

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।