तब्लीगी जमात का नेटवर्क यूपी के कोने कोने में, अलर्ट पर सरकार

दिल्ली के निजामुद्दीन मरकज में आयोजित हुए तब्लीगी जमात में उन्नाव जिले की नगर पंचायत कुरसठ के रहने वाले दो मौलवी भी शामिल हुए थे।

उन्नाव:  दिल्ली के हजरत निजामुद्दीन मरकज में जुटे तबलीगी जमात में शामिल हुए सैकड़ों लोगों को लेकर पूरे देश में कोरोना वायरस के संक्रमण में तेजी आने का बड़ा खतरा मंडराने लगा है। जमात में शामिल कई लोगों को निकालकर अस्पतालों में भर्ती कराया गया है। जमात के 24 लोगों में कोरोना वायरस से संक्रमण की पुष्टि हो चुकी है। अब इसी लिस्ट में यूपी के उन्नाव के भी दो मौलवियों के शामिल होने की खबर सामने आई है।

उन्नाव के दो मौलवी भी थे शामिल

ये भी पढ़ें-  निकल गया शुभ मुहूर्त: बहन की शादी हुई कैंसिल, दुबई से लौटा था भाई

दिल्ली के निजामुद्दीन मरकज में आयोजित हुए तब्लीगी जमात में उन्नाव जिले की नगर पंचायत कुरसठ के रहने वाले दो मौलवी भी शामिल हुए थे। उत्तर प्रदेश शासन द्वारा जारी अलर्ट के बाद उन्नाव जिला प्रशासन हरकत में आया, जिसके बाद उन्नाव के स्वास्थ्य विभाग ने उनकी पहचान की। दोनों मौलवी 7 मार्च को ही दिल्ली से वापस आने का दावा कर रहे हैं। वहीं जिले की स्वास्थ्य विभाग की मेडिकल टीम ने उन्हें अपनी निगरानी में ले लिया है। मौलवियों का सैंपल लेकर जांच के लिए लखनऊ भेजा गया है।

जिला प्रशासन को किया एलर्ट

आपको बता दें कि मरकज से जुड़े कई लोगों में कोरोना वायरस की पुष्टि और कई लोगों की मौत के बाद शासन ने स्वास्थ्य विभाग और जिला प्रशासन को अलर्ट कर दिया गया था। जिसके बाद स्वास्थ्य विभाग और खुफिया विभाग को लोगों को खोजने की जिम्मेदारी दी गयी थी।

ये भी पढ़ें-  यहां बुरी तरह बढ़ रहे मरीजों के आंकड़ें, एक सरकारी डॉक्टर भी कोरोना से संक्रमित

ये टीमें ऐसे लोगों की जानकारी जुटा रही थीं, जो जिले से मरकज में शामिल होने गए हों। मंगलवार देर शाम 2 मौलवियों की पहचान हुई। पता चला कि ये मरकज में शामिल हुए थे, इसके बाद जिला प्रशासन में हड़कम्प मच गया।

मौलवियों को किया गया आइसोलेट

दोनों की पहचान होते ही देर शाम जिला मुख्यालय से डॉ पुनीत तिवारी के नेतृत्व में मेडिकल टीम को नगर पंचायत कुरसठ भेजा गया। जिसके बाद एम्बुलेंस से दोनो मौलवियों को जिला अस्पताल लाया गया। वहीं दोनों मौलवियों का ब्लड सैम्पल लेकर लखनऊ भेजा गया है। एहतियात के तौर पर दोनों मौलवियों को आइसोलेट करवाया गया है।

ये भी पढ़ें-  कोरोना ने खोली तमाम पतियों की पोल, कई घरों में शुरू हो गई महाभारत

हालांकि सीएमओ डॉ आशुतोष ने बताया कि दोनों मौलवियों ने 7 मार्च को ट्रेन के जरिये उन्नाव वापस आने की बात कही है। शुरुआती जांच में दोनों का स्वास्थ्य ठीक है एहतियातन उन्हें आइसोलेट कराया गया है।

यूपी के 11 जिले लिस्टेड

ज्ञात हो कि तबलीगी जमात में लगभग 2000 लोगों के शामिल होने की खबर है। जिसमें भारी संख्या में विदेशियों के भी शामिल होने की बात सामने आ रही है। प्रशासन द्वारा देश के 17 राज्य छांटे गए हैं जिनमें जमात में शामिल हुए लोग मौजूद हैं।

ये भी पढ़ें- Alert: कोरोना के बाद विश्व बैंक ने दुनिया भर के देशों को इस बात के लिए किया आगाह

इस लिस्ट में उत्तर प्रदेश के 11 जिले ऐसे लिस्टेड किए गए हैं जिनमें जमात में शामिल हुए लोग मौजूद हैं। अब ऐसे में ये देखना है की पुलिस और प्रशासन कैसे उन लोगों को ढूँढ निकालता है। जो एक तरह से देश में मानव कोरोना बम बने फिर रहे हैं।