×

यूपी के स्कूलों पर बड़ा एलान: बेसिक शिक्षा ने किया ये फैसला, अब ऐसे होगी पढ़ाई

बेसिक शिक्षा मंत्री डॉ सतीश द्विवेदी ने प्रदेश के 1000 अंग्रेजी माध्यम स्कूलों में चित्रों के माध्यम से पढ़ाई शुरू करने का एलान किया है।

Newstrack
Published on: 26 Aug 2020 3:34 PM GMT
यूपी के स्कूलों पर बड़ा एलान: बेसिक शिक्षा ने किया ये फैसला, अब ऐसे होगी पढ़ाई
X
यूपी के स्कूलों पर बड़ा एलान: बेसिक शिक्षा ने किया ये फैसला, अब ऐसे होगी पढ़ाई
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

लखनऊ: बेसिक शिक्षा मंत्री डॉ सतीश द्विवेदी ने प्रदेश के 1000 अंग्रेजी माध्यम स्कूलों में चित्रों के माध्यम से पढ़ाई शुरू करने का एलान किया है। उन्होंने कहा कि प्रयोग सफल होने के बाद से प्रदेश के सभी अंग्रेजी माध्यम विद्यालयों में लागू किया जाएगा।

ये भी पढ़ें: रिया देती थीं सुशांत को ड्रग्स! नारकोटिक्स ब्यूरो ने किया केस दर्ज, फंसे ये सब…

बेसिक शिक्षा राज्यमंत्री डॉ सतीश चंद्र द्विवेदी ने कही ये बात

बेसिक शिक्षा राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार डॉ सतीश चंद्र द्विवेदी ने बुधवार को निशातगंज में स्थित राज्य शैक्षिक तकनीकी संस्थान के सभागार में अध्यापकों के अनुभव पर आधारित पुस्तक "उम्मीद के रंग" और अंग्रेजी माध्यम शिक्षा में सहायक शिक्षण सामग्री शॉर्ट रीड का लोकार्पण किया। उन्होंने बताया कि एचसीएल की ओर से तैयार कराई गई चित्र आधारित शिक्षण सामग्री शॉर्ट रीड का इस्तेमाल स्कूल खुलने के बाद प्रदेश के 1000 अंग्रेजी माध्यम के विद्यालयों में किया जाएगा।

ऐसे होगा लागू

यह प्रयोग सफल रहने पर प्रदेश के सभी 15000 अंग्रेजी माध्यम विद्यालयों में शार्ट रीड शिक्षण सामग्री का प्रयोग लागू किया जाएगा। उन्होंने कहा कि कोरोना की वजह से स्कूलों को खोलने पर कोई विचार नहीं किया गया है, लेकिन विभाग ने अपनी तैयारी पूरी कर रखी है। बुधवार को आयोजित कार्यक्रम के बारे में उन्होंने बताया कि प्रदेश के विभिन्न विद्यालयों में अध्यापकों ने अनेक नवाचार के माध्यम से छात्र छात्राओं को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्रदान की है।

ऐसे शिक्षकों का अनुभव अधिकतम लोगों तक पहुंच सके इसलिए अनुभव पर आधारित पुस्तक उम्मीद के रंग तैयार की गई है। हमारी कोशिश शिक्षकों के अनुभव को ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुंचाने की है। यह पुस्तक है ऐसे शिक्षकों के लिए सहायक होगी, जो बेहतरीन कार्य करने की इच्छा रखते हैं अपनी दिशा से करने के लिए अच्छे विचार और माध्यम की तलाश में हैं।

ये भी पढ़ें: मूसलाधार बारिश का रेड अलर्ट जारी, इन राज्यों में कई दिनों तक जमकर होगी बरसात

उन्होंने कहा कि शिक्षा की प्रक्रिया से गुजरा हर एक इंसान जानता है कि शिक्षा के क्षेत्र में शिक्षक की भूमिका महत्वपूर्ण होती है शिक्षार्थी में सोचने विचारने की क्षमता दुनिया के प्रति वैज्ञानिक नजरिया कुछ अच्छी आदतें और नए रुचियूम रुझान विकसित करने तथा मूल्यों के विकास में इसे महसूस किया जा सकता है। बेसिक शिक्षा निदेशक डॉ अरविंद विक्रम बहादुर सिंह ने इस मौके पर शिक्षा मंत्री को बताया कि उम्मीद के रंग पुस्तक का प्रकाशन टाटा ट्रस्ट के सहयोग से किया जा रहा है और चित्रों पर आधारित शिक्षण सामग्री को एचपीएल कंपनी की मदद से तैयार कराया गया है। इस मौके पर राज्य शैक्षिक तकनीकी संस्थान की निदेशक ललिता प्रदीप और अन्य अधिकारी मौजूद रहे।

रिपोर्ट: अखिलेश तिवारी

ये भी पढ़ें: भारत का होगा सामना: पाकिस्तान-चीन को टक्कर देगी हमारी सेना, अद्भुत होगा दृश्य

Newstrack

Newstrack

Next Story