यूपी दिवस: 70 साल का हुआ प्रदेश, इतना बड़ा कि अकेले बन जाए दुनिया का ‘छठा देश’

भारत के सबसे बड़े राज्य का दर्जा प्राप्त उत्तर प्रदेश आज 70 साल का हो गया है। 24 जनवरी का दिन इतिहास में यूपी दिवस के तौर पर जाना जाता है।

Published by Shivani Awasthi Published: January 24, 2020 | 12:31 pm
Modified: January 24, 2020 | 12:36 pm

Uttar Pradesh Foundation Day

लखनऊ: भारत के सबसे बड़े राज्य का दर्जा प्राप्त उत्तर प्रदेश आज 70 साल का हो (Uttar Pradesh Foundation Day) गया है। आज का दिन इतिहास में यूपी दिवस के तौर पर जाना जाता है। बता दें कि 24 जनवरी 1950 को ही उत्तर प्रदेश अस्तित्व में आया था। इससे पहले ब्रतानिया हुकूमत में इसका नाम अवध प्रान्त था।

यूपी दिवस के मौके पर 3 दिवसीय समारोह का आगाज:

प्रदेश की राजधानी लखनऊ स्थित अवध शिल्प ग्राम में 3 दिन का समारोह आयोजित किया गया है। जिसकी शुरुआत आज से होगी। राज्यपाल आनंदी बेन पटेल और सीएम योगी आज इसका उद्घाटन करेंगे। तीन दिनों तक राजधानी में सितारों का जमावड़ा लगेगा। इसके तहत शुक्रवार को मशहूर कॉमेडियन राजू श्रीवास्तव लोगों का मनोरंजन करेंगे, वहीं शाम को अवधि गायिका वंदना मिश्र अपनी गायकी से समां बांधेंगी।

ये भी पढ़ें: क्या- क्या होगा यूपी महोत्सव में, आईए जानें यहां…

यूपी दिवस समारोह का दूसरा दिन  यानी 25 जनवरी महात्मा गांधी की 150वीं जयंती को समर्पित रहेगा। इस दिन योगी सरकार अलग-अलग विभागों की योजनाओं का लोकार्पण करेगी। शाम को साढ़े पांच से साढ़े छह बजे तक पंडित रविशंकर म्यूजिकल फाउंडेशन का कार्यक्रम आयोजित किया जायेगा। 26 जनवरी की शाम को कार्यक्रम का समापन हो जायेगा।

राज्य का इतिहास:

माना जाता है कि 2000 ईसापूर्व में जब आर्य यहां आए तब से इस राज्य में हिन्दू संस्कृति की नींव पड़ी। वहीं 400 ईसापूर्व के काल से नंद और मौर्य वंश के बाद शुंग, कुषाण, गुप्त, पाल, राष्ट्रकूट फिर मुगलों ने यहां राज्य किया और साम्राज्य को मजबूत किया। ये ऐसा ऐसा राज्य है जो केल्व हिंदू नहीं बल्कि बौद्ध और इस्लाम धर्म का भी आशियाना है।

ये भी पढ़ें:निर्भया के दोषियों ने सजा से बचने का बनाया एक और प्लान, ऐसे टल सकती है फांसी

24 जनवरी को क्यों मनाया जाता है यूपी दिवस:

दरअसल, 24 जनवरी को यूपी दिवस मनाये जाने के पीछे की अपनी ही वजह है। साल 1950 से पहले यह राज्य यूनाइटेड प्रॉविंग के नाम से पहचाना जाता था। 24 जनवरी 1950 को उत्तर प्रदेश को उसका नाम मिला। यह 1 अप्रैल 1937 को ब्रिटिश शासन के दौरान इसे संयुक्त प्रांत आगरा और अवध के रूप में स्थापित किया गया था। ब्रिटिश शासनकाल में इसे यूनाइटेड प्रॉविंस कहा जाता था जो कि 24 जनवरी 1950 में बदलकर उत्तर प्रदेश किया गया।

क्या- क्या होगा यूपी महोत्सव में आईए जानें यहां

भारत का सबसे बड़ा राज्य

उत्तर प्रदेश जनसंख्या के आधार पर सबसे बड़ा राज्य है। इस राज्य की जनसंख्या लगभग 22 करोड़ है। इसकी आबादी इतनी ज्यादा है कि पड़ोसी देश पाकिस्तान भी इसके सामने छोटा पड़ जाए। इतना ही नहीं अगर यूपी को एक अलग देश के तौर पर देखें तो आबादी के लिहाज से यह चीन, भारत, अमेरिका, इंडोनेशिया और ब्राजील के बाद छठे नम्बर का सबसे बड़ा देश होता।

पर्यटन के लिहाज से बेहतरीन:

यूपी पर्यटन के लिहाज से भी शानदार है। यहां कई धार्मिक और एतिहासिक स्थल हैं। दुनिया के सात अजूबों में से एक ताजमहल यूपी में ही है। इसके अलावा वाराणसी, अयोध्या, मथुरा-वृन्दावन, नैमिषारण्य, प्रयाग, चित्रकूट और देवा शरीफ जैसे धार्मिक स्थल भी है।

सबसे ज्यादा जिलों वाला प्रदेश:

यहां भारत के अन्य राज्यों की  तुलना में सबसे ज्यादा जिले हैं। यूपी में कुल 75 जिले हैं। वहीं इसके बाद मध्य प्रदेश में 52 जिलें हैं। इसके अलावा यूपी को 18 मंडलों में बांटा गया है।

ये भी पढ़ें:अब JIO को पछाडेगी ये कंपनी, 1 रुपये में देगी एक GB डाटा