Top

प्रयागराज: अल्पसंख्यक समुदाय के लोग निशुल्क राशन पाकर हुए खुश

उत्तर प्रदेश में प्रधानमंत्री गरीब कल्याण पैकेज के तहत लाभार्थियों को खाद्दान्न वितरण कराया जा रहा है ।लोगों में सरकार की इस योजना को लेकर खासा उत्साह दिखाई पड़ रहा है।

Vidushi Mishra

Vidushi MishraBy Vidushi Mishra

Published on 23 April 2020 11:47 AM GMT

प्रयागराज: अल्पसंख्यक समुदाय के लोग निशुल्क राशन पाकर हुए खुश
X
प्रयागराज: अल्पसंख्यक समुदाय के लोग निशुल्क राशन पाकर हुए खुश
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में प्रधानमंत्री गरीब कल्याण पैकेज के तहत लाभार्थियों को खाद्दान्न वितरण कराया जा रहा है ।लोगों में सरकार की इस योजना को लेकर खासा उत्साह दिखाई पड़ रहा है। लॉकडाउन के दौरान लोगों के सामने रोजी रोटी का संकट उत्पन्न हो गया था। कमजोर तबके के लोगों में खाने पीने तक की समस्या आ गयी थी । एसे में सरकार द्वारा खाद्दान्न वितरण लोगों के लिए एक बड़ी राहत बनकर सामने आया है।

ये भी पढ़ें...कंपनियों के लिए खुशखबरी: केंद्र सरकार ने 6 महीने के लिए दिया तोहफा

भारत सरकार द्वारा प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के तहत भारत सरकार की ओर से 5. 29 करोड़ लाभार्थियों को खाद्दान्न का मुफ्त राशन वितरण किया जा रहा है।

प्रयागराज में अल्पसंख्यक समुदाय के लोग निशुल्कर रुप से राशन मिलने पर काफी खुश है और सरकार के प्रति आभार व्यक्त कर रहे हैं।

शहर के मोहम्मद अशरफ सिद्दीकी, जाहिरा बानू, बिलाल अहमद सभी ने सरकार का शुक्रिया अदा किया और कहा कि इस लॉक डाउन के समय यह अनाज हम लोगों के लिए बहुत फायदेमंद है ।

ये भी पढ़ें...पाकिस्तानी नेता का सेक्स रैकेट: सामने आया ये चौंकाने वाला सच, हो रही जांच

सार्वजनिक वितरण प्रणाली के दुकानदार मुख्तार अहमद ने कहा कि अब तक लगभग साढे नौ सो लोगों को पौने तीन सौ क्विंटल चावल दिया जा चुका है।

उन्होंने कहा कि राशन वितरण के समय कोविड-19 को लेकर सभी दिशा निर्देशों का पालन किया जाता है और लोगों से सामाजिक दूरी बनाये रखने को कहा जाता है।

उन्होंने कहा कि जो लाभार्थी मास्क या गमछा नहीं पहने होते उन्हें तब तक राशन नहीं दिया जाता जब तक वे मास्क या गमछा नहीं पहनकर आते।

ये भी पढ़ें...क्या 5G से कोरोना: आपके भी उड़ जाएँगे होश, जानिए इसमें कितनी है सच्चाई

Vidushi Mishra

Vidushi Mishra

Next Story