अभी-अभी समाजवादी पार्टी के इस दिग्गज नेता और उनके बेटे की गोली मारकर हत्या

उत्तर प्रदेश  में संभल जिले के बहजोई थाना इलाके के शमशोई गांव में मंगलवार को सुबह समाजवादी पार्टी (एसपी) के नेता और उनके के बेटे की गोली मारकर हत्या कर दी गई। हत्या के पीछे आपसी रंजिश का मामला बताया जा रहा है। डबल मर्डर से पूरे इलाके में हड़कंप मच गया है।

Published by Aditya Mishra Published: May 19, 2020 | 3:34 pm
Modified: May 19, 2020 | 4:23 pm

संभल: उत्तर प्रदेश  में संभल जिले के बहजोई थाना इलाके के शमशोई गांव में मंगलवार को सुबह समाजवादी पार्टी (एसपी) के नेता और उनके के बेटे की गोली मारकर हत्या कर दी गई। हत्या के पीछे आपसी रंजिश का मामला बताया जा रहा है। डबल मर्डर से पूरे इलाके में हड़कंप मच गया है।

घटना की सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। पुलिस मामले की जांच में जुट गई है। आरोपी अभी पुलिस की पकड़ से दूर हैं।

इस दिग्गज नेता और उनके बेटे की गोली मारकर हत्या

इस दिग्गज नेता और उनके बेटे की गोली मारकर हत्या

Newstrack ಅವರಿಂದ ಈ ದಿನದಂದು ಪೋಸ್ಟ್ ಮಾಡಲಾಗಿದೆ ಮಂಗಳವಾರ, ಮೇ 19, 2020

एसपी के मुताबिक बताया संभल के बहजोई इलाके में में मंगलवार को एसपी नेता छोटे लाल दिवाकर (50) और उनके बेटे की गोली मार दी गई। मनरेगा के तहत सड़क बन रही थी इसी बात को लेकर कुछ विवाद हुआ था।

जिसके बाद छोटे लाल दिवाकर और सविंदर के बीच नोक-झोंक हो गई,  कहासुनी के बीच गोलियां चलीं जिसमें छोटे लाल दिवाकर (50) और उनके बेटे सुनील कुमार (28) की मौत हो गई।

RPF चौकी प्रभारी की गोली मारकर हत्या, शहर में फैली दहशत

कांग्रेस बोली- लाइव कैमरे पर हो रहा है मर्डर

यूपी कांग्रेस ने मामले पर योगी सरकार पर निशाना साधा। यूपी कांग्रेस ने ट्वीट किया, ‘जब यूपी में सीएम खुद नकली फोटोशॉप बैठ के बनवा रहे हैं, उस समय यूपी की कानून व्यवस्था का हाल देखिए। लाइव कैमरा पर मर्डर हो रहे हैं यूपी में। जंगलराज बना दिया है योगी जी ने।’

एसपी बोली- हत्यारी सरकार

वहीं समाजवादी पार्टी ने यूपी सरकार को हत्यारी सरकार बताते हुए कहा, हत्यारी सरकार! बीजेपी के सत्ता संरक्षित गुंडे कर रहे जनता की आवाज उठाने वालों पर प्रहार। संभल के दलित नेता और चंदौसी से पूर्व सपा विधानसभा प्रत्याशी छोटे लाल दिवाकर समेत उनके पुत्र की हत्या दुखद। परिजनों के प्रति संवेदना। हत्यारों को गिरफ्तार कर हो न्याय।’

8 लाख हत्याएं: कत्लों के खेल का हुआ पर्दाफाश, कारनामे सुन रोंगटे खड़े हो जाएँगे

पुलिस ने आरोपियों को पकड़ने के लिए बनाई 3 टीमें

पूर्व सांसद धर्मेंद्र यादव ने घटना पर दुख व्यक्त किया है। उन्होंने कहा, ‘छोटे लाल दिवाकर हमारी पार्टी के कर्मठ नेता थे, उन्हें पार्टी ने 2017 में चंदौसी विधानसभा से टिकट दिया था लेकिन यह सीट गठबंधन में चली गई थी।’ उन्होंने बताया कि इस संबंध में कुछ लोगों को हिरासत में लिया गया है और आरोपियों को पकड़ने के लिए तीन टीम बनाई गई हैं।

एसपी कार्यकर्ताओं की हत्या कराए जाने का आरोप

उन्होंने प्रदेश की बीजेपी सरकार पर संवेदनहीन होने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा,‘संभल में हमारे नेता की हत्या से यह बात साफ है की पुलिस अपराधियों को संरक्षण दे रही है और प्रदेश में विपक्षी पार्टी के लोगों ख़ासकर एसपी कार्यकर्ताओं की खुले आम हत्याएं की जा रही हैं।’

मजदूरों की मौत पर पर अखिलेश ने जताया दुख, कहा- ऐसे हादसे मृत्यु नहीं हत्या हैं