जमात के लोगों ने पार की सारी हदें, अस्पताल में घूम रहे नंगे, कर रहे ऐसी हरकतें

देशभर में कोरोना के मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है। डॉक्टर और नर्स के साथ तमाम स्वास्थकर्मी कोरोना मरीजों की जान बचा रहे हैं। तो वहीं तबलीगी जमात के कोरोना संदिग्ध जाहलिपने पर उतर आए हैं।

गाजियाबाद: देशभर में कोरोना के मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है। डॉक्टर और नर्स के साथ तमाम स्वास्थकर्मी कोरोना मरीजों की जान बचा रहे हैं। तो वहीं तबलीगी जमात के कोरोना संदिग्ध जाहलिपने पर उतर आए हैं। गाजियाबाद के एमएमजी में भर्ती जमाती लगातार अस्पताल स्टाफ के साथ दुर्व्यवहार कर रहे हैं। इतना ही नहीं, ये लोग नर्सों के सामने ही कपड़े बदलने के लिए कपड़े खोल देते हैं। कपड़ा उतारकर नंगे घूमते हैं और अश्लील गाना सुनते और गाते हैं। इतना ही नहीं नर्सों के साथ अश्लील हरकत भी कर रहे हैं।

मिली जानकारी के मुताबिक क्वारंटाइन सेंटर में ये लोग मेडिकल स्टाफ और डॉक्टरों के साथ बदसलूकी कर रहे हैं। डॉक्टरों के ऊपर थूक रहे हैं। इसके बाद दिल्ली सरकार ने दिल्ली पुलिस कमिश्नर को चिट्ठी लिखकर अस्पतालों और आइसोलेशन सेंटर्स में पुलिस को पुख्ता बंदोबस्त करने को कहा है। चिट्ठी में साफ कहा गया है कि मरकज से लाए गए लोगों को संभालना मुश्किल हो रहा है।

यह भी पढ़ें…महामारी में गरीबों के हक पर डाका, अफसर जानकर भी अनजान

गाजियाबाद के अस्पताल में भी जमात में शामिल कुछ लोगों को आइसोलेशन वार्ड में रखा गया है, लेकिन उनकी हरकतें सामान्य नहीं बताई जा रही हैं। शिकायत के आधार पर उन सभी के खिलाफ केस दर्ज कर लिया गया है।

गाजियाबाद में जिला सरकारी अस्पताल के सीएमएस ने घंटाघर कोतवाली में इस बारे में सूचना दी है। एमएमजी अस्पताल के अस्पताल के मुख्य चिकित्सा अधीक्षक ने पत्र लिखकर शिकायत की है कि आइसोलेशन वार्ड में रखे गए कोरोना वायरस के संभावित मरीज जो तबलीगी जमात से ताल्लुक रखते हैं वो वार्ड में बिना कपड़ों के घूमते रहते हैं।

यह भी पढ़ें…लॉकडाउन: सोनिया के बयान पर BJP का पलटवार, घटिया राजनीति कर रही कांग्रेस

एमएमजी अस्पताल में बनाए गए आइसोलेशन वार्ड में रोके गए लोगों द्वारा अश्लील हरकतें करने, सहयोग ना करने आदि के संबंध में मुकदमा पंजीकृत करने हेतु थानाध्यक्ष को शिकायत दी गई थी। उसी क्रम में थाना कोतवाली गाजियाबाद में अपराध संख्या 288/20 आईपीसी की धारा 354, 294, 509, 269, 270 और 271 के अंतर्गत पंजीकृत किया गया है।

इसके अलावा पत्र में यह भी लिखा गया है कि जमाती मरीज स्टाफ नर्स के सामने अश्लील गाने सुनते हैं और गंदे-गंदे इशारे करते रहते हैं। इतना ही नहीं डॉक्टरों और नर्सों से वो लोग बीड़ी और सिगरेट की मांग भी कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें…कोरोना वायरस: नौ महीने की गर्भवती डॉक्टर हुई संक्रमित, पति भी पॉजिटिव

दरअसल, बताया जा रहा है कि आइसोलेशन में रखे गए उन जमाती मरीजों की शिकायत अस्पताल की कुछ नर्सों ने जिला अस्पताल के सीएमएस से की थी जिसके बाद उन्होंने पुलिस को इसकी शिकायत दी है।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App