राज्यमंत्री ने प्रवासियों को बांटी राहत सामग्री, दिया ये बड़ा बयान

केवल AC कमरे में बैठकर के ट्विटर से ट्वीट करके तथा मीडिया के सामने चैनलों पर बैठकर के श्रमिकों की पीड़ा को नहीं समझा जा सकता।

मेरठ: एनएच पर ग्रांड फाइव स्तिथ प्रवासी श्रमिकों के कैंप में 42 डिग्री तापमान व तपती धूप में पहुंचकर उत्तरप्रदेश श्रम कल्याण परिषद के अध्यक्ष व दर्जा प्राप्त राज्यमंत्री सुनील भराला श्रमिकों के बीच पहुंचे और विभिन्न जनपदों में 16 बसों में बैठे प्रवासी श्रमिकों को भोजन के पैकेट पानी की बोतल तथा बिस्कुट के पैकेट दे कर के रवाना किया। जिसमें सीतापुर, शाहजहांपुर ,बरेली , मिर्जापुर आदि जनपदों के प्रवासी श्रमिक अपने घरों के लिए खुशी के साथ गए। साथ में मेरठ के एडीएम एफ सुभाष चंद्र प्रजापति तथा रोडवेज विभाग के डीआरएम ,चिकित्सक सभी को कड़ी मेहनत से कार्य कर रहे हैं उनको बंधाई दी।

AC कमरे में बैठ कर ट्वीट करके नहीं समझा जा सकता श्रमिकों का दर्द- भराला

राज्यमंत्री ने श्रमिकों को जागरूक करते हुए बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उत्तर प्रदेश सरकार के द्वारा समूचे उत्तर प्रदेश में प्रवासी श्रमिको के लिए व्यवस्था बनाई है। उनके लिए भोजन, पानी ,बिस्कुट के पैकेट कच्चा राशन ,चप्पले तथा रेलगाड़ियों में जाने वाले श्रमिकों को ट्रेन में व्यवस्थित तरीके से बैठाना और साथ में उनको भी भोजन इत्यादि की व्यवस्था करके रवाना कर रहे हैं। दर्जाप्राप्त राज्यमंत्री सुनील भराला ने NewsTrack से Exclusive बात करते हुए श्रमिकों को गुमराह करने वाले विपक्षी दलों पर हमला बोलते हुए कहा

ये भी पढ़ें-    यहां कुएं के अंदर मिले 9 शव, इलाके में मची सनसनी, कई लोग हिरासत में

कि जिनको शंका है वह सड़क पर आकर के श्रमिकों के बीच में 42 डिग्री तापमान के बीच में आकर देखें उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री की व्यवस्था कैसी है। केवल AC कमरे में बैठकर के ट्विटर से ट्वीट करके तथा मीडिया के सामने चैनलों पर बैठकर के श्रमिकों की पीड़ा को नहीं समझा जा सकता।

देखें ये Video… 

तपती धूप में प्रवासी श्रमिको के बीच राहत सामग्री लेकर पहुचे दर्जाप्राप्त राज्यमंत्री सुनील भराला

Newstrack ಅವರಿಂದ ಈ ದಿನದಂದು ಪೋಸ್ಟ್ ಮಾಡಲಾಗಿದೆ ಶನಿವಾರ, ಮೇ 23, 2020

श्रमिकों के दर्द को उनके बीच में जाकर के उनके खुशबूदार पसीने को निकलता देख कर के समझा जाता है और कुछ तथाकथित नेता राजनीति कर रहे श्रमिकों पर बसों पर ऐसे नेताओं को पूर्व में चुनाव में जनता ने सबक सिखाया था आने वाले चुनाव में भी उनका यही हश्र होगा।

ये वक्त राजनीति का नहीं सेवा का है- सुनील भराला

राज्यमंत्री भराला ने बातचीत के दौरान आगे बताया हम लोग कागज पर , AC कमरे में बैठकर के राजनीति नहीं करते। सेवा की दृष्टि से गरीबों की जरूरतमंद परिवार श्रमिकों की सेवा में विश्वास करते हैं। आज यह वक्त राजनीति का नहीं है यह सेवा का समय है और यह समय नहीं है पूरा वर्ष 2020 महादेव जी ने सेवा के लिए चुना है। इसमें कोई भी व्यक्ति नफे नुकसान की बात ना करें।

ये भी पढ़ें-   तबाह हुआ ये देश: नहीं मिल रही दफनाने की जगह,मारी-मारी फिर रही लाशें

ये भी पढ़ें-    राशन कार्ड भी मानकों की आड़ में हुए लाकः कैसे जलेंगे मजलूमों के चूल्हे !

उसमें सेवा की बात करें जैसे भारत के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी ने बंगाल में जा कर के अपने चार्टर प्लेन में ममता बनर्जी को साथ लेकर के बता दिया है कि आज राजनीति का विषय नहीं है आज विषय सेवा का है। तो यह प्रेरणा प्रधानमंत्री जी की प्रेरणा लेकर के सभी राजनीतिक दलों को इस प्रकार से काम करना चाहिए और राजनीति छोड़कर के सेवा के लिए सबको कंधे से कंधा मिलाकर के साथ झुकना चाहिए।

सादिक़ खान