×

यदि ये शौक रखते हैं तो हो जाएं सावधान, हो सकते हैं लूट का शिकार  

सेक्टर-6 में प्रेस कांन्फ्रेस के दौरान एसपी सिटी ने बताया कि ग्रेटर नोएडा वेस्ट निवासी एक व्यक्ति ने 5 सितंबर को कोतवाली फेस दो में लूटपाट का मुकदमा दर्ज कराया था। वह फेस दो स्थित एक कंपनी में मैनेजर पद पर तैनात है। पीड़ित का आरोप था कि 4 सितंबर की शाम करीब सात बजे लिफ्ट देकर बदमाशों ने 12500 रुपये व मोबाइल लूटकर फरार हो गये।

SK Gautam

SK GautamBy SK Gautam

Published on 15 Sep 2019 2:59 PM GMT

यदि ये शौक रखते हैं तो हो जाएं सावधान, हो सकते हैं लूट का शिकार  
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

नोएडा: फेस-2 पुलिस ने रविवार को समलैंगिंक संबंध बनाने का झांसा देकर लूटपाट करने वाले एक गिरोह के सदस्यों को गिरफ्तार किया है। आरोप है कि ग्लाइंडर नामक मोबाइल एप पर पंजीकृत समलैंगिक लोगों को अपनी जाल में फंसाता था और संबंध बनाने के बदले उससे पैसा लेता था। आरोपित पैसे नहीं मिलने पर उसे सेंसर युक्त टार्च से इलेक्ट्रिक शॉक देकर लूटपाट करते थे।

आरोपितों ने चार सितंबर को कोतवाली फेस दो क्षेत्र में इसी तरह एक नामी कंपनी के स्टोर मैनेजर को समलैंगिक संबंध बनाने का झांसा देकर बुलाया और पैसे नहीं देने पर लूटपाट की। पुलिस ने गिरोह के सरगना समेत तीन लोगों को गिरफ्तार किया है। जिनके पास से एक कार, इलेक्ट्रक टार्च बरामद हुए है। कोर्ट में पेश कर तीनों को न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया।

ये भी देखें : गजब लाटरी लगी, मिल गई 295 करोड़ की हाथ से निकली जमीन

पैसा नहीं देने पर इलेक्ट्रानिक टार्च से देते थे करंट

सेक्टर-6 में प्रेस कांन्फ्रेस के दौरान एसपी सिटी ने बताया कि ग्रेटर नोएडा वेस्ट निवासी एक व्यक्ति ने 5 सितंबर को कोतवाली फेस दो में लूटपाट का मुकदमा दर्ज कराया था। वह फेस दो स्थित एक कंपनी में मैनेजर पद पर तैनात है। पीड़ित का आरोप था कि 4 सितंबर की शाम करीब सात बजे लिफ्ट देकर बदमाशों ने 12500 रुपये व मोबाइल लूटकर फरार हो गये। विरोध करने पर मारपीट की और उसे टार्च से इलेक्ट्रिक शॉक भी दिए। फेस -दो ने रविवार सुबह मुख्य आरोपित विशाल, शहजाद व राहुल को गिरफ्तार कर लिया।

ये भी देखें : बुर्का पहनकर प्रेमिका से मिलने पहुंचा प्रेमी, संदिग्ध समझकर पुलिस को सौंपा

विशाल गुलावठी बुलंदशहर और राहुल व शहजाद परतापुर, मेरठ के रहने वाले हैं। एसपी सिटी ने बताया कि इस गिरोह के एक सदस्य अंकुर फरार है। जिसे पुलिस तलाश कर रही है। उन्होंने बताया कि तीनों से पूछताछ के बाद मामला समलैंगिक का झांसा देकर लूटपाट का पाया गया है।

ग्लाइंडर मोबाइल एप के जरिए ढूढंते थे शिकार

एसपी सिटी विनीत जायसवाल बताया कि सरगना विशाल की ग्लाइंडर एप पर पांच माह पहले पीड़ित से पहचान हुई थी। उस दौरान दोनों ने सहमति से संबंध बनाए थे। इसके बदले पीड़ित ने विशाल को पैसे के साथ दावत भी दी थी। विशाल के दोस्त शहजाद, राहुल व अंकुर भी समलैंगिक हैं। विशाल से तीनों ने किसी से समलैंगिक संबंध बनाने की इच्छा जताई। तब विशाल ने पीड़ित के बारे में बताया था कि वह संबंध भी बनाएगा और बदले में पैसे व दावत भी देगा। चारों ने योजना के तहत पीड़ित से ग्लाइंडर एप पर संपर्क किया।

ये भी देखें : पाकिस्तान में गधों का मेला, ऐसे खुलेआम बिक रहे एके-47 और रॉकेट लॉन्‍चर

चार सितंबर की शाम सभी सैमसंग कंपनी के पास मिले। आरोपितों ने पीड़ित को अपनी सेंट्रो कार में बैठा लिया और उससे पैसे मांगने लगे। पैसे नहीं देने पर सेंसर युक्त टार्च से इलेक्ट्रिक शॉक दिए और डेबिट कार्ड लेकर पैसे निकालने के बाद फरार हो गए।

Attachments area

SK Gautam

SK Gautam

Next Story